जलभराव होने पर नपेंगे अफसर

Updated Date: Fri, 03 Jul 2020 03:36 PM (IST)

नगर निगम में विभिन्न अनुभागों के कार्यो की समीक्षा के लिए आयोजित की गई बैठक

जलभराव, गाडि़यों के डीजल, भूमिगत जल टेस्टिंग से लेकर गऊशाल के मुद्दों पर हुआ मंथन

Meerut । नगर निगम के विभिन्न अनुभागों की कार्य समीक्षा बैठक के दौरान महापौर सुनीता वर्मा ने कहा कि नाला साफ न होने के चलते अगर कहीं जलभराव हुआ तो अधिकारियों पर एक्शन के लिए शासन को लिखा जाएगा। नगर निगम की गाडि़यों में खर्च हो रहे डीजल को लेकर भी उन्होंने सख्त रवैया अपनाया। कहा, जीपीएस से मिलान के बाद ही डीजल का भुगतान किया जाएगा।

आपूíत में होगा सुधार

नगरायुक्त अरविंद चौरसीया की अध्यक्षता में आयोजित समीक्षा बैठक में महापौर सुनीता वर्मा ने जलकल अनुभाग के सहायक अभियन्ता अशोक कुमार से पूछा कि जलकल अनुभाग द्वारा वर्तमान बोर्ड के कार्यकाल में कितने कार्य कराये गये हैं। इस पर सहायक अभियंता ने बताया कि माह-अप्रैल-2020 से अब तक रिकार्ड तैयार करा कर दिया गया हैं और बाकि पुराने कार्यो की प्रगति रिर्पोट जल्दी महापौर कार्यालय को भेज दी जाएगी। इसके बाद महापौर ने सहायक अभियन्ता जल से सबमíसबल 10 एचपी से दोहन किये जा रहे पानी की वार्डवार टेस्टिंग की जानकारी ली। सहायक अभियन्ता ने बताया कि अभी यह काम शुरु नही किया गया है। इस पर महापौर ने नाराजगी जाहिर करते हुए एक माह के अंदर वार्डो लगे सभी 10 एचपी सबमíसबल पम्पो के पानी की टेस्टिगत कराने के आदेश दिए। महापौर ने जलकलअनुभाग को यह भी निर्देशित किया कि गर्मी का मौसम चल रहा हैं इसलिए अधिक से अधिक प्रयास करके जनता को पर्याप्त मात्रा में पेयजल की आपूíत करायी जाये।

जलभराव हुआ तो होगी कार्यवाही

स्वास्थ्य अनुभाग की समीक्षा करते हुए महापौर ने नगर स्वास्थ्य अधिकारी से महानगर में नालों की सफाई की स्थिति की जानकारी ली। इस पर नगर स्वास्थ्य अधिकारी ने बताया कि नाला सफाई का काम चल रहा है और इस बार प्रयास किया जा रहा हैं कि शहर में कहीं भी जल भराव न हो। इस पर महापौर ने सख्त निर्देश दिये कि यदि इस बार किसी भी क्षेत्र में नाला सफाई न होने के कारण जलभराव हुआ तो संबंधित अधिकारियो के विरूद्ध कार्रवाई के लिए शासन को लिखा जाएगा। क्योंकि इस बार जनवरी से नाला सफाई का काम बारिश से पहले पूरे करने के निर्देश दिए जा रहे हैं।

जीपीआरएस से होगा मिलान

महापौर ने मुख्य वित्त अधिकारी को निर्देश दिये कि नगर निगम के वाहनो में डलवाये जा रहे तेल का भुगतान लेखा विभाग द्वारा जीपीआरएस और तेल की पर्ची के प्रतिदिन के मिलान के बाद ही किया जाए। नगर आयुक्त द्वारा इसका कडाई से अनुपालन कराने और जीपीआरएम रिर्पोट पर प्रतिदिन नगर स्वास्थ्य अधिकारी से सत्यापन कराने के आदेश दिए।

न हो चारे पानी की कमी

बैठक में गऊशाला की समीक्षा करते हुए महापौर ने सहायक नगर आयुक्त से गऊशाला में गायो के लिए चारा-पानी की व्यवस्था की जानकारी लेते हुए कहा कि बरसात को देखते हुए भूसे आदि को सुरक्षित किया जाए। इस पर सहायक नगर आयुक्त ने बताया कि गऊशाला में गायों को पर्याप्त चारा और पानी उपलब्ध कराया जा रहा हैं। भूसे को स्टोर करने के लिए बरसात शुरू होने से पहले ही काम पूरा करा लिया जाएगा। वहीं गावड़ी प्लांट की समीक्षा करते हुए महापौर ने प्लांट का काम पूरा ना होने पर नाराजगी जताई। इस पर नगर आयुक्त ने बताया कि शासन को डीपीआर भेजी गई है। जल्द ही शासन से स्वीकृति प्राप्त होने पर काम पूरा करा दिया जाएगा।

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.