'मेरी पत्नी को मार दो, सारा उधार माफ'

Updated Date: Thu, 25 Feb 2021 05:38 PM (IST)

पांच लाख का उधार माफ करने, साथ ही डेढ़ लाख रुपये और देने की हुई थी डॉक्टर से डील

डॉक्टर रजत ने संजय से उधार लिए थे पांच लाख रुपये, उसका ब्याज भी नहीं दे पा रहा था डॉक्टर

कर्ज उतारने को डॉक्टर ने एक महीने पहले तैयार कर लिया था प्लान

Meerutा हत्याकांड में सनसनीखेज खुलासा हो रहा है। चंदा की हत्या करने के लिए पति संजय ने अपने दोस्त डॉक्टर को डेढ़ लाख रुपये देने का लालच दिया था। इतना ही नहीं एक साल पहले जो पांच लाख रुपये संजय ने रजत को ब्याज पर दिए थे, उसको भी माफ कर दिया था। पूरी डील पांच लाख रुपये के साथ उसका ब्याज माफ और डेढ़ लाख रुपये देने के लिए तय हुई थी। इस लालच में आकर डॉक्टर ने चंदा को मौत के घाट उतार दिया और संजय का मकसद भी सीधा हो गया, लेकिन पुलिस के खुलासे में दोने धरे गए। एक महीना पहले प्लान तैयार हो गया था।

ब्याज नहीं दे पा रहा था डॉक्टर

रजत भारद्वाज ने करीब एक साल पहले संजय से पांच लाख रुपये पांच प्रतिशत प्रतिमाह पर ब्याज पर दिए थे। रजत भारद्वाज ब्याज के पैसे नहीं दे पा रहा था। न ही मूल दे पा रहा था। कई बार रजत से संजय ने तकादा भी किया, लेकिन उसको पैसे वापस नहीं दिए गए। इसके बाद संजय ने अपने मंसूबे में डॉक्टर को भी शामिल कर लिया। संजय ने डॉक्टर से पूरी रकम माफ करने के लिए कह दिया। हत्या करने के एक सप्ताह बाद डेढ़ लाख रुपये की रकम और देने के लिए कहा। डॉक्टर को भी लालच आ गया। अपने ऊपर से कर्ज का बोझ उतरने का लालच डॉक्टर को सलाखों के पीछे तक ले गया। उसने तय कर लिया कि वह उसकी पत्‍‌नी को मौत के घाट उतार देगा, लेकिन इसके बदले पैसे नहीं देगा। लालच में आकर पति और डॉक्टर ने मौत के घाट उतार दिया। हालांकि पुलिस के चंगुल में आरोपी फंस गए।

साली से भी होगी पूछताछ

पुलिस ने मृतका चंदा के भाई मोहित से बातचीत की। इंस्पेक्टर क्राइम राम संजीवन यादव ने मोहित से पूछा कि संजय का साली से कोई मिलना - जुलना तो नहीं था। इस पर भाई ने कहा कि बहन से कोई लेना-देना नहीं था। एक बार मैंने और बहन ने इसको डांट भी दिया था। हालांकि, पुलिस इस मामले में संजय की साली से भी बातचीत करेगी।

कनेक्शन तलाशेगी पुलिस

कॉल डिटेल और सीडीआर के जरिए पुलिस डॉक्टर रजत और संजय के बीच की बातचीत भी निकालेगी। फोन पर किस-किस समय कितनी देर इनकी आपस में बातचीत होती थी। इसके साथ ही संजय की अपने ससुराल में किस-किस से कितनी देर बात होती थी। इस बिंदु पर भी पुलिस अपनी जांच कर रही है, ताकि चार्जशीट में सभी बिंदु सामने आने के बाद कार्रवाई की जा सके।

वर्जन

रजत भारद्वाज ने पांच लाख रुपये की रकम ब्याज पर संजय से ली थी। जिसको उतार नहीं पा रहा था। संजय ने रजत को पांच लाख रुपये और ब्याज माफ करने के लिए कहा था। डेढ़ लाख रुपये हत्या के बाद तय करने के लिए कहा था। इनकी पूरी प्लानिंग फेल हो गई है। दोनों आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया।

अजय साहनी, एसएसपी, मेरठ।

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.