एक्टिव केस बढ़ा सकते हैं संकट

Updated Date: Mon, 24 Aug 2020 04:28 PM (IST)

जिले के आधे से ज्यादा अस्पतालों के बेड हुए फुल

स्वास्थ्य विभाग का दावा, मरीजों को नहीं होगी कोई समस्या

Meerut। कोविड-19 का प्रकोप दिनो दिन बढ़ रहा है। एक्टिव केसेज की संख्या भी दिनों-दिन बढ़ रही है। ऐसे में जहां आधे से ज्यादा अस्पतालों के फुल होने का संकट खड़ा हो गया है, वहीं मरीजों के इलाज से संबंधित सुविधाओं को लेकर भी समस्या पैदा हो सकती हैं। हालांकि स्वास्थ्य विभाग का दावा है कि सभी इंतजाम पूरे हैं। मरीजों को किसी प्रकार की समस्या नहीं होने दी जाएगी। जिले में अब 550 से ज्यादा एक्टिव केस हो चुके हैं।

ये है रणनीित

सीएमओ डॉ। राजकुमार ने बताया कि फिलहाल एक्टिव सर्विलांस कर सघन कांटेक्ट ट्रेसिंग और उसी के अनुसार सैंपल लेकर अधिक से अधिक लोगों की जांच की जा रही है। पॉजिटिव मरीज के संपर्क में आए सभी लोगों की चेन बनाकर उन्हें ढूंढा जाता है और सभी व्यक्तियों की प्राथमिकता के आधार पर जांच की जाती है। विभाग की कोशिश यही है कि कोरोना की चेन को बीच में ही ब्रेक किया जाए।

ये है स्थिति

06 कोविड अस्पताल फिलहाल कार्यरत हैं।

02 अस्पताल एल-3 फैसिलिटी के हैं।

03 अस्पताल एल-2 फैसिलिटी के हैं।

01 अस्पताल एल-1 फैसिलिटी का है।

सभी फैसिलिटी में कुल 115 आईसीयू बैड एवं 78 वैंटीलेटर उपलब्ध है।

प्राइवेट में फैसिलिटी

आनंद अस्पताल - 100 बैड

प्राइवेट मेडिकल कॉलेज - 40 बैड

मुलायम सिंह यादव मेडिकल कॉलेज - 20 बैड

स्वास्थ्य विभाग के पास रिजर्व - 1240 बैड

आवश्यकता पड़ने पर बढ़ाया जा सकता है - 5590 बैड तक

3133 - कोविड-19 मरीज अब तक मिल चुके हैं, इनमें 1359 नए केस मिले हैं।

1774 - मरीज कांटेक्ट में आने से संक्रमित हुए हैं।

106 - मरीज फिलहाल शासन से प्राप्त दिशा-निर्देशों के तहत होम आईसोलेशन में रह चुके हैं।

547 - एक्टिव केस हैं।

107 - मृतकों की कुल संख्या है।

137907 - व्यक्तियों की जांच 21 अगस्त तक की जा चुकी है।

75507 - जांच एंटीजन रेपिड टेस्ट किट से हुई हैं।

61022 - जांच आरटीपीसीआर से हुई हैं।

1322 - सैंपल ट्रूनॉट से लिए गए हैं।

56 - सैंपल सीबी नॉट द्वारा लिए गए हैं।

71 - का होम आइसोलेशन पूरा हो चुका है।

803 - टीमों का गठन किया गया है घर-घर सर्वे में।

मरीजों को किसी प्रकार की परेशानी नहीं होने दी जाएगी। हमारे पास पूरा सेटअप हैं। लगातार संसाधनों को बढ़ाने का प्रयास किया जा रहा है। हालात पूरी तरह से कंट्रोल में हैं।

डॉ। राजकुमार, सीएमओ, मेरठ

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.