उपद्रवियों की नहीं की जा सकी संपत्ति सीज

Updated Date: Tue, 07 Jul 2020 07:36 AM (IST)

- स्वामित्व की सूची को लेकर मामला अटका

- सीएए और एनआरसी के विरोध में सरकारी संपत्तियों को नुकसान पहुंचाने का मामला

- पूर्व आइपीएस और कांग्रेस नेता की संपत्तियों को करना था सीज

- पूर्व आईपीएस समेत 57 उपद्रवियों से 1.56 करोड़ वसूली के लिए आरसी जारी

LUCKNOW

सीएए के विरोध प्रदर्शन के दौरान सरकारी और निजी संपत्तियों को नुकसान पहुंचाने के मामले में आरोपित पूर्व आईपीएस एसआर दारापुरी और कांग्रेसी नेता सदफ जाफर की संपत्तियों को सीज करने की कार्रवाई सोमवार को नहीं की जा सकी। प्रशासन का कहना है कि एलडीए और नगर निगम से संपत्तियों के स्वामित्व की सूची नहीं मिल पाई, जिसके चलते कार्रवाई नहीं हो सकी। जैसे ही स्वामित्व की सूची मिलेगी तत्काल कार्रवाई की जाएगी। जिला प्रशासन ने रविवार तक का समय बकाया शुल्क जमा करने के लिए दिया था। प्रशासन का कहना है कि कई बार नोटिस के बावजूद भी शुल्क नहीं जमा कराया गया। इसके चलते आरसी जारी की गई है। अब प्रशासन संपत्तियां जब्त कर नीलामी कर रकम वसूल करेगा।

एलडीए से मांगा ब्योरा

तहसीलदार शंभू शरण का कहना है कि जितने भी उपद्रवियों की संपत्तियों के स्वामित्व के बारे में नगर निगम एलडीए से मांगा गया है। सीएए के विरोध को लेकर 19 दिसंबर को ¨हसा की थी, जिसमें कैसरबाग, ठाकुरगंज, हजरतगंज और हसनगंज में डेढ़ सौ से अधिक लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की गई थी। जांच के बाद प्रशासन ने दोषी ठहराते हुए वसूली का आदेश जारी किया था।

कहां कितने उपद्रवी

- पूर्वी एडीएम कोर्ट : 28 उपद्रवी, वसूली लक्ष्य 6437637 रुपये

- एडीएम पश्चिमी कोर्ट : 16 उपद्रवी, वसूली लक्ष्य 6773900 रुपये और 175000 रुपये

- एडीएम टीजी : 13 उपद्रवी, वसूली लक्ष्य 2176000 रुपये।

एनआरसी व सीएए के विरुद्ध प्रदर्शन करने वाले तीन गैंगस्टर गिरफ्तार

एनआरसी व सीएए के विरुद्ध प्रदर्शन करने वाले तीन गैंगस्टर को हसनगंज थाने की पुलिस ने गिरफ्तार किया है। मोहम्मद सफीउद्दीन पुत्र अलाउद्दीन निवासी अदमापुर कुरैया थाना हरगांव सीतापुर, सलमान पुत्र मोहम्मद सत्तार निवासी थाना हसनगंज व मोहम्मद जाकिर पुत्र शब्बीर निवासी झोपड़पट्टी अमीनाबाद ने 19 दिसंबर को विरोध प्रदर्शन करते हुए सरकारी संपत्तियों को नुकसान पहुंचाया था। पुलिस के अनुसार यह तीनों गैंग बनाकर सरकार विरोधी काम करते हैं। इनकी दहशत क्षेत्र में इतनी है कि इनके विरुद्ध कोई शिकायत भी दर्ज नहीं करवाता है।

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.