मेरठ में नहीं दिखा भारत बंद का असर

2020-02-24T05:46:13Z

कमिश्नरी चौराहे और डॉ। भीमराव अंबेडकर मूर्ति पर तैनात रही फोर्स, फायर बिग्रेड भी रही तैनात

बेगमपुल से आबूलेन तक एसएसपी ने निकाला पैदल मार्च, आलाधिकारी फोन पर लेते रहे पल-पल का अपडेट

Meerut। पदोन्नति में आरक्षण की मांग, सीएए व एनआरसी के विरोध में रविवार को भीम आर्मी का भारत बंद सुरक्षा के कड़े इंतजामों के चलते बेअसर रहा। एसएसपी ने बेगमपुल पर फ्लैग मार्च किया। संवदेनशील स्थानों पर आरएएफ तैनात रही। पुलिस ने एहतियातन भीम आर्मी के जिलाध्यक्ष विकास हरित समेत 12 लोगों को हिरासत में भी ले लिया था। हालांकि हरित के अलावा 11 लोगों को बाद में छोड़ दिया गया। युवा सेवा समिति के अध्यक्ष बदर अली समेत पदाधिकारियों को दोपहर तक नजर बंद रखा गया।

निकाला फ्लैग मार्च

एसएसपी अजय साहनी ने बेगमपुल, जीरो माइल, आबूलेन, फव्वारा चौक, हनुमान चौक समेत कई जगह पैदल मार्च किया। इस दौरान एसपी सिटी डॉ। अखिलेश नारायण सिंह, एसपी ट्रैफिक संजीव वाजेपयी, सीओ कैंट हरिमोहन सिंह समेत शहर के कई थानों की फोर्स मौके पर मौजूद रही। वहीं दूसरी ओर लिसाड़ी गेट, भूमिया का पुल और कोतवाली में भी सतर्कता बरती गई। कचहरी गेट के पास डॉ। भीमराव अंबेडकर की मूर्ति पर भी फोर्स तैनात रही। कमिश्नरी चौराहे पर आरएएफ और पीएसी तैनात रही। शहर में विभिन्न जगहों पर फायर बिग्रेड को भी तैनात किया गया। वहीं लखनऊ में बैठे आला अधिकारी फोन पर मेरठ का पल-पल का अपडेट लेते रहे।

शहर में शांति रही, मेरठ बंद का कोई असर नहीं रहा। सभी जगह बाजार खुले रहे। हमने सब प्वाइंट्स पर फोर्स तैनात की हुई थी। पैदल मार्च भी निकाला गया।

अजय साहनी, एसएसपी, मेरठ

भीम आर्मी ने दिया कलक्ट्रेट में ज्ञापन

पदोन्नति में आरक्षण की मांग, सीएए व एनआरसी के विरोध में रविवार को भीम आर्मी के पदाधिकारी पहले कमिश्नरी पहुंचे, जिसके बाद कलेक्ट्रेट पहुंच कर एडीएम सिटी को अपना ज्ञापन दिया। राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री के नाम ज्ञापन एडीएम को सौंपकर अपनी मांग रखी। भीम आर्मी एकता मिशन के जिलाध्यक्ष विकास हरित को तो पुलिस शनिवार की रात को ही गिरफ्तार कर लिया था.वहीं अन्य पदाधिकारी कलेक्ट्रेट पहुंचे और एडीएम सिटी अजय तिवारी को अपना ज्ञापन दिया। इस मौके पर कर्मवीर भाटी, मोहित किठौर, गंगा मल सिंह, राहुल, दीपक सागर आदि मौजूद रहे।

Posted By: Inextlive

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.