निगम प्रशासन की ओर से लगभग सभी वेस्ट कलेक्शन गाडिय़ों में जीपीएस लगाया जा चुका है। इन सभी जीपीएस को इंटीग्रेटेड कमांड सेंटर से लिंक अप कर दिया जाएगा। जिससे यह आसानी से देखा जा सकेगा कि कौन सी गाडिय़ां निर्धारित रूट पर जा रही हैैं और कौन सी नहीं।


लखनऊ (ब्यूरो)। नगर निगम प्रशासन की ओर से इस समय पूरा फोकस शिवरी प्लांट में लगे वेस्ट के ढेरों को समाप्त करने पर किया गया है। जिससे स्वच्छता सर्वेक्षण 2023 की परीक्षा में निगम को बेहतर अंक मिले और शहर की रैैंकिंग में सुधार देखने को मिले। इस बार जो रिजल्ट आया है, उसमें निगम को वेस्ट के ढेरों के कारण पांच स्थानों का नुकसान हुआ है। इस बार शहर की रैैंकिंग 17वीं आई है, जो पिछली बार 12वीं थी।जोनवार तैयार हो रहा प्लान


डोर टू डोर वेस्ट कलेक्शन व्यवस्था को बेहतर बनाने के लिए इस बार जोनवार रणनीति बनाई जा रही है। पहले चरण में देखा जा रहा है कि किस जोन में कितने घरों से वेस्ट उठता है। इसके साथ ही यह भी देखा जा रहा है कि कितने भवन स्वामियों की ओर से यूजर चार्ज दिया जा रहा है। सभी आठ जोन में डेटा कलेक्ट करने के बाद नए सिरे से सभी घरों को उक्त व्यवस्था से जोडऩे के लिए कवायद की जाएगी। इस दौरान पब्लिक को भी जागरुक किया जाएगा कि निगम की वेस्ट कलेक्शन गाडिय़ों को ही वेस्ट दें। रोड पर या प्राइवेट कर्मी को वेस्ट न दें।जीपीएस से चेकिंग

निगम प्रशासन की ओर से लगभग सभी वेस्ट कलेक्शन गाडिय़ों में जीपीएस लगाया जा चुका है। इन सभी जीपीएस को इंटीग्रेटेड कमांड सेंटर से लिंक अप कर दिया जाएगा। जिससे यह आसानी से देखा जा सकेगा कि कौन सी गाडिय़ां निर्धारित रूट पर जा रही हैैं और कौन सी नहीं। हालांकि इस व्यवस्था को पहले भी लागू किया गया था। इसके माध्यम से डीजल चोरी के भी कई मामले पकड़े गए हैैं। अब नए सिरे से उक्त व्यवस्था को इंप्लीमेंट करने की तैयारी की जा रही है। जिससे एरियावाइज गाडिय़ों को ट्रैक किया जा सके।24 घंटे में ठीक हों खराब लाइट

मंडलायुक्त डॉ। रोशन जैकब की अध्यक्षता में नगर निगम के अधीन मार्ग प्रकाश व्यवस्था को लेकर बैठक हुर्ई। जिसमें मंडलायुक्त ने निर्देश दिए कि अगर कहीं भी मार्ग प्रकाश व्यवस्था खराब है तो 24 घंटे के अंदर हर हाल में उसे ठीक किया जाए। जिससे जनता को अंधेरे का सामना न करना पड़े। मंडलायुक्त ने निर्देश दिए कि त्योहारों के मद्देनजर विशेष एहतियात बरती जाए। उन स्थानों पर विशेष रूप से मार्ग प्रकाश व्यवस्था बेहतर रहे, जहां भीड़ एकत्रित होने की संभावना है। बड़े जंक्शन और चौराहों पर मार्ग प्रकाश व्यवस्था को लेकर विशेष ध्यान दिया जाये मंडलायुक्त ने बताया कि नगर निगम एवं ईईएसएल कंपनी द्वारा रात्रि में स्ट्रीट लाइटों की स्थिति का दैनिक सर्वे किया जाए। कंपनी अपने मैन पावर की संख्या में बढ़ोत्तरी करे साथ में मशीनों की संख्या भी बढ़ाएं। संबंधित कंपनी डेली सर्वे कर अपडेट देना सुनिश्चित करे।

Posted By: Inextlive