नगर आयुक्त ने स्पष्ट किया है कि पार्किंग में खड़े वाहनों में से जिनके पास रसीद है उन्हें रिलीज कर दिया जाएगा व जिनके पास रसीद नहीं हैं उन पर एक महीने की पार्किंग चार्जेज के सापेक्ष जुर्माना भी लगाया जाएगा।


लखनऊ (ब्यूरो)। टीपी नगर में लंबे समय से अवैध पार्किंग का खेल चल रहा था और नगर निगम की जोनल टीम को इसकी भनक तक नहीं लगी। सोमवार को नगर आयुक्त अजय कुमार द्विवेदी के निरीक्षण में जब 10 अवैध पार्किंग प्वाइंट सामने आए, तो हर कोई हैरान रह गया। आनन-फानन में सभी पार्किंग को सील कराया गया और जिम्मेदारों पर कार्रवाई भी की गई। जनता की सुविधा को देखते हुए दो-तीन पार्किंग प्वाइंट्स को तत्काल ओपन भी कर दिया गया।बिना टिकट और पास खड़े मिले 355 वाहन


नगर आयुक्त ने ट्रांसपोर्टनगर में मौजूद पार्किंग स्थलों का औचक निरीक्षण किया। यहां करीब 10 पार्किंग में बिना पार्किंग टिकट अथवा मंथली पास के वाहन पार्क मिले। इसके साथ ही पार्किंग स्थलों पर कब्जा करके वाहनों की मरम्मत का काम होता पाया गया। कुछ पार्किंग स्थलों में अवैध रूप से दुकानें संचालित की जा रही थीं, मौके पर ही सभी पार्किंग को सील कर दिया गया।ये पार्किंग शुरू कराई गईं

तत्काल रूप से पार्किंग व्यवस्था के लिए पार्किंग नंबर 5 एवं 10 को शुरू किया गया। इसके साथ ही पार्किंग नंबर 10 टेंडर प्रक्रिया के अंतर्गत संचालित रहेगी व पार्किंग नंबर 5 को नगर निगम द्वारा विभागीय माध्यम से संचालित किया जाएगा, जिसके लिए कर्मचारियों की तैनाती की जाएगी। इसके अतिरिक्त पार्किंग संख्या 7 को बस अड्डे के रूप में विकसित किया जाएगा, ताकि वहां से नियमानुसार बसों का संचालन हो सके। यहां नगर निगम द्वारा दुकानें आवंटित की जाएंगी और बसों की बुकिंग के लिए काउंटर स्थापित किया जाएगा। इसके अतिरिक्त मोटर मैकेनिक के लिए भी अलग से स्पेस निर्धारित किया जाएगा।एक महीने का पार्किंग शुल्कनगर आयुक्त ने स्पष्ट किया है कि पार्किंग में खड़े वाहनों में से जिनके पास रसीद है, उन्हें रिलीज कर दिया जाएगा व जिनके पास रसीद नहीं हैं, उन पर एक महीने की पार्किंग चार्जेज के सापेक्ष जुर्माना भी लगाया जाएगा। अनियमित्ताओं के लिए उत्तरदायी व अपने दायित्वों का निर्वहन न करने के कारण कर अधीक्षक सुनील त्रिपाठी के निलंबन हेतु शासन को पत्र लिखा जा रहा है एवं कर निरीक्षक श्रेणी 2 इसरार अहमद को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। इसके अतिरिक्त संबंधित जोनल अधिकारी को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है।

Posted By: Inextlive