शास्त्रीनगर में टीचर की मौत पर हंगामा

Updated Date: Mon, 22 Feb 2021 02:38 PM (IST)

मायके पक्ष के मुताबिक गत सप्ताह ही पति ने कराया था 50 लाख का बीमा

शरीर पर चोट के निशान, हत्या की आशंका

Meerut। रविवार अलसुबह शास्त्रीनगर निवासी एक टीचर की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। टीचर का शव उसके घर मिला और टीचर के पति ने ही पुलिस को मौत की सूचना देकर मौके पर बुलाया था। मृतक शिक्षिका के शरीर पर चोट के निशान मिलने पर परिजनों ने दहेज के लिए उसके पति पर ही हत्या का आरोप लगाते हुए हंगामा कर दिया। परिजनों के आरोप पर पुलिसकर्मियों ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजते हुए आरोपी पति को गिरफ्तार कर लिया।

देर रात हुई मौत

नौचंदी थाना क्षेत्र के शास्त्रीनगर सेक्टर-2 निवासी टेंट व्यापारी संजय लूथरा की जून 2012 में खतौली के अशोक मार्केट निवासी चंदा अरोड़ा से शादी हुई थी। चंदा खतौली ब्लाक के लोहड़ा गांव में प्राइमरी की टीचर थी। शनिवार को वह अपने पति संजय के साथ अपनी छोटी बहन को मुजफ्फरनगर छोड़ने गई थी। परिजनों के अनुसार शनिवार रात करीब ढाई बजे संजय ने फोन पर चंदा की मौत की खबर दी थी। संजय ने चंदा के पिता ओमप्रकाश को बताया कि देर रात उसकी तबीयत खराब हो गई थी उसके बाद अचानक मौत हो गई।

शरीर पर चोट के निशान

परिजन शास्त्रीनगर पहुंचे तो मृतका के चेहरे और शरीर पर चोट के निशान थे और मुंह से खून निकल रहा था। गले पर भी रस्सी का निशान था। बेटी के शव पर चोट के निशान देखकर परिजनों ने दहेज के लिए हत्या का आरोप लगाते हुए हंगामा कर दिया। सूचना पर पहुंची पुलिस मौके पर पहुंच गई और परिजनों को शांत कराकर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। इस मामले में परिजनों ने मृतक के पति समेत तीन रिश्तेदारों पर हत्या का आरोप लगाते हुए तहरीर दी है।

दो दिन पहले कराया बीमा

चंदा की बड़ी बहन ममता ने बताया कि दो दिन पहले ही आरोपी ने अपना और पत्नी का 50-50 लाख रुपये का बीमा कराया था। उसके इरादे शुरू से ही गलत थे। अक्सर वह चंदा से मारपीट भी करता था। इसकी गवाही आसपास के लोगों ने भी दी थी। कई बार तो उन्होंने बीच-बचाव कराया था।

तलाक के बाद रहने लगा साथ

परिजनों ने बताया कि संजय बहुत ही शातिर है। चार साल पहले उसने पत्नी से कहा था कि उसके ग्रह-नक्षत्र सही नहीं चल रहे हैं। किसी ने बताया है कि पत्नी से अलग होना पड़ेगा। चंदा उसकी बातों में आ गई थी। इसके बाद उन्होंने तलाक ले लिया था। पांच माह वह मायके में रही। इसके बाद जब चंदा ने साथ रहने के लिए कहा तो वह इधर-उधर की बात करने लगा। हालांकि दबाव पड़ने पर वह चंदा को साथ रखने लगा था। आरोप है कि उसने कुछ कागजात पर चंदा के दस्तखत भी ले रखे हैं।

परिजनों के आरोप के बाद आरोपी पति को हिरासत में लिया गया है। पोस्टमार्टम आने के बाद आगे मामला स्पष्ट होगा और कार्यवाही की जाएगी।

देवेश कुमार, सीओ, सिविल लाइन

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.