ओसीआर बिल्डिंग के व्यवस्था अधिकारी का केबिल डक्ट में मिला शव

Updated Date: Thu, 15 Oct 2020 07:10 AM (IST)

- 10 अक्टूबर को पत्नी ने दर्ज कराई थी हुसैनगंज थाने में गुमशुदगी

- 27 अक्टूबर को पहली पत्नी की बेटी की है शादी

- मौसरे भाई के बेटे ने जताई हत्या की आशंका, खुदकुशी और हादसे में उलझी पुलिस

द्यह्वष्द्मठ्ठश्र2@द्बठ्ठद्ग3ह्ल.ष्श्र.द्बठ्ठ

रुष्टयहृह्रङ्ख : हुसैनगंज की ओसीआर बिल्डिंग के व्यवस्था अधिकारी का शव बिल्डिंग के बी ब्लाक के केबिल डक्ट में तारों पर लटकता पाया गया। वह 10 अक्टूबर से लापता थे। उनकी दूसरी पत्नी ने गुमशुदगी की रिपोर्ट हुसैनगंज थाने में दर्ज कराई थी। वहीं भतीजे के बेटे ने नसीम की हत्या की आशंका जताई है। पुलिस घटना को आत्महत्या मान रही है।

10 अक्टूबर से थे लापता

इंस्पेक्टर हुसैनगंज दिनेश सिंह बिष्ट ने बताया कि दिल्ली के शकरपुर निवासी नसीम अहमद (42) ओसीआर बिल्डिंग के व्यवस्था अधिकारी थे। वह ओसीआर के बी ब्लाक स्थित 11वें तल पर बने फ्लैट नंबर 1103 में अपनी दूसरी पत्नी सुलगना और दो बच्चों के साथ रहते थे। उनका दफ्तर ओसीआर बिल्डिंग में ही था। नसीम अख्तर 10 अक्टूबर की शाम अपने घर से निकले थे। इसके बाद वह लापता हो गए थे।

पत्नी ने दर्ज कराई थी गुमशुदगी की रिपोर्ट

पत्नी सुलगना ने उनकी गुमशुदगी की रिपोर्ट हुसैनगंज कोतवाली में दर्ज कराई थी। पुलिस सर्विलांस की मदद से उनके बारे में पता लगाने का प्रयास कर रही थी, लेकिन मोबाइल लगातार बंद जा रहा था। इसके अलावा पुलिस ने सीसीटीवी कैमरों की फुटेज भी खंगाली थी।

दुर्गध की सूचना पर पहुंची पुलिस

हुसैनगंज पुलिस के अनुसार सोमवार को नसीम के मौसी का बेटा आरिफ लखनऊ पहुंचा। पुलिस ने उसको कुछ सीसीटीवी कैमरों की फुटेज दिखाई और बताया कि फुटेज में दिख रहा व्यक्ति शायद नसीम है, लेकिन आरिफ ने पहचानने से इनकार कर दिया। इस बीच लोगों को ओसीआर बी ब्लाक के दूसरी और तीसरी मंजिल के डक्ट से बदबू का एहसास हुआ। लोगों की सूचना पर हुसैनगंज पुलिस ने डक्ट का दरवाजा खोलकर देखा गया तो बिजली के केबिलों पर एक व्यक्ति का शव झूल रहा था।

पत्नी व भतीजे ने की शव की पहचान

पुलिस ने किसी तरह डक्ट से शव को बाहर निकलवाया। शव तीन से चार दिन पुराना होने की वजह से सड़ चुका था। डक्ट में मिले नसीम के शव को पुलिस नसीम का नहीं मान रही थी। पुलिस शुरू में आशंका जता रही थी कि शव किसी बिजली मैकेनिक का है। इसके बाद नसीम कीपत्नी और मौसी के बेटे आरिफ ने शव को देखकर उसकी पहचान नसीम के रूप में की। आरिफ ने नसीम की हत्या का शक जाहिर किया है।

27 अक्टूबर उठनी है बेटी की डोली

नसीम की मौसी के बेटे आरिफ ने बताया कि उनकी पहली पत्नी रेहाना दिल्ली में रहती हैं। रेहाना की बड़ी बेटी की 27 अक्टूबर को शादी है। हुसैनगंज इंस्पेक्टर ने बताया कि नसीम बेटी की शादी में रुपये खर्च करना चाहते थे, लेकिन उनकी दूसरी पत्नी इस बात पर एतराज कर रही थी। 10 अक्टूबर को नसीम ने अपनी बहन, बेटी और बुजुर्ग पिता से भी फोन पर बातचीत की थी। पुलिस का कहना है कि ऐसा लग रहा है कि नसीम ने कलह के चलते डक्ट में कूदकर अपनी जान दे दी।

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.