किराना स्टोर संचालक ने रची थी मुंशी से लूट की साजिश

Updated Date: Sat, 29 Aug 2015 06:02 PM (IST)

सुहेल के घर बनी लूट की फुलप्रुफ प्लानिंग

साथियों के साथ मिलकर दिया लूट की सनसनी वारदात को अंजाम

क्राइम ब्रांच ने छह बदमाशों को उज्जव गार्डन तिराहे से किया गिरफ्तार

 

Meerut: 18 अगस्त को जगदीश प्रसाद एंड संस कंपनी के मुंशी से फायरिंग के बाद लूट की घटना का मास्टरमाइंड कोई और नहीं। बल्कि कंपनी का ही एक कस्टमर निकला। उसने पांच दोस्तों के साथ मिलकर फुलप्रुफ प्लानिंग की और वारदात को अंजाम दे डाला। क्राइम ब्रांच ने मुखबिर की सूचना पर घटना को वर्कआउट करते हुए 6 आरोपियों को उज्जव गार्डन तिराहे से गिरफ्तार किया है।

 

ये था मामला

विगत 18 अगस्त को सदर निवासी गणेश कंपनी का कैश कलेक्ट करके वापस लौट रहा था। इसी दौरान कब्रिस्तान के गेट पर बाइक सवार बदमाशों ने उस पर ताबड़तोड़ गोलियां बरसा दी थीं। जिससे वह नीचे गिर गया था। इस बीच बदमाश उससे दो लाख रुपयों से भरा बैग लूटकर फरार हो गए थे। मुंशी ने लूट की तहरीर थाना लिसाड़ी गेट में दी थी। तभी से घटना पुलिस के गले की हड्डी बनी हुई थी।

 

पहले बनी थी प्लानिंग

पूछताछ के दौरान आरोपी आमिर ने बताया कि सारिक उसकी बुआ का बेटा है। जिसकी रशीदनगर में किराना की दुकान है। वह उसकी दुकान पर अक्सर आया-जाया करता था। घटना से एक सप्ताह पहले सुहेल और मै सारिक की दुकान पर बैठे थे। इसी दौरान जगदीश प्रकाश एंड संस कंपनी का मुंशी गणेश दुकानों से कैश कलेक्ट करने आया था। तभी सारिक ने बताया कि यह हर मंगलवार को कंपनी का कैश लेने आता है। अगर इसे लूट लिया जाए तो मोटा माला मिल जाएगा।

 

सुहेल के घर लिखी गई पटकथा

घटना को अंजाम देने के लिए सोमवार को सुहेल के घर पूरी घटना की पटकथा लिखी गई। इस दौरान उन्होंने अपने चार दोस्तों को कहानी सुनाई और लालच देकर उन्हें भी शामिल कर लिया। मंगलवार को सुबह से ही सभी लोग घटना को अंजाम देने की ताक में लग गए।

 

कलेक्ट करते ही दी सूचना

मंगलवार को जब कंपनी मुंशी गणेश सभी दुकानों से कैश कलेक्ट कर रहा था। उसी समय सारिक ने सभी दोस्तों को सूचना दे दी। जिस पर उन्होंने कब्रिस्तान के गेट पर मुंशी पर फायरिंग कर दो लाख रुपए कैश लूट लिया।

 

कॉल डिटेल से हुआ खुलासा

क्राइम ब्रांच ने मुखबिर की सूचना सभी आरोपियों के मोबाइल नंबर सर्विसलांस पर ले रखे थे। घटना वाले दिन सारिक की सुहेल व आमिर से कई बार फोन पर बात हुई थी। घटना के बाद भी आरोपियों की आपस में काफी बातें हुई। जिससे पुलिस का शक वास्तविकता में बदलता चला गया।

 

गिरफ्तार बदमाश

-आमिर पुत्र युनुस निवासी काले जादू वाली गली मुमताज नगर थाना ब्रह्मपुरी

-कासिम पुत्र सरदार निवासी जाकिर कालोनी थाना कोतवाली

-सलमान पुत्र लियाकत निवासी मुमताज नगर थाना ब्रहमपुरी

-सारिक पुत्र मेहरबान निवासी रशीदनगर थाना ब्रहमपुरी

-सुहेल पुलिस अली मोहम्मद निवासी कुरैशियान मस्जिद थाना कोतवाली

- अरसद पुत्र हाजी साबिर निवासी जाटों वाली गली थाना लिसाडी गेट

 

बरामद सामान

-1 पिस्टल 32 बोर मय कारतूस

-5 तमंचे 315 बोर मय कारतूस

-1 बाइक पल्सर नंबर यूपी 15 बीए 3778

-1 बाइक पेशन नंबर यूपी 15 एवाई 6358

- 1 लाख 11 हजार 300 रुपए नकद

 

मुखबिर की सूचना पर क्राइम ब्रांच टीम ने बड़ी सफलता हासिल की है। टीम का हौंसला बढ़ाने के लिए डीआईजी रमित शर्मा ने 12 हजार के इनाम की घोषणा की है।

दिनेश चंद्र दुबे, एसएसपी मेरठ

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.