क्लर्क छुट्टी पर, टालने पड़े एमबीबीएस के एग्जाम

Updated Date: Fri, 22 Jan 2021 11:40 AM (IST)

- 19 जनवरी को एमबीबीएस फ‌र्स्ट ईयर के होने थे एग्जाम, यूनिवर्सिटी ने अपलोड नहीं की लिस्ट

KANPUR: सीएसजेएम यूनिवर्सिटी की एक गलती के कारण 19 जनवरी को एमबीबीएस फ‌र्स्ट ईयर के एग्जाम नहीं हो सके। यूनिवर्सिटी के लिस्ट अपलोड न होने के कारण मेडिकल कॉलेज को भी एग्जाम टालने पड़ गए। कॉलेज प्रशासन ने मामले से शासन को अवगत कराया है। साथ ही यूनिवर्सिटी प्रशासन को पत्र लिखकर एतराज जताया है। वहीं, 22 जनवरी को वैक्सीनेशन होना है, लेकिन यूनिवर्सिटी प्रशासन ने उसी दिन बैठक बुलाई है।

क्या है पूरा मामला?

राज्य सरकार ने वर्ष 2019 में आर्थिक रूप से कमजोर सवर्णों को आरक्षण देने के लिए ईडब्लूएस कोटे में एमबीबीएस की 10 परसेंट सीटें बढ़ाई थीं। इसके तहत जीएसवीएम में 60 सीटें बढ़ाई गईं थीं, जिससे यहां एमबीबीएस की 250 सीटें हो गई थीं। लेकिन कोरोना आउटब्रेक के चलते सीएसजेएमयू से बढ़ी हुईं सीटों पर एफिलिएशन नहीं मिल सकी। इधर शासन ने यूनिवर्सिटी से बढ़ी सीटों पर संबद्धता लेकर एमबीबीएस फ‌र्स्ट ईयर के एग्जाम 31 जनवरी तक कराने के निर्देश दिए। कॉलेज प्रशासन ने सभी औपचारिकताएं पूरी कर एग्जाम की तारीख 19 जनवरी घोषित कर दी। यूनिवर्सिटी में मेडिकल कॉलेज के कार्यक्रमों को देखने वाला क्लर्क छुट्टी पर चला गया। इस वजह से एमबीबीएस की बढ़ी सीटों की लिस्ट अपलोड नहीं हो सकी। जिससे 19 जनवरी को एग्जाम टालने पड़ गए।

यूनिवर्सिटी की लापरवाही से फ‌र्स्ट ईयर के एग्जाम तय शेड्यूल से नहीं हो सके। इससे शासन को अवगत करा दिया गया है। 22 को कोरोना वैक्सीनेशन होना है और इसी दिन यूनिवर्सिटी ने बैठक बुलाई है।

- प्रो। आरबी कमल, प्राचार्य, जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज।

एमबीबीएस की बढ़ी हुई सीटों की मान्यता नहीं है। इस मुद्दे पर अभी बैठक होनी है। एग्जाम कराने के लिए यूनिवर्सिटी तैयार है।

- डॉ। अनिल कुमार यादव, रजिस्ट्रार सीएसजेएमयू

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.