डॉ. शकुंतला मिश्रा राष्ट्रीय पुनर्वास विवि का सातवां दीक्षा समारोह

Updated Date: Wed, 16 Dec 2020 07:40 AM (IST)

- गवर्नर बोलीं, व्यावसायिक प्रशिक्षण लेने वालों के लिए करें नौकरी की व्यवस्था

- सीएम योगी ने किया 125 करोड़ की परियोजनाओं का लोकार्पण

रुष्टयहृह्रङ्ख : राज्यपाल आनंदी बेन पटेल ने कहा कि नई शिक्षा नीति स्कूलों व कॉलेजों के बुनियादी सुधार के लिए की गई पहल है। इससे छात्रों को कोर्स बदलने की सुविधा मिलेगी। साथ ही तकनीकी शिक्षा को बढ़ावा मिलेगा। शिक्षकों की जिम्मेदारी है कि वह तकनीकी शिक्षा की ओर ज्यादा ध्यान दें। जर्मनी में 80 फीसद कंपनियां वोकेशनल ट्रेनिंग (व्यावसायिक प्रशिक्षण) करने वालों को नौकरी देती है। ऐसी व्यवस्था यहां भी करने की जरूरत है।

ऑनलाइन शिक्षा के लिए तैयार रहें

डॉ। शकुंतला मिश्रा राष्ट्रीय पुनर्वास विवि के अटल प्रेक्षागृह में सोमवार को आयोजित सातवें दीक्षा समारोह की अध्यक्षता करते हुए राज्यपाल ने कोरोना संक्रमण काल में शिक्षा को लेकर आने वाली चुनौतियों से निपटने के लिए तैयारी करने का सुझाव दिया। कहा, हमें 60 फीसद ऑनलाइन और 40 फीसद ऑफलाइन शिक्षा के लिए तैयार रहना होगा। दिव्यांगों की शिक्षा में सुधार के साथ ही आंगनबाड़ी केंद्रों में भी बेहतर पढ़ाई कराई जानी चाहिए।

--

पीएम ने किया दिव्यांगों की दिव्यता का सम्मान : सीएम

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शारीरिक रूप से अक्षम लोगों को दिव्यांग नाम देकर उनकी दिव्यता का सम्मान किया है। प्रदेश सरकार ने कोरोना संक्रमण काल में भी दिव्यांगों के लिए काम किया। 10.68 लाख दिव्यागों के खाते में पेंशन भेजी गई। दीक्षा समारोह सनातन संस्कृति का प्रतीक है। गुरुकुल में ऐसा होता रहा है। इस विवि की विशिष्टता आज इस कारण अधिक हो गई कि डॉ। शकुंतला मिश्रा की नातिन (श्यामली मिश्रा) को यहां से पहली पीएचडी की उपाधि मिल रही है। सीएम ने इसके लिए श्यामली के साथ उनके पिता व राज्यसभा सांसद सतीश चंद्र मिश्र को भी बधाई दी।

125 करोड़ की परियोजनाओं का लोकार्पण

दीक्षा समारोह में मुख्यमंत्री ने 125 करोड़ की परियोजनाओं का लोकार्पण किया। साथ ही पूर्व प्रधानमंत्री भारतरत्न अटल बिहारी वाजपेयी की प्रतिमा व उनकी कविताओं पर आधारित वीथिका का अनावरण भी किया। इसके अलावा डॉ। शकुंतला मिश्रा राष्ट्रीय पुनर्वास विवि की स्मृति में डाक टिकट जारी किया। इसके बाद कॉलेज फॉर डेफ, विशिष्ट स्टेडियम, कृत्रिम अंग निर्माण केंद्र, समेकित विशेष माध्यमिक विद्यालय की दिव्यांगों को सौगात दी।

--

दृष्टिबाधित राम दरश को सर्वाधिक चार मेडल

दृष्टिबाधित छात्र राम दरश को सर्वाधिक चार मेडल दिया गया। राजनीति विज्ञान में सर्वाधित अंक पाने वाली शिवांगी कश्यप को मुलायम सिंह यादव गोल्ड मेडल प्रदान किया गया। एमए ¨हदी में सर्वाधिक अंक पाने वाली मेधावी मानसी यादव को आलोक तोमर गोल्ड मेडल और दृष्टिबाधित सुमित्रा को स्नातक में सर्वाधिक अंक हासिल करने के लिए डॉ। शकुंतला मिश्रा स्मृति गोल्ड मेडल दिया गया। दिव्यांग शिवा मिश्रा को रोहित मित्तल स्मृति गोल्ड मेडल और आयुषी पांडेय को संस्कृति गोल्ड मेडल प्रदान किया गया। आयुषी ने बीएड विशेष शिक्षा में सर्वाधिक अंक प्राप्त किया है।

ये रहे मौजूद

समारोह में कुलपति प्रो। आरकेपी सिंह, कुलसचिव अमित कुमार सिंह, परीक्षा नियंत्रक डॉ। अमित कुमार राय, प्रो। अवधेश मिश्रा समेत विवि के शिक्षकगण मौजूद रहे।

कुल पदक-151

स्वर्ण- 48

रजत-48

कांस्य-48

छात्राओं को 84 पदक

छात्रों को 67 पदक

व्यक्तिगत-122 पदक

छात्र-51

छात्राएं-71

11 दिव्यांगों को 14 पदक

मिली उपाधि-1205

छात्र-573

छात्राएं-632

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.