रेलवे ने तैयार किए नए आइसोलेशन कोच

Updated Date: Wed, 22 Jul 2020 12:02 PM (IST)

सिटी स्टेशन पर नए आइसोलेशन कोच का निर्माण हुआ पूरा

मुख्यालय से आर्डर आने पर इन्हें किया होंगे रवाना

Meerut। तेजी से फैलती महामारी कोरोना वायरस से निपटने के लिए ट्रेनों के कोचों को आइसोलेशन वार्ड के रूप में बदलने का काम तेजी से जारी है। अप्रैल माह में मेरठ रेलवे सेक्शन में पांच आइसोलेशन कोच तैयार कर दिल्ली भेजे गए थे। इसके बाद जून माह में दोबारा पांच ओर कोच बनाने का आर्डर मुख्यालय से मिला था। जिसके बाद पांच नए आइसोलेशन कोच रेलवे सेक्शन ने तैयार कर सिटी स्टेशन पर खडे़ कर दिए हैं। जैसे ही दिल्ली मुख्यालय से डिमांड आएगी इनको भी रवाना कर दिया जाएगा। हालांकि अभी कोच में मेडिकल इक्यूपमेट लगाने का काम दिल्ली में पूरा किया जाएगा। आइसोलेशन के लिए तैयार किए गए कोच के बेसिक डिजाइन से लेकर शौचालय तक के डिजाइन में भी बदलाव किया गया है।

शुरुआत में सिटी स्टेशन के कैरेज एंड वैगन विभाग को पांच कोच आइसोलेशन वार्ड में बदलने का आदेश दिया था।

अप्रैल माह में यह काम शुरु हुआ था, जिसके बाद इन्हें मुख्यालय की मांग पर मई में दिल्ली भेज दिया गया।

अब दोबारा मेरठ को यहा काम दिया गया। विभागीय कर्मचारियों ने काम करना शुरू कर दिया था।

इसके तहत पांच आइसोलेशन कोच तैयार किए गए हैं। इनमें बीच की बर्थ को हटा दी गई है।

कोच में दो बेड के बीच एक वेंटीलेटर लगाने की जगह बनाई गई है। प्रत्येक कोच में करीब 8 वेंटीलेटर की सुविधा मरीजो को मिलेगी।

यही नहीं कोच के टॉयलेट्स से लेकर इलेक्ट्रिक सिस्टम को भी अपडेट किया गया है।

मच्छरों और धूल मिटटी से बचाव के लिए खिडकियों पर जाली लगाई गई है।

इमरजेंसी अलार्म और मेडिकल उपकरण लगाने के लिए भी जगह बनाई गई है।

एक कोच में कम से कम 8 और अधिकतम 16 मरीजों को इलाज दिया जा सकेगा।

80 मरीजों को इन पांच आइशोलेशन कोच में इलाज मिल सकेगा।

एक कोच के एक केबिन में दो मरीजों को एक साथ रखा जा सकता है।

दिल्ली रेलवे इनमें ऑक्सीजन सिलेंडर, मेडिकल किट, वेंटिलेटर आदि सभी लगाकर तैयार करेगा।

कोरोना मरीजों के इलाज के लिए मुख्यालय से पांच कोच बनाने के दोबारा निर्देश मिले थे। हमने कोच तैयार कर दिए हैं जब आदेश आएगा इनको रवाना कर दिया जाएगा। कोच में साफ-सफाई से लेकर बेड और टॉयलेट्स को अपडेट किया गया है। इससे पहले पांच कोच तैयार कर दिल्ली भेज दिए थे।

एसके गुप्ता, सीनियर सेक्शन इंजीनियर

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.