महिला सिपाही ने राहुल के झांसे में आकर 8 लाख रुपये इंवेस्ट कर दिए। सिपाही ने जब राहुल से पॉलिसी के कागज मांगे तो उसने कोरोना प्रोटोकॉल का बहाना बनाते हुए रसीद देने से इनकार कर दिया।


लखनऊ (ब्यूरो)। विदेशी कंपनी में निवेश के नाम पर एक महिला सिपाही से जालसाज ने 10 लाख रुपये हड़प लिए। महिला सिपाही ने उसे आठ लाख कैश व दो लाख की ज्वैलरी दी थी। रुपये वापस मांगने पर जालसाज खुद को सपा नेता बताते हुए धमकाता रहा और झूठे मामले में सस्पेंड कराने की धमकी भी दी। महिला सिपाही ने इसकी शिकायत गोमतीनगर विस्तार थाने में की है। पुलिस सिपाही की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर जांच कर रही है।छूट के नाम पर करवाई इंवेस्टमेंट


इंस्पेक्टर गोमतीनगर विस्तार अनिल कुमार सिंह के अनुसार, लखनऊ पुलिस कमिश्नरेट में तैनात महिला सिपाही शीलम सिंह से साल 2020 में राहुल नाम के युवक ने मुलाकात के दौरान पॉलिसी में इंवेस्टमेंट करने को कहा और बताया कि अगर वो इंवेस्टमेंट करती है, तो उसे इनकम टैक्स में धारा 80 सी के तहत छूट मिलेगी और हर महीने एक्स्ट्रा पैसे भी मिलेंगे। मूलधन 16 प्रतिशत ब्याज के साथ वापस मिल जाएगा। महिला सिपाही ने राहुल के झांसे में आकर 8 लाख रुपये इंवेस्ट कर दिए। सिपाही ने जब राहुल से पॉलिसी के कागज मांगे, तो उसने कोरोना प्रोटोकॉल का बहाना बनाते हुए रसीद देने से इनकार कर दिया।नौकरी से हाथ धोने की दी धमकी

इंस्पेक्टर के मुताबिक, महिला सिपाही ने जब राहुल पर पॉलिसी के दस्तावेज और पैसे वापस मांगे तो राहुल ने कहा कि कंपनी घाटे में है, लेकिन उसे 2 लाख रुपये का लालच दिया, तो उसने पूरे पैसे वापस करने का भरोसा दिलाया। महिला ने पैसे न होने पर अपनी ज्वैलरी राहुल को दे दी, जिसे लेकर वह फरार हो गया। फोन करने पर वह खुद को समाजवादी पार्टी का नेता बताते हुए उसकी नौकरी छीन लेने की धमकी देता था।*************************************************जूस कार्नर में किशोर को पीटने का वीडियो हुआ वायरल

हजरतगंज में जूस कार्नर संचालक ने एक किशोर को दुकान में बंद कर पीट दिया। देर शाम इसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया, जिसके बाद पुलिस हरकत में आई। आनन-फानन में किशोर से मारपीट करने वाले दुकानदार को गिरफ्तार कर लिया गया। इंस्पेक्टर श्याम बाबू शुक्ल के मुताबिक, बहराइच निवासी मो। कफील पाकीजा जूस के नाम से दुकान चलाते हैं। मंगलवार को एक वीडियो सामने आया, जिसमें कफील के साथ एक किशोर नजर आ रहा था। किशोर के सिर से खून बहता दिख रहा था। सोशल मीडिया पर दावा किया गया कि कफील ने किशोर को दुकान में बंद कर पीटा है। इंस्पेक्टर के मुताबिक, पूछताछ में आरोपी ने बताया कि किशोर बिना बताए उसकी बाइक लेकर चला गया था। वापस आने पर वह कफील को देख हड़बड़ाहट में बाइक लेकर गिर पड़ा, जिससे उसे चोट लगी। कफील ने मारपीट किए जाने की बात से इनकार किया है। इंस्पेक्टर के मुताबिक, किशोर के पिता भी सूचना मिलने पर कोतवाली आ गए थे। उन्होंने कफील के खिलाफ तहरीर देने से मना कर दिया। इंस्पेक्टर के अनुसार, कफील के खिलाफ शांतिभंग करने की धारा में मुकदमा दर्ज किया गया है।

Posted By: Inextlive