वेबिनार में जुड़े नगर आयुक्त डॉ. इंद्रजीत सिंह ने भी व्यापारियों की समस्याओं और सुझावों को गंभीरता से सुना और आश्वस्त किया कि उनके सुझावों से शासन को अवगत कराया जाएगा साथ ही अभियान के दौरान किसी भी व्यापारी का उत्पीडऩ नहीं होगा।


लखनऊ (ब्यूरो)। सिंगल यूज प्लास्टिक से बने उत्पादों पर तभी पूरी तरह से रोक लगेगी, जब ये तीन कदम उठाए जाएं। इन तीन कदमों में मुख्य रूप से विकल्प, निरंतर जागरूकता अभियान और उत्पादन इकाईयों पर प्रतिबंध लगाया जाना शामिल है। अगर तीनों कदमों को तुरंत इंप्लीमेंट कर दिया जाए तो निश्चित रूप से बैन सफल होगा अन्यथा 10 दिन बाद स्थिति जस की तस हो जाएगी। ये बातें दैनिक जागरण आईनेक्स्ट की ओर से मंगलवार को आयोजित वेबिनार में राजधानी के प्रतिष्ठित व्यापारियों ने कहीं। इसके साथ ही उन्होंने यह भी आश्वासन दिया कि पॉलीथिन बैन को लेकर चलाए जाने वाले अभियान में उनके व्यापार मंडलों की ओर से पूरा सहयोग किया जाएगा। वेबिनार में जुड़े नगर आयुक्त डॉ। इंद्रजीत सिंह ने भी व्यापारियों की समस्याओं और सुझावों को गंभीरता से सुना और आश्वस्त किया कि उनके सुझावों से शासन को अवगत कराया जाएगा साथ ही अभियान के दौरान किसी भी व्यापारी का उत्पीडऩ नहीं होगा।खानापूर्ति तक न सिमटे अभियान
लखनऊ व्यापार मंडल के वरिष्ठ महामंत्री अमरनाथ मिश्र ने कहा कि पॉलीथिन पर बैन लगाना तो बेहतर कदम है लेकिन अब यह भी ध्यान रखा जाए कि जो जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है, वो खानापूर्ति तक न सिमट जाए। पहले भी पॉलीथिन पर बैन लगा और जागरूकता अभियान चला लेकिन गुजरते वक्त के साथ स्थिति जस की तस हो गई। अगर इस बार सिंगल यूज प्लास्टिक से बने उत्पादों पर शत प्रतिशत रोक लगानी है तो सबसे पहले यह इंश्योर करना होगा कि जागरूकता अभियान निरंतर चले साथ ही व्यापारियों की भी इसमें सहभागिता हो। उन्होंने यह भी कहाकि पॉलीथिन बैन होने के बाद अब इसके विकल्प को भी सामने लाना चाहिए।उत्पादन इकाईयों पर शिकंजा जरूरीउप्र आदर्श व्यापार मंडल के प्रदेश अध्यक्ष संजय गुप्ता ने कहा कि पॉलीथिन या सिंगल यूज प्लास्टिक से बने उत्पादों पर तब तक पूरी तरह से रोक नहीं लग सकती है, जब तक इसका उत्पादन होता रहेगा। उन्होंने मांग की है कि सबसे पहले तो उत्पादन इकाईयों पर शिकंजा कसा जाना चाहिए। जब उत्पादन ही नहीं होगा तो मार्केट से लेकर घरों के अंदर तक पॉलीथिन या प्लास्टिक से बने उत्पाद नहीं पहुंचेंगे। उन्होंने यह भी सुझाव दिया कि सभी मार्केट्स में चरणबद्ध तरीके से जागरूकता अभियान चलाया जाए। व्यापार मंडल की ओर से भी लोगों को जागरूक करने के साथ ही निगम की ओर से चलाए जा रहे जागरूकता अभियान में पूरा सहयोग किया जाएगा।विकल्प पर भी फोकस जरूरी


भूतनाथ व्यापार मंडल के अध्यक्ष देवेंद्र गुप्ता ने कहा कि बड़े व्यापारी तो लंबे समय से बैन पॉलीथिन का यूज नहीं कर रहे हैैं। एक जुलाई से सिंगल यूज प्लास्टिक से बने उत्पादों पर रोक लगा दी गई है। निश्चित रूप से यह कदम सराहनीय है लेकिन अब इसके विकल्प पर भी फोकस करना होगा। अभी जनता के सामने कोई विकल्प नहीं आया है। जिसकी वजह से अभी यह कहना जल्दबाजी होगी कि पॉलीथिन पर पूरी तरह से रोक लग गई है। सबसे पहले तो सरकार को पॉलीथिन के विकल्प जनता के सामने लाने होंगे साथ ही वृहद जागरूकता अभियान भी निरंतर रूप से चलता रहे। जनता की जागरूकता के बिना पॉलीथिन पर रोक संभव नहीं है।छोटे व्यापारियों का उत्पीडऩ न हो

उप्र आदर्श व्यापार मंडल के प्रदेश वरिष्ठ उपाध्यक्ष अविनाश त्रिपाठी ने कहा कि ज्यादातर लोगों को यह मालूम ही नहीं है कि सिंगल यूज प्लास्टिक किसे कहते हैैं और इसके अंतर्गत कौन-कौन से उत्पाद आते हैैं। सबसे पहले तो नगर निगम को जागरूकता अभियान के माध्यम से लोगों को इस संबंध में जानकारी देनी चाहिए साथ ही अपनी चेकिंग टीम को भी बैन उत्पादों से जुड़ी लिस्ट देनी चाहिए। जिससे किसी भी व्यापारी का उत्पीडऩ न हो सके। निगम प्रशासन से यह भी अपील है कि तत्काल जुर्माना संबंधी कार्रवाई शुरू न की जाए, उसके स्थान पर अभी सिर्फ जागरूकता अभियान चलाया जाए।पहले हमें सुधरना होगाभूतनाथ व्यापार मंडल के वरिष्ठ उपाध्यक्ष परमजीत सिंह ने कहा कि सबसे पहले तो हमें अपने अंदर सुधार लाना होगा। जरा उस समय को याद करें, जब पॉलीथिन प्रचलन में नहीं थी। उस दौर में हम सभी लोग थैला इत्यादि खुद घर से लेकर जाते थे। कुल्हड़ का भी खासा प्रयोग होता था लेकिन जब से पॉलीथिन आई, तब से हम इन सब चीजों को भूल गए और पूरी तरह से पॉलीथिन पर आश्रित हो गए। अब फिर से वही समय आ गया है और हम सबको आदत में चेंज लाते हुए फिर से घर से थैला इत्यादि ले जाने का क्रम शुरू करना होगा। इसके साथ ही जिम्मेदारों को भी नियमित जागरूकता अभियान चलाने की जरूरत है।हम सभी साथ देने को तैयार
निशातगंज व्यापार मंडल के महामंत्री विपिन अग्रवाल ने कहा कि पॉलीथिन और सिंगल यूज प्लास्टिक से बने उत्पादों पर रोक लगाया जाना बेहतर कदम है। अब इस रोक को प्रभावी तरीके से लागू कराने के लिए व्यापार मंडल की ओर से पूरा सहयोग किया जाएगा। नगर निगम प्रशासन को यह भी ध्यान रखना होगा कि चेकिंग अभियान के नाम पर छोटे व्यापारियों और ठेले इत्यादि वालों का उत्पीडऩ न किया जाए। जब तक जनता जागरूक नहीं होगी, तब तक बैन पूरी तरह संभव नहीं है। व्यापार मंडल यह भी प्रयास करेगा कि किसी भी हाल में बैन पॉलीथिन मार्केट में न खपाई जाए।ये सुझाव आए सामने1-जगह-जगह जागरूकता होर्डिंग्स लगाई जाएं2-उत्पादन इकाईयों पर शिकंजा कसा जाए3-जागरूकता अभियान निरंतर रूप से चले4-पॉलीथिन के विकल्प पर ध्यान दिया जाएहम वादा करते हैैंवेबिनार के माध्यम से खासे महत्वपूर्ण सुझाव सामने आए हैैं। हम वादा करते हैैं कि किसी भी व्यापारी का उत्पीडऩ नहीं किया जाएगा। पॉलीथिन व सिंगल यूज प्लास्टिक से बने उत्पादों को लेकर चले रहे जागरूकता अभियान को निरंतर रूप से चलाया जाएगा। इसके साथ ही व्यापारियों की ओर से जो भी सुझाव सामने आए हैैं, उन्हें शासन के पास भी भेजा जाएगा। जिससे उन पर अमल किया जा सके। नगर निगम की ओर से अभी जुर्माना संबंधी कार्रवाई शुरू नहीं की गई है। पहले हमारी ओर से व्यापक स्तर पर जागरूकता अभियान चलाया जाएगा और लोगों के बिहेवियर में चेंज लाया जाएगा। अगर इसके बाद भी स्थिति में सुधार नहीं दिखता है तब उस कंडीशन में जुर्माना संबंधी कार्रवाई की जाएगी। -इंद्रजीत सिंह, नगर आयुक्त

Posted By: Inextlive