महिलाओं की पसंद लाइट वेट ज्वैलरी

- ज्वैलरी मार्केट में बूम, मनपसंद आर्टीकल के लिए मारामारी

- मेरठ के प्रमुख सर्राफा बाजारों में बढ़ रही त्योहार की हलचल

Meerut: सदर सर्राफा बाजार हो या आबूलेन की मार्केट, शहर की सबसे पुरानी नील गली हो, वैली बाजार हो या अंचल में स्थित कंकरखेड़ा ज्वैलरी मार्केट हर जगह त्योहार की चहलकदमी नजर आ रही है। ज्वैलर्स शॉप पर गोल्ड के बेहतर आर्टिकल मौजूद हैं। सोने के महंगे और आकर्षक आभूषण ऑन डिमांड तैयार किए जा रहे हैं।

सोने के डायगलर्स बने पसंद

सरूप चंद्र ज्वैलर्स सदर बाजार के ऑनर रोहित जैन बता रहे हैं कि इस बार महिलाएं और युवतियां सोने के महंगे डायगलर्स पसंद कर रही हैं। टैंपल ज्वैलरी का चलन बढ़ा है तो वहीं नेकलेस सेट के बजाय वूमैन चांद वाले पसंद कर रही हैं। हैवी रिंग मेल की पसंद है। थाईलैंड की गोल्डन की ज्वैलरी का क्रेज यूथ में है।

लाइट वेटेड एंटीक ज्वैलरी चलन में

शहर सर्राफा स्थित धर्मा ज्वैलर्स के ऑनर निखिल जैन का कहना है कि रेडियम पॉलिश के साथ मुंबई के गोल्ड नेकलेस सेट डिमांड में हैं।

बाजारों में बढ़ रही रौनक

शहर सर्राफ स्थित रघुनंदन प्रसाद सर्राफ के ऑनर रवि प्रकाश का कहना है कि त्योहार के सीजन को लेकर सर्राफा बाजार में रौनक बढ़ रही है। खासकर लाइट वेट गोल्ड ज्वैलरी की डिमांड बढ़ी है। दुर्गा मां की पेंडेन्ट ज्वैलरी यूथ में डिमांड है।

-----

गोल्ड ट्रेंड

गोल्ड का ट्रेंड तो एवरग्रीन है। टाइम के साथ अगर कुछ चेंज होता है, तो वो हैं उनकी डिजाइंस। इन दिनों कंटेंपरेरी डिजाइंस ज्यादा ट्रेंड में हैं फिर वो चाहे हेवी गोल्ड ज्वैलरी हो या फिर लाइट। बढ़ते गोल्ड प्राइसेज की वजह से इन दिनों लाइट वेट गोल्ड ज्वैलरी पर मेकर्स और बायर्स का फोकस ज्यादा रहता है। इनमें भी कस्टमर्स के पास ढेरों ऐसी डिजाइंस के ऑप्शंस मौजूद हैं जिनमें से सिलेक्ट करना थोड़ा मुश्किल हो सकता है। 22 कैरेट गोल्ड ज्वैलरी के अलावा 18 कैरेट और यहां तक कि 14 कैरेट गोल्ड ज्वैलरी भी लोगों को काफी अटै्रक्ट कर रही है।

गोल्ड फैक्ट्स

- प्योर गोल्ड 24 कैरेट का होता है पर क्योंकि यह बहुत सॉफ्ट होता है इसलिए इसे पहनने लायक बनाने के लिए इसे कॉपर जैसे मेटल के साथ मिक्स करके इसकी ज्वैलरी बनाई जाती हैं।

- रोज गोल्ड ज्वैलरी के लिए गोल्ड ज्वैलरी में कॉपर को मिक्स करके इसे पिंकिश कलर दिया जाता है।

- ऐसा माना जाता है कि धरती का 80 परसेंट गोल्ड अभी भी अंडरग्राउंड ही है।

- साउथ अफ्रीका गोल्ड का हाइएस्ट प्रोड्यूसर माना जाता है लेकिन अब चाइना भी सबसे ज्यादा गोल्ड प्रोड्यूस करने वाले देशों में शामिल हो गया है।

- एक आउंस गोल्ड को बीट करके 100 स्क्वेयर फीट की शीट में कंवर्ट किया जा सकता है।

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.