विरोध तेज, गावड़ी में भी नहीं डल सका कूड़ा

Updated Date: Wed, 29 Aug 2018 06:00 AM (IST)

गावड़ी डंपिंग ग्राउंड से नगरायुक्त को मिली निराशा

अधिकारियों को ग्रामीणों की नहीं मिल सकी सहमति

Meerut। कूड़ा निस्तारण की व्यवस्था नगर निगम के लिए भारी परेशानी का सबब बनती जा रही है। मंगतपुरम के बाद अब गावड़ी भी नगर निगम के हाथ से निकलता जा रहा है। गत दो सप्ताह से गावड़ी में कूड़ा डालने के लिए ग्रामीणों की मिन्नत में जुटे निगम को ग्रामीणों की सहमति नही मिल पा रही है। इस मामले में मंगलवार को खुद गावड़ी पहुंचे नगरायुक्त को ग्रामीणों ने खाली हाथ वापस लौटा दिया। वहीं पुलिस से भी नगरायुक्त को फोर्स ना मिल पाने के कारण मंगलवार को भी गावड़ी में कूड़ा नही डल सका।

नगरायुक्त हुए बेबस

गावड़ी में मंगलवार को नगरायुक्त मनोज चौहान और नगर स्वास्थ्य अधिकारी डॉ। कुंवर सेन ने ग्रामीणों से बात कर समझौते का प्रयास किया लेकिन ग्रामीणों ने कूड़ा डालने पर असहमति जताते हुए साफ इंकार कर दिया। कूड़ा जबरन डालने की बात पर ग्रामीणों और नगरायुक्त के बीच जमकर नोंकझोंक हुई बाद में नगरायुक्त को खाली हाथ वापस जाना पड़ा। इसके बाद थाना पुलिस से फोर्स की मांग पर नगरायुक्त को फोर्स नही मिल सकी जिसके कारण कूड़ा नही डल सका।

कूड़े का ढेर

कूड़ा निस्तारण की समस्या के कारण नगर निगम की गाडि़यां कूडे़ से लदी डिपो में खड़ी सड़ रही हैं। कूडे की बदबू और बीमारियों की आशंका के चलते दिल्ली रोड डिपो और सूरजकुंड डिपो के प्रभारियों ने नगर स्वास्थ्य अधिकारी को पत्र लिखकर जल्द से जल्द गाड़ी खाली कराने की मांग की है।

कूड़ा निस्तारण को लेकर प्रयास चल रहा है। प्रशासन से मदद मांगी गई है कई अन्य विकल्प पर भी विचार चल रहा है। जल्द निस्तारण होगा।

डॉ। कुंवर सेन, नगर स्वास्थ्य अधिकारी

निगम की व्यवस्थाएं महज हवाई योजनाओं पर निर्भर हैं इसलिए आज शहर को इस समस्या से जूझना पड़ रहा है।

नवाब भड़ाना

यदि समय रहते निगम कूड़ा निस्तारण की कोई सही योजना बना लेता तो कूडे़ का ढेर न लगता। अब इतना अधिक कूड़ा एक साथ डंप करना मुश्किल काम है।

विनय

निगम को इस समस्या से निजात के लिए जल्द से जल्द कोई नई जगह तलाशनी होगी वरना शहर का हालत अधिक नर्क हो जाएगा।

सुयोग्य

आज से होगा डोर टू डोर कूड़ा कलेक्शन

नगर निगम की डोर टू डोर कूड़ा कलेक्शन की पॉलिसी की इस साल दूसरी बार शुरुआत होने जा रही है। बुधवार को यूनिवर्सिटी में आयोजित कार्यक्रम में सांसद राजेंद्र अग्रवाल 20 वार्र्डो के लिए डोर टू डोर कूड़ा कलेक्शन समेत ऑनलाइन हाउस टैक्स की व्यवस्था का शुभारंभ करेंगे। इस कार्यक्रम में महापौर सुनीता वर्मा की अनदेखी से एक बार फिर नगरायुक्त और महापौर के बीच का विवाद सामने आ गया है।

महापौर को किया दरकिनार

चर्चा है कि कार्यक्रम में महापौर को पदानुसार तवज्जो नहीं दी गई है। शहर का प्रथम नागरिक होने के नाते महापौर से योजनाओं का शुभारंभ कराने के बजाए सांसद से शुभारंभ कराया जा रहा है। हालांकि, महापौर को इस कार्यक्रम में बुलाया गया है, लेकिन उनके पद के अनुसार सम्मान ना दिए जाना निगम में चर्चा का विषय बना हुआ है।

स्वच्छता गीत से शुरुआत

इस बार निगम डोर टू डोर कलेक्शन के साथ शहर के लोगों को स्वच्छता के प्रति जागरुक करने के लिए स्वच्छता गीत का प्रयोग भी करेगा। प्रत्येक वार्ड में कूड़ा कलेक्शन के लिए जाने वाली गाडि़यों में 'स्वच्छ भारत का इरादा कर लिया हमने' गीत बजाकर लोगों को स्वच्छता के प्रति सजग किया जाएगा।

इन वार्डो से उठेगा कूड़ा

वार्ड 1, 4, 8, 14, 16, 17, 20, 26, 27, 32, 35, 37, 44, 49, 50, 51, 52, 58, 67, 72.

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.