जागो साहब, शहर में न हो जाए छपाक

Updated Date: Sat, 16 Jan 2021 04:40 PM (IST)

शहर में खूब बिक रहा है एसिड, न आईडी मांगी और न रिकार्ड हो रहा मेनटेन

दैनिक जागरण आईनेक्स्ट टीम ने देखा शहर में धड़ल्ले से बिक रहा तेजाब

Meerut। महिला के ऊपर तेजाब उड़ेलने के मामले में तेजाब व्यापारी समेत छह लोगों पर आजीवन कारावास की सजा हो गई है, लेकिन अब भी खूब धड़ल्ले से तेजाब शहर में नियमों को ताक पर रखते हुए बेचा जा रहा है। दैनिक जागरण आईनेक्स्ट टीम ने शहर में तेजाब खरीदने निकली तो नियमों की धज्जियां उड़ती हुई दिखाई दी। शहर की दुकानों में बिना आईडी लिए खूब तेजाब बेचा जा रहा है। न तो इस पर पुलिस की कोई नजर है न ही प्रशासनिक अधिकारियों की। यह लापरवाही ही शहर में तेजाब कांड को न्योता दे देते है।

कोई रोक-टोक नहीं

यहां पर दुकानदार खुलेआम तेजाब बेच रहा है। वह किसी से कोई आईडी और रजिस्टर मेन टेन नहीं कर रहा है। जो भी आ रहा है उनको तेजाब बेचा जा रहा है, किसी भी प्रकार की कोई रोक-ठोक नहीं है। सिटी मजिस्ट्रेट को जिम्मेदारी दी थी कि वह सभी दुकानदारों का समय-समय पर निरीक्षण करते रहें कि वह नियमों का पालन कर रहे है या नहीं? लेकिन यहां पर दुकानदारों पर लगाम लगाने के लिए कोई भी चेकिंग नहीं की जा रही है। यही वजह है कि धड़ल्ले से तेजाब बेचा जा रहा है। दुकानदारों से बातचीत से यह तो तय है कि यहां पर तेजाब खरीदने वालों की न तो आईडी ली जा रही है न ही रिकॉर्ड मेनटेन किया जा रहा है। पूरी तरह से लापरवाही बरती जा रही है।

तेजाब बेचने के नियम

13 जुलाई 2013 को सुप्रीम कोर्ट ने आदेश जारी किया था कि खुलेआम कोई भी तेजाब नहीं खरीद सकेगा। इसके लिए नियमों का पालन करना अतिआवश्यक होगा। इसके अलावा तेजाब खरीदने से पहले लोगों को अपना फोटो पहचान पत्र भी दिखाना होगा, जिसमें उनके फोटो के अलावा, घर का पता और फोन नंबर मौजूद होगा। सरकार के इस नियमावली के मुताबिक नाबालिग बच्चे यानि 18 साल के कम उम्र के लड़के तेजाब नहीं खरीद पाएंगे। इस नियम का पालन कराने की जिम्मेदारी सिटी मजिस्ट्रेट को दी गई थी, लेकिन यहां पर कोई रजिस्टर और आईडी चेक नहीं हो रही है। नियमों की धज्जियां उड़ रही है।

बंसल किराना स्टोर लालकुर्ती

रिपोर्टर: भैया तेजाब है?

दुकानदार: हां भईया है।

रिपोर्टर: एक बोतल दे दीजिए।

दुकानदार: जी लीजिए तेजाब

रिपोर्टर: कितने की बोतल है?

दुकानदार: भैया तीस रूपये की।

रिपोर्टर: भैया कोई आईडी भी देनी है।

दुकानदार: नहीं भैया कोई आईडी नहीं देनी, आप ले लीजिए।

रतन प्रोविजन स्टोर

रिपोर्टर: भैया तेजाब की बोतल चाहिए।

दुकानदार: जी देते है भाई

रिपोर्टर: कितनी बोतल दे सकते हो

दुकानदार: भैया स्टाक में पांच बोतल है, उतनी दे सकते है।

रिपोर्टर: कितने की बोतल है?

दुकानदार: भैया तीस रूपये की बोतल है।

रिपोर्टर: भैया यहां आईडी भी देनी होती है?

दुकानदार: नहीं भैया यहां कोई आईडी नहीं देनी है। आप ले लीजिए।

यह है पुराने चर्चित मामले

22.11.2018 को परतापुर के हवाई पट्टी के पास महिला पर बदमाशों ने तेजाब उड़ेल दिया था, जिससे युवती का चेहरा झुलस गया था।

24.9.16 को इंचौली के कुनकुरा गांव में 12वीं की छात्रा पर तेजाब फेंक दिया गया था। जिससे छात्रा झुलस गई थी।

23.9.2016 को देहली गेट क्षेत्र पूर्वा महावीर में स्कूटी सवार दूध व्यापारी को पुलिस से मुखबिरी करने के शक में आधा दर्जन हमलावरों ने तेजाब से नहला दिया था। दूध व्यापारी पूरा झुलस गया था।

30.6.2016 को फलावदा कस्बे में बातनौर रोड स्थित मकान में युवती और उसकी दो भाभियों पर तेजाब उड़ेल दिया गया था।

13.5.2019 को कंकरखेड़ा के शिवलोक पुरी में थाना क्षेत्र की शिवलोकपुरी कालोनी में मामूली विवाद पर पुत्रवधू ने सास से मारपीट कर उस पर तेजाब फेंक दिया था। इससे महिला के शरीर का कुछ हिस्सा झुलस गया।

यदि तेजाब बेचने के लिए नियम फॉलो नहीं हो रहा है तो गंभीर मामला है। शहर में सभी रजिस्टरों को चेक किया जाएगा।

सत्येंद्र कुमार सिंह, सिटी मजिस्ट्रेट, मेरठ

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.