रैपिड रेल का काम चलेगा और ट्रैफिक भी

Updated Date: Fri, 30 Oct 2020 02:08 PM (IST)

एनसीआरटीसी की प्रोजेक्ट रिपोर्ट ट्रैफिक पुलिस के सामने पेश

Meerut : रैपिड रेल निर्माण कार्य दिवाली के बाद से शहर के अंदर दिल्ली रोड पर होगा। इस दौरान, ट्रैफिक न थमे और जाम न लगे, इसकी तैयारी कर ली गई है। इस बारे में यूएमटीसी (अर्बन मास ट्रांसपोर्ट कंपनी) ने गुरुवार को दिल्ली रोड की प्रोजेक्ट रिपोर्ट यातायात पुलिस के सामने पेश की।

तीन हिस्सों में काम

मोहिउद्दीनपुर से मोदीपुरम तक के काम को तीन हिस्सों में निपटाने का निर्णय लिया गया है। इस दौरान दिल्ली रोड पर केवल भारी वाहनों पर पूरी तरह रोक रहेगी। पहले आशंका जताई जा रही थी कि शहर के अंदर रैपिड रेल के भूमिगत ट्रैक बिछने की वजह से दो वर्ष तक दिल्ली रोड के उक्त हिस्से पर आवाजाही पूरी तरह से ठप रहेगी।

बाकी रहेगी सड़क

यूएमटीसी (अर्बन मास ट्रांसपोर्ट कंपनी) ने दिल्ली रोड की प्रोजेक्ट रिपोर्ट यातायात पुलिस के सामने पेश की है, जिसमें बताया गया कि यातायात संचालन के लिए दिल्ली रोड पर चार से छह मीटर की सड़क दी जाएगी। जहां पर पुल निर्माण का कार्य होगा। वहां पर सिर्फ एक साइड ही सड़क दी जाएगी। यात्री बस, ट्रक और अन्य भारी वाहनों को दिल्ली रोड से प्रवेश नहीं दिया जाएगा।

हुई बैठक

आरआरटीएस कारिडोर के निर्माण कार्य के दौरान शहर के अंदर यातायात व्यवस्था सुचारू रखने के लिए एनसीआरटी के पदाधिकारियों के साथ बैठक की गई, जिसमें दिल्ली रोड की प्रोजेक्ट रिपोर्ट पेश की गई। उसमें दिखाया गया कि दिल्ली रोड पर परतापुर से लेकर मोदीपुरम तक तीन हिस्सों में निर्माण कार्य किया जाएगा। बैठक में एनसीआरटी के चीफ इंजीनियर पंकज त्यागी, सुपरिटेडेंट इंजीनियर शलील श्रीवास्तव, डिप्टी इंजीनियर अंकित चौहान, डिप्टी चीफ इंजीनियर पवन कुमार, एग्जीक्यूटिव इंजीनियर गौरव चौधरी के साथ यातायात पुलिस की पूरी टीम थी।

एक सप्ताह में मांगा सुझाव

एनसीआरटी की इस रिपोर्ट पर यातायात पुलिस को भी सुझाव के लिए एक सप्ताह का समय दिया है। उसके बाद ही फाइनल टच दिया जाएगा। इस बारे में एसपी ट्रैफिक जितेंद्र श्रीवास्तव ने कहा कि तीन हिस्सों में निर्माण कार्य होने से यातायात कुछ स्थान पर ही प्रभावित होगा। यातायात को और सुगम बनाने के लिए विचार विमर्श भी किया जा रहा है।

ऐसे शुरू होगा निर्माण कार्य :

पहला चरण :

परतापुर के शताब्दीनगर से ब्रह्मापुरी स्टेशन तक एलिवेटेड बनाया जाएगा।

द्वितीय चरण :

मेरठ सेंट्रल, भैंसाली बस स्टैंड, बेगमपुल टैक चौराहे तक मार्ग भूमिगत रहेगा।

तृतीय चरण :

टैंक चौराहे से मोदीपुरम तक एलिवेटेड बनाया जाएगा।

-------------

ये रहेगा भारी वाहनों का रूट

-ट्रांसपोर्ट नगर में आने वाले ट्रकों को दिल्ली रोड के बजाए, दिल्ली हाईवे से बागपत फ्लाइओवर के नीचे से बागपत रोड से ट्रांसपोर्ट नगर लाया जाएगा। यानि दिल्ली रोड पर उनका प्रवेश प्रतिबंध होगा।

-दिल्ली और देहरादून से आने वाली रोडवेज की बसों को कंकरखेड़ा से शहर में प्रवेश दिया जाएगा। वहां से रजबन होते हुए भैंसाली बस स्टैंड पर निकाला जाएगा।

-सोहराब गेट बस स्टैंड पर जाने वाली बसों को कंकरखेड़ा से टैंक चौराहे पर निकाल कर विवि रोड से बस स्टैंड पर पहुंचाया जाएगा।

-बेगमपुल से अंबाला बस स्टैंड और सिविल लाइन थाने के पास से मवाना बस स्टैंड को शहर के बाहर शिफ्ट किया जाएगा।

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.