काशी विश्वनाथ मंदिर में श्रद्धालुओं का होगा उपचार, हॉस्पिटल का CM योगी ने किया उद्घाटन

Updated Date: Mon, 30 Sep 2019 04:08 PM (IST)

प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने काशी विश्वनाथ मंदिर में एक अस्थाई अस्पताल की शुरुआत की। यहां दर्शन के लिए आने वाले श्रद्धालुओं को सुबह 8 बजे से रात 8 बजे तक इलाज की सुविधा मिलेगी।


वाराणसी (ब्यूरो)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र को सीएम योगी आदित्यनाथ ने रविवार को बड़ी सौगात दी। सीएम ने श्रीकाशी विश्वनाथ मंदिर कैंपस में अस्थाई हॉस्पिटल का इनॉगरेशन किया है। यहां पर सुबह 8 से रात 8 बजे तक यानी 12 घंटा मेडिकल फेसिलिटी मिलेगी। करमाइकल लाइब्रेरी के स्थान पर बनाए गए आरोग्य मंदिर का सीएम ने दोपहर में उद्घाटन किया। श्रीकाशी विश्वनाथ मंदिर कैंपस में श्रद्धालुओं के लिए बनाए गए अस्थाई हॉस्पिटल को आरोग्य मंदिर नाम दिया गया है। इसका संचालन कारपोरेट लाबिस्ट नीरा राडिया की कंपनी नयति हेल्थ केयर करेगी।12 घंटे खुलेगा हॉस्पिटल
श्रीकाशी विश्वनाथ मंदिर कैंपस में हॉस्पिटल में सभी श्रद्धालु तथा पब्लिक को आवश्यकता पर प्राथमिक उपचार मिलेगा। इसमें डॉक्टर, नर्स, टेक्नीशियन, पैरामेडिकल स्टाफ की 25 सदस्यों की टीम सुबह आठ बजे से रात आठ बजे तक सेवा देगी। आरोग्य मंदिर की ओपीडी में बुखार के साथ सिरदर्द या स्वास्थ्य संबंधी अन्य किसी परेशानी के लिए ट्रीटमेंट प्रदान किया जाएगा। गंभीर मरीजों को प्राथमिक उपचार देकर डिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल या बीएचयू रेफर कर दिया जाएगा। फूल से बनेगी अगरबत्ती


हॉस्पिटल का इनागरेशन करने से पहले सीएम ने बाबा विश्वनाथ के दर्शन पूजन किया। यहां सीएम ने बाबा विश्वनाथ पर चढ़े हुए पुष्पों एवं पत्तियों से निर्मित अगरबत्ती का लोकार्पण भी किया। मन्दिर व आईटी सेल ने बाबा पर चढऩे वाले फूल व धतूरा से अगरबत्ती बनाई है। योगी ने मीडिया से कहा कि यह बड़ा कार्य है जो फूल भारी मात्रा में बाबा पर चढ़ते थे बाद में उन्हें हटा दिया जाता था अब उनका अच्छा इस्तेमाल हो रहा है। इस कार्य से लोगों को आने वाले समय मे रोजगार मिलेगा और साथ ही अन्य देवालयों में भी इस पर काम होगा। बाबा के दर्शन के बाद मंदिर के गेस्ट हाउस में योगी ने मीडिया से बात की और कहा दुनिया की सबसे प्राचीन नगरी व सांस्कृतिक राजधानी है। हम सब की काशी व देश के यशस्वी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कर्म भूमि भी है। काशी की पहचान काशीधाम से है इस योजना को जिस तरह से आगे बढ़ाया जा रहा है वह एक नेक पहल है।लौट गए गोरखपुरसीएम योगी आदित्यनाथ शनिवार की रात बनारस आए थे। रात में सर्किट हाउस में विश्राम के बाद रविवार की सुबह विश्वनाथ मंदिर दर्शन-पूजन के बाद मंत्री नीलकंठ तिवारी के घर गए। मां के निधन पर शोक जताया। थोड़ा वक्त गुजारने के बाद योगी गोरखपुर के लिए रवाना हो गए।varanasi@inext.co.in

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.