ग्रामीण अंचल व छोटे कस्बे के युवाओं के बढ़ावा देने में मदद करेगा एलयू

Updated Date: Fri, 08 Jan 2021 10:42 AM (IST)

361 नए कॉलेज जुड़े हैं एलयू से

4 जिलों में हैं ये सभी कॉलेज

3 सदस्यीय टास्क फोर्स का गठन

- लखनऊ यूनिवर्सिटी से जुड़ने वाले चार जिलों के लिए बनाई जाएगी वर्क फोर्स

LUCKNOW : चार जिलों के 361 नए कॉलेजों के संबद्ध होने के बाद लखनऊ यूनिवर्सिटी ने इन जिलों में कार्य करने के लिए पहला कदम बढ़ा दिया है। इसके लिए एक टास्क फोर्स का गठन किया गया है, जिसकी चेयरमैन एजुकेशन डिपार्टमेंट की प्रो। अमिता बाजपेयी को बनाया गया है। टीम में प्रो। राजीव पांडेय और प्रो। आरपी सिंह को मेंबर के तौर पर रखा गया है। ये टीम चार जिलों का निरीक्षण कर वहां की कार्ययोजना तैयार करेगी। इसके बाद यह तय किया जाएगा कि इन जिलों में किस तरह के नए कोर्स शुरू होने चाहिए। यह टास्क फोर्स तीन माह के अंदर अपनी रिपोर्ट एलयू प्रशासन को देगी।

हर जिले में बनेगी वर्क फोर्स

एलयू के अधिकारियों के अनुसार टास्क फोर्स के अंतर्गत एक वर्क फोर्स का भी गठन हर जिले में किया जाएगा। जिसकी हर टीम में एलयू के तीन प्रोफेसर काम करेंगे। यह टीम जिले के टॉप रैंकिंग कॉलेजों के प्रिंसिपल, सभासदों, एमएलए आदि से समन्वय स्थापित करेगी। जिससे पता चले कि इन जिलों में एजुकेशन से संबंधित किस चीज की डिमांड है। यही नहीं वर्क फोर्स लोगों के साथ बैठकें कर वर्कशॉप भी आयोजित करेगी। उद्देश्य यही है कि इन कार्यो से इन जिलों के कॉलेजों के लिए रोडमैप तैयार किया जा सके।

डिमांड वाले कोर्सो की शुरुआत

एलयू द्वारा गठित टीमें निरीक्षण के दौरान एग्रीकल्चर, पोल्टी फॉर्मिग, फूड प्रोसेसिंग एंड प्रिजरवेशन, डेयरी टेक्नोलॉजी, स्पाइसेस कल्टीवेशन, ऑर्गेनिक फॉर्मिग, सेनिटाइजर प्रीप्रेशन, बायोलॉजिकल पेस्ट मैनेजमेंट जैसे तमाम डिमांडिंग वाली चीजों का डाटा एकत्र करेंगी। इसके आधार पर तय किया जाएगा कि किस जिले में किस कोर्स की अधिक डिमांड है और उसी आधार पर कोर्स शुरू किया जाएगा। एलयू प्रशासन चाहता है कि इन जिलों के लोगों को डिमांडिंग चीजों पर आधारित पढ़ाई कराई जाए ताकि उन्हें पढ़ाई के बाद जॉब के लिए न भटकना पड़े।

बाक्स

एलयू से जुड़ने वाले कॉलेज

जिला संख्या

हरदोई 135

सीतापुर 82

रायबरेली 86

लखीमपुर 58

नोट- जुड़ेने वाले कुल कॉलेजों की संख्या 361 है।

कोट

सरकार की योजना के अनुसार इन चार जिलों में ग्रामीण उद्योगों को विकसित करना और उसके अनुसार कोर्स बनाना है। इसके लिए कमेटी का गठन किया गया है।

प्रो। आलोक कुमार राय, वीसी, एलयू

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.