गोरखपुर पुलिस को बड़ी कामयाबी हाथ लगी है. स्वॉट टीम और एसओजी टीम ने मिलकर कुशीनगर के दो शातिर पशु तस्करों को कैंट एरिया के पैडलेगंज से अरेस्ट कर लिया. दोनों के ऊपर पहले से 25-25 हजार रुपए का इनाम था.


गोरखपुर (ब्यूरो)। पुलिस ने तस्करों के पास से तीन किलो गांजा और एक चोरी की स्कूटी भी बरामद की है। दोनों के खिलाफ पुलिस केस दर्ज कर कार्रवाई कर रही है। वहीं, एसएसपी डॉ। विपिन ताडा ने अरेस्ट करने वाली टीम को 25 हजार रुपए इनाम भी दिया है।सगे भाई हैं तस्करतस्करों ने पुलिस के सामने पशु तस्करी और अपनी क्रूरता को लेकर कई चौकाने वाले खुलासे किए हैं। पकड़े गए तस्करों की पहचान तौसीफ आलम पुत्र गुलाम वारिस शेख और आसिफ शेख पुत्र गुलाम वारिस शेख के रुप में हुई। दोनों तस्कर सगे भाई हैं और कुशीनगर जिले के सेमरा हरदों कुटकुईया, थाना कुबेरस्थान के रहने वाले हैं।चोरी की स्कूटी और गांजा बरामद


गोरखपुर में लगातार बढ़ रहे पशु तस्करों के आतंक को देखते हुए एसएसपी ने इसपर अंकुश लगाने के लिए स्वॉट टीम और एसओजी टीम को जिम्मेदारी दी थी। एसओजी प्रभारी मनीष यादव और स्वॉट टीम प्रभारी प्रदीप शर्मा की टीम ने इंस्पेक्टर कैंट शशि भूषण राय की मदद से मुखबिर की सूचना पर पैडलेगंज के पास से दोनों तस्करों को दबोच लिया। दोनों के पास से एक चोरी की स्कूटी भी मिली। जिसकी डिग्गी में तीन किलो गांजा भी बरामद हुआ।शहर में उठाते आवारा गाय और सांड

पूछताछ के दौरान तस्करों ने पुलिस को बताया कि वे दोनों भाई अपने साथी मोनू और अन्य लोगों के साथ मिलकर गोरखपुर के सड़कों पर घूमने वाले अवारा साड़ और गायों को चुराते हैं। जिसे रात में पिकअप पर लोड कर फिर बिहार में बेच देते हैं। दोनों ने बताया कि वे पशु को उठाने के दौरान पुलिस से बचने के लिए अपने पिकअप में पत्थर रखे रहते हैं। ताकि खतरा होने पर पुलिस पर हमला किया जा सके। पुलिस पर पत्थर फेंक भाग गए थे तस्करदोनों ने पुलिस के सामने कबूल किया कि उन्होंने 19 मई को चिलुआताल एरिया से और 17 अप्रैल को गोरखपुर विश्वविद्यालय चौराहा से गाय चोरी की थी। इसके अलावा 20-21 मई की रात जब यह लोग तिवारीपुर इलाके में गायों की चोरी कर रहे थे तो थाना प्रभारी की जीप से पुलिस वालों ने हम लोगों का पीछा करने लगे। जिसपर तस्करों ने उनपर पत्थरों से हमला कर दिया और फिर फरार हो गए। बिहार में जानवरों की मिलती अच्छी कीमत

तौसीफ आलम ने बताया कि उसने ही अपने साथियों संग मिलकर बीते 3 जनवरी की रात गुलरिहा एरिया के सरैया में पीआरवी और पुलिस की गाड़ी को तोड़ा था। साथ ही पशु चोरी भी की थी। इतना ही नहीं, साल 2020 में भी इन्हीं तस्करों ने चिलुआताल, खोराबार, पिपराईच, गुलरिहा, रामगढ़ताल क्षेत्रों से कई गायों की चोरी की। इन गायों को बिहार में बेचकर तस्कर अच्छी कीमत वसूल करते हैं। पकड़े गए तस्कर तौसीफ आलम के उपर गोरखपुर में सात केस पहले से दर्ज हैं। जबकि आसिफ शेख के उपर दो केस दर्ज हैं। दोनों की पुलिस को काफी दिनों से तलाश थी। इनकी गिरफ्तारी के लिए 25 हजार रुपए का इनाम भी रखा गया था।- डॉ। विपिन ताडा, एसएसपी

Posted By: Inextlive