दीन-ए-इस्लाम की पहली तालीम इल्म हासिल करना है : मौलाना मसऊद

Updated Date: Thu, 25 Feb 2021 06:38 AM (IST)

- हजरत ख्वाजा मोईनुद्दीन चिश्ती अजमेरी (ख्वाजा गरीब नवाज) की याद में हुई पैगामे गरीब नवाज कॉन्फ्रेंस

हजरत ख्वाजा मोईनुद्दीन चिश्ती अजमेरी (ख्वाजा गरीब नवाज) की याद में हुई पैगामे गरीब नवाज कॉन्फ्रेंस

GORAKHPUR: GORAKHPUR: बेलाल मस्जिद इमामबाड़ा अलहदादपुर में बुधवार को सुल्तानुल हिन्द हजरत ख्वाजा मोईनुद्दीन चिश्ती अजमेरी (ख्वाजा गरीब नवाज) की याद में 'पैगामे गरीब नवाज कांफ्रेंस' हुई। आसपास के जिलों के उलेमा-ए-किराम ने शिरकत की। संचालन मौलाना मकसूद आलम मिस्बाही ने किया। सरपरस्ती कारी रईसुल कादरी ने की। मुख्य अतिथि अल जामियतुल अशरफिया मुबारकपुर यूनिवíसटी के मौलाना मो। मसऊद अहमद बरकाती ने कहा कि जिंदगी के हर मैदान और शोबे के लिए दीन-ए-इस्लाम की हिकमत व तालीम बेमिसाल है।

बातिल कुव्वतों को मिलेगी शिकस्त

उन्होंने कहा कि दीन-ए-इस्लाम की बुनियाद तौहीद, इबादत, सच्चाई, पाक दामनी और हया पर है। तमाम मुसलमान इन हिदायत पर अमल करें और रसूल-ए-पाक हजरत मोहम्मद सल्लल्लाहो अलैहि वसल्लम की सुन्नतों पर चलें। समाज का हर शख्स अपनी जिम्मेदारी अंजाम देते हुए जगह-जगह इस्लामी तालिमात को पहुंचाये ताकि दुनिया और आखिरत में कामयाबी हासिल हो सके और बातिल कुव्वतों को करारी शिकस्त मिले। कहा कि दीन-ए-इस्लाम की पहली तालीम इल्म हासिल करना है। उन्होंने लोगों से हजरत ख्वाजा गरीब नवाज के नक्शेकदम पर चलने की अपील की। कयादत करते हुए मस्जिद के इमाम कारी शराफत हुसैन कादरी ने कहा कि मकसदे जिन्दगी अल्लाह की बंदगी और अल्लाह व रसूल-ए-पाक हजरत मोहम्मद सल्लल्लाहो अलैहि वसल्लम के बताए हुए अहकाम के मुताबिक अपने आपको ढालना है।

दिलाएं दीन, दुनिया की तालीम

सदारत करते हुए मुफ्ती अख्तर हुसैन ने रसूल-ए-पाक हजरत मोहम्मद साहब की सुन्नतों पर अमल करने की ताकीद की। वालिदैन से उनके बच्चों को दीनी व दुनियावी तालीम दिलाने पर जोर दिया। तिलावत-ए-कुरआन से कांफ्रेंस का आगाज गोंडा के कारी शादाब रजा ने किया। आखिर में सलातो सलाम पढ़कर मुल्कों मिल्लत के लिए दुआ कर शीरीनी बांटी गई। कांफ्रेंस में कारी शराफत हुसैन, मुफ्ती खुर्शीद अहमद मिस्बाही, मुफ्ती मो। अजहर शम्सी, नबी अहमद, मो। असलम, मो। सबरेज, अब्दुल कय्यूम, मो। जावेद, अब्दुल वाहिद, मो। शफीक सोनू, मो। कैश अंसारी, अब्दुल हामिद अंसारी, मौलाना जहांगीर अहमद अजीजी, मुफ्ती मो। शमीम, रईस अनवर, कारी अफजल बरकाती, मौलाना असलम रजवी, मो। मुख्तार अंसारी, एजाज अहमद, इरशाद हुसैन सहित तमाम लोगों ने शिरकत की।

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.