बिना मतदान, चुनाव आसान

Updated Date: Tue, 08 Sep 2020 08:20 AM (IST)

नगर निगम में कार्यकारिणी चुनाव को लेकर दिखी सियासी समरसता

भाजपा और बसपा खेमे से चुने गए तीन-तीन सदस्य, 9 सदस्यों में से 3 सदस्यों का पर्चा हुआ निरस्त

Meerut। कोरोना काल में लंबे इंतजार के बाद आखिरकार नगर निगम कार्यकारिणी का चुनाव सोमवार को निर्विरोध संपन्न हो गया। कार्यकारिणी के 6 सदस्यों के चुनाव के लिए 9 सदस्यों ने पर्चा दाखिल किया, जिसमें से छह सदस्यों का चुनाव किया गया। खास बात रही कि किसी भी प्रकार के विवाद और कोरोना संक्रमण को देखते हुए मतदान की लंबी प्रक्रिया से बचने के लिए भाजपा और मेयर पक्ष के बसपा खेमे से तीन-तीन सदस्यों को आपसी सहमति से चयनित कर लिया गया। यह छह से अधिक प्रत्याशी अपने लिए दावेदारी करते तो मतदान कराया जाता, लेकिन दोनो पक्षों की सहमति तीन तीन सदस्यों का चयन किया गया।

चार घंटे चली प्रक्रिया

नगर निगम कार्यकारिणी के लिए सुबह नौ बजे प्रक्रिया को शुरु किया गया था। निर्धारित शेडयूल के अनुसार सुबह नौ बजे से नामांकन पत्र के बाद 12 बजे तक नामांकन पत्र वापसी फिर 2 बजे से मतदान के बाद शाम पांच बजे तक मतदान के बाद रिजल्ट घोषित किया जाना था। लेकिन इस लंबी प्रक्रिया के बचते हुए नामांकन के बाद सीधा प्रत्याशियों का चयन कर चार घंटे में पूरी चुनाव प्रक्रिया का संपन्न करा दिया गया। दोनो पक्षों की रजामंदी के चलते नगर निगम टाउन हॉल में नामांकन पत्र दाखिल करने की प्रक्रिया के बाद छह सदस्यों का निíवरोध चयन कर लिया गया। कुल नौ सदस्यों ने पर्चा दाखिल किया था। इनमें भाजपा महानगर संगठन की ओर से पार्षद ललित नागदेव, पार्षद विपिन जिंदल, पार्षद सुनीता प्रजापति और पार्षद संदीप रेवड़ी समेत मेयर खेमे के साथ सर्वदलीय पार्षद संगठन की ओर से पांच पार्षद जिनमें अब्दुल गफ्फार, सितारा बेगम, प्रदीप वर्मा, रविंद्र कुमार और पार्षद रंजन शर्मा का नाम शामिल था। इन सभी प्रत्याशियों ने नामांकन फार्म भरे थे। इनमें से तीन सदस्य प्रदीप वर्मा, रविंद्र कुमार और विपिन जिंदल का पर्चा निरस्त कर दिया गया।

निíवरोध हुआ चयन

चुनाव प्रक्रिया में इस बार दोनो खेमों में आपसी टकराव की स्थिति न बने और दोनों खेमों के सदस्यों को कार्यकारिणी में जगह मिल जाए। इसलिए चुनाव से एक रात पहले ही आपसी सहमति से दोनो पक्षों ने अपने चार-चार सदस्यों का नाम तय कर लिए थे। इनमें से तीन-तीन सदस्यों को बिना मतदान के ही चयनित कर लिया। चयनित सदस्यों में भाजपा के ललित नागदेव, सुनीता प्रजापति और संदीप रेवडी समेत बसपा खेमे के अब्दुल गफ्फार, रंजन शर्मा ओर सितारा बेगम को कार्यकरिणी का सदस्य चयनित किया गया। मेयर सुनीता वर्मा और नगरायुक्त अरविंद चौरसीया ने सभी चयनित सदस्यों को सíटफिकेट देकर सम्मानित किया।

मतदान पर कोरोना का असर

कार्यकारिणी चुनाव में 90 वार्डो के पार्षद समेत 8 जनप्रतिनिधियों की तरफ से मतदान किया जाना था। लेकिन नगर निगम के एक पार्षद कुलदीप को कोरोना पॉजिटिव होने के कारण मतदान में शामिल नही किया जा सका। हालांकि नगर निगम की तरफ से संक्रमित पार्षद के लिए किट उपलब्ध करा दी गई थी, लेकिन बावजूद अन्य पार्षदों ने इसका विरोध कर दिया। इसके चलते 90 के बजाए 89 पार्षदों की तरफ से मतदान तय किया गया था। लेकिन आपसी सहमति के बाद तीन तीन सदस्यों का बिना मतदान चयन कर लिया गया। मतदान नहीं हुआ, इसलिए सांसद, विधायक भी शामिल नही हुए। हालांकि बाद में मुकुंदी देवी धर्मशाला में आयोजित भाजपा सदस्यों के सम्मान कार्यक्रम में सांसद शामिल हुए। बसपा खेमे की तरफ से पूर्व विधायक योगेश वर्मा टाउन हॉल में मौजूद रहे थे।

कार्यकारिणी के लिए चयनित सदस्य

ललित नागदेव

संदीप रेवड़ी

सुनीता प्रजापति

अब्दुल गफ्फार

सितारा बेगम

रंजन शर्मा

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.