धमाके साथ फटे ड्रम, पूरे एरिया में जहरीला धुआं

kanpur@inext.co.in kanpur : गर्मी की दस्तक के साथ ही शहर

Updated Date: Sat, 06 Mar 2021 07:40 AM (IST)

-फजलगंज में चप्पल फैक्ट्री में लगी भीषण आग

- फ्राईडे दोपहर शॉट सर्किट से हुआ हादसा, रबर और केमिकल से भरे ड्रमों ने किया आग में घी का काम

- फायर बिग्रेड की एक दर्जन से ज्यादा गाडि़यों ने संभाला मोर्चो, देर रात तक रह-रहकर भड़कती रही आग

>kanpur@inext.co.in

KANPUR : गर्मी की दस्तक के साथ ही शहर में आग लगने की घटनाएं शुरू हो गई हैं। फजलगंज में सीएल मेमोरियल हॉस्पिटल के पास स्थित रूपानी चप्पल फैक्ट्री में थर्सडे दोपहर शॉर्ट सर्किट से आग लग गई। रबर और केमिकल ने आग में घी का काम किया। कुछ ही देर में आग विकराल हो गई। आसमान छूती ऊंची-ऊंची लपटें उठने लगीं। वहीं केमिकल से भरे ड्रम धमाकों के साथ फटने लगे। रबर जलने के कारण निकल रहे जहरीले धुंए से लोगों का सांस लेना मुश्किल हो गया। फायर ब्रिगेड की एक दर्जन से ज्यादा गाडि़यों ने आग बुझाने के लिए र्मोचा संभाला। घंटों की मशक्कत के बाद आग हल्की तो पड़ गई लेकिन रह-रहकर भड़कती रही। देर रात तक आग पर पूरी तरह काबू नहीं पाया जा सका।

वहीं धुएं से लोगों का सांस लेना

मैनेजर ने फायर ब्रिगेड को फोन किया। इसके बाद दमकल की एक दर्जन से ज्यादा गाडि़यां मौके पर पहुंची। आग में लाखों रुपए का नुकसान होने की बात बताई गई। पुलिस व फायर ब्रिगेड की टीम देर रात तक आग बुझाने की कोशिश करती रहीं।

लंच के समय कंट्रोल पैनल में हुआ शार्ट सर्किट

पांडू नगर निवासी लक्ष्मण दास रूपानी की फजलगंज में भी बजरंग बली इंडस्ट्रीज नाम से चप्पल बनाने की फैक्ट्री है। फ्राइडे दोपहर करीब 1:30 बजे जब फैक्ट्री के कर्मचारी दूसरी और तीसरी मंजिल पर बैठकर खाना खा रहे थे। उसी समय अचानक दूसरी मंजिल पर स्थित गोदाम में शॉर्ट सर्किट से आग लग गई। कर्मचारियों ने धुआं उठता देखा। जब तक आग पर काबू पाने की कोशिश करते, आग ने विकराल रूप ले लिया। इसके बाद कर्मचारी खाना पीना छोड़ कर तुरंत नीचे उतरे और मैनेजर आनंद शुक्ला को जानकारी दी। मैनेजर ने तुरंत पुलिस व फायर ब्रिगेड को सूचना दी।

दीवारें तक चटक गई

फैक्ट्री में केमिकल के ड्रम रखे थे। देखते ही देखते आग ड्रमों तक पहुंच गई। ड्रमों में आग लगने से धमाके शुरू हो गए। पड़ोस में स्थित निजी अस्पताल की लॉन्ड्री की दीवारें आग के प्रभाव से चटक गईं। आसपास के लोग भी अपनी छतों पर आ गए। फायर ब्रिगेड की गाडि़यों ने केमिकल फायर पर फोम डालकर आग बुझाने की कोशिश शुरू की। लेकिन आग तब तक विकराल रूप धारण कर चुकी थी।

दोनों ओर से ट्रैिफक रोका

घटना के वक्त फैक्ट्री में 80 से ज्यादा कर्मचारी मौजूद थे। सभी को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया। आग की सूचना पर एसपी साउथ दीपक भूकर, सीओ नजीराबाद संतोष सिंह, फजलगंज, काकादेव और नजीराबाद की पुलिस मौके पर पहुंची। दोनों तरफ से रास्ता रोक दिया गया। उसके बाद फायर ब्रिगेडकर्मियों ने पड़ोस की छतों से पानी फेंकना श्ाुरू किया।

हर तरफ धुआं से धुआं

आग की वजह से हर तरफ काला धुआं छा गया। आस पास के लोगों को सांस लेने में परेशानी होने लगी। फायरब्रिगेड कर्मी और पुलिस कर्मी गीले कपड़े से नाक को ढक कर आग बुझाने में लगे थे। आग ज्यादा होने की वजह से आर्डिनेंस फैक्ट्री की गाड़ी भी मौके पर बुलाई गई। जबकि फजल, लाटूश रोड और मीरपुर से भी गाडि़यां मंगाईं गईं। केमिकल के ड्रम फटने की वजह से केमिकल पूरी फैक्ट्री में फैल गया। वहीं रबर के कारण आग तेजी से फैली।

1:30 बजे दोपहर लगी फैक्ट्री में आग

80 कर्मचारी मौजूद थे हादसे के वक्त

10 से ज्यादा ड्रमों में भरा था केमिकल

4 गाडि़यां फायर ब्रिगेड की तुंरत पहुंचीं

6 गाडि़यां और भेजी आग विकराल होने पर

12 बजे रात तक पूरी तरह आग नहीं बुझी

2 थानों की पुलिस, एसपी व एसीएम भी पहुंचे

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.