दुष्कर्म में नाकाम होने पर किया था काम तमाम

Updated Date: Tue, 25 Sep 2018 06:00 AM (IST)

-रोहनिया में नौ साल की छात्रा की हंसिया से गोद कर की गई हत्या के मामले का पुलिस ने किया खुलासा

-बच्ची के घर अक्सर आने वाला युवक ही निकला हत्यारा, पुलिस ने किया गिरफ्तार

ङ्कन्क्त्रन्हृन्स्ढ्ढ

रोहनिया थाना एरिया के एक गांव में पिछले दिनों नौ वर्षीय छात्रा की हुई हत्या के मामले का पुलिस ने सोमवार को खुलासा किया। पुलिस की तफ्तीश में जो सामने आया है वह रोंगटे खडे़ करने वाला है। 19 सितंबर की देर रात हुई इस वारदात में शामिल राजेश पटेल को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पूछताछ में उसने बताया कि वह मृत बच्ची के घर अक्सर आया जाया करता था। घटना वाली रात बच्ची की मां घर पर नहीं थी। इस पर वह रात्रि में शराब के नशे में घर में घुस गया। बच्ची से दुष्कर्म के प्रयास में असफल रहने पर उसने उस पर ईट से वार कर बुरी तरह घायल कर दिया। बाद में हंसिया से गोदकर बच्ची की हत्या कर दी।

आरोपी को पहचान गई थी बालिका

एसएसपी आनंद कुलकर्णी ने मीडिया को बताया कि गिरफ्तार आरोपी राजेश शराब का आदी है। उसकी शादी हो चुकी है मगर बहुत पहले उसकी पत्नी ने उसे छोड़ दिया है। वह दहेज उत्पीड़न व बाइक चोरी के मामले में जेल भी जा चुका है। चूंकि मृतका की मां चखना बेचती थी इसलिए वह शराब पीने से पूर्व चखना भी लेने आता था। घटना से पहले शाम को राजेश ने मृतका की मां से उस समय फोन पर बात की थी जब वह मायके में थी। इसके बाद रात्रि में शराब पीने के बाद घर में घुस गया। उस दौरान बच्ची का छोटा भाई दूसरे कमरे में और बड़ा भाई छत पर सो रहा था। बच्ची के कमरे में घुसने के बाद राजेश ने बच्ची से दुष्कर्म का प्रयास किया। लेकिन इस बीच नींद खुल जाने पर वह राजेश को पहचान गई मगर नशे में धुत राजेश उसके साथ जबरदस्ती करने लगा। जोर जबरदस्ती के बीच राजेश उसे मारने पीटने लगा। उससे बचने के लिए भागने के दौरान राजेश ने बच्ची के सिर पर ईट से कई वार कर दिया। इसके बाद भी लहुलूहान बच्ची इधर उधर भागती रही। अंत में राजेश ने उसे हंसिया से मौत के घाट उतार दिया। पुलिस से बचने के लिए मृतका के कपड़े भी समेट ले गया। सोमवार को उसे मोहनसराय ऑटो स्टैंड से दबोचा गया।

टीम को दस हजार का इनाम

एसएसपी ने बताया कि घटना के दौरान आरोपी की ऊंगली भी हसिया से कट गई थी। उसका भी मेडिकल कराया गया है। और बच्ची संग दुष्कर्म हुआ था या नहीं, पोस्टमार्टम रिपोर्ट में इसका खुलासा नहीं होने पर अब स्लाइड को परीक्षण के लिए भेजा गया है। खुलासा करने वाली टीम में सीओ सदर अनिल कुमार, इंस्पेक्टर रोहनिया श्रीप्रकाश गुप्ता, एसआई महमूद आलम व जनक आदि शामिल थे। एसएसपी ने टीम को पुरस्कार स्वरूप 10 हजार रुपये के इनाम की घोषणा की है।

पकड़ाने पर अपनों को लगा फंसाने

एसएसपी ने बताया कि जब आरोपी राजेश को दबोचा गया तो उसने कई और लोगों का नाम बताकर उन्हें फंसाना चाहा। बाद में जांच पड़ताल में साक्ष्य न मिलने के बाद सभी को छोड़ दिया गया। इस घटना के खुलासे के लिए पुलिस व क्राइम ब्रांच की छह टीमें लगाई गई थीं मगर अंतत: रोहनिया पुलिस को ही सफलता हाथ लगी।

'टकला' कहकर चिढ़ाती थी

पुलिस की पूछताछ में यह भी सामने आया कि आरोपित जब बालिका के घर आता था तो वह टकलवा, टकलवा कहकर चिढ़ाती रहती थी। अपमान से नाराज होकर वह पूर्व में बच्ची को पीटा भी था। मौका मिलते ही बालिका को मौत के घाट उतार दिया।

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.