टमाटर की राह पर प्याज

Updated Date: Tue, 01 Aug 2017 07:41 AM (IST)

- बारिश में बाहरी प्रदेशों से प्याज की सप्लाई हुई कम

- इस कारण कीमत में 35 से 40 तक का इजाफा

मेरठ। टमाटर के बाद अब प्याज आम जन की आंख में आंसू लाने को तैयार है। प्याज के लगातार बढ़ते भाव के कारण घर की रसोई से लेकर आम आदमी की जेब का बजट बिगड़ने जा रहा है। हालत यह है कि एक सप्ताह में प्याज के दाम में 10 से 15 रुपए का इजाफा हुआ है और मंडी में प्याज की आवक देखते हुए यह कहना गलत नही होगा कि अभी प्याज के दाम ओर बढेंगे।

एमपी की प्याज

दरअसल मेरठ की सब्जी मंडी में राजस्थान, मध्यप्रदेश और नासिक से प्याज का आयात होता है। गत माह सरकार ने अपनी योजना के तहत एमपी के किसानों से सरकारी दरों पर प्याज खरीदकर स्टोर कर ली लेकिन बारिश के कारण लगभग आधी प्याज खराब हो गई। जिस कारण से एपमी से आने वाली प्याज की सप्लाई बंद हो गई और प्याज की कमी से दाम में इजाफा हो रहा है। अब मेरठ में प्याज का आयात पूरी तरह से राजस्थान और नासिक पर निर्भर है।

30 रुपए किलो

-15 से 20 रुपए किलो थे गत सप्ताह प्याज के दाम

-10 से 15 रुपए प्रति किलो बढ़ गए एक सप्ताह दाम में दाम

- मंडी में रखा हुआ है इस सप्ताह का स्टॉक

- 50 रुपए किलो तक पहुंच सकता है प्याज का दाम

फैक्ट-

- 100-125 टन प्याज की रोजाना नवीन मंडी में है खपत

- सबसे अधिक एमपी और नासिक की प्याज की सप्लाई

- गत एक सप्ताह में प्याज के दाम में 10 से 15 रुपए का इजाफा

शहर में प्याज के दाम-

मोहल्ला गत सप्ताह अब

कंकरखेड़ा 15-20 25

गंगानगर 15-18 30-35

शास्त्रीनगर 20-25 30-35

फूलबाग 15-20 25-30

शारदा रोड 20 20-25

टीपीनगर 15 20-25

जागृति विहार 15-20 30-35

(भाव प्रति किलोग्राम में)

वर्जन-

बारिश के कारण एमपी से आने वाली प्याज खराब हो गई है, जिस कारण से प्याज की आमद मे फर्क पड़ा है। इसलिए प्याज के दाम में इजाफ हो रहा है।

- अशोक प्रधान, अध्यक्ष सब्जी मंडी

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.