आईआईटी बीएचयू को मिला नया हॉस्टल

2020-02-28T05:30:30Z

- एमएचआरडी मिनिस्टर ने मोर्वी हॉस्टल व एबीएलटी का किया शिलान्यास

-अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद व संस्थान के बीच एमओयू

काशी धर्म, आध्यात्म, संस्कृति और ज्ञान की भूमि है। यहां छात्रों के लिए हास्टल, शिक्षकों के लिए आवास एवं व्याख्यान संकुल का शिलान्यास करना मेरा सौभाग्य है। यह बातें एचआरडी मिनिस्टर रमेश पोखरियाल निशंक ने गुरुवार को कही। वह आइआइटी-बीएचयू स्थित जिमखाना ग्राउंड में आयोजित कार्यक्रम में बतौर चीफ गेस्ट बोल रहे थे। इस दौरान उन्होंने टीचर्स के लिए आवास फेज-2, छात्रों के लिए मोर्वी हॉस्टल-द्वितीय व एनी बेसेंट व्याख्यान संकुल-एक्सटेंशन का शिलान्यास किया। इस मौके पर कहा कि आइआइटी-बीएचयू अपने सामाजिक दायित्वों के तहत सामाजिक उद्यमिता विकास में महत्वपूर्ण कार्य कर रहा है। इस दौरान केंद्रीय मंत्री ने जहां वहीं आइआइटी-बीएचयू व अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (एआइसीटीई) के बीच संस्थान में नये छात्रों के लिए 21 दिन के इंडक्शन प्रोग्राम चलाने के लिए एमओयू पर हस्ताक्षर भी किया गया। इसके बाद केंद्रीय मंत्री ने आइएमएस-बीएचयू के अधिकारियों से भी मुलाकात की। एम्स जैसे संस्थान को लेकर चल रही कवायद की जानकारी लेने के साथ ही उन्होंने आवश्यक निर्देश भी दिए। स्वागत संस्थान निदेशक प्रो। प्रमोद कुमार जैन ने किया। इस अवसर पर बीएचयू वीसी प्रो। राकेश भटनागर, अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद के सदस्य सचिव प्रो। राजीव कुमार सहित प्रो। राजीव प्रकाश, नितिन मल्होत्रा, डा। एसके गुप्ता आदि रहे।

मंत्री के सामने वीसी का विरोध

जिमखाना ग्राउंड में शिलान्यास के दौरान उस समय अप्रिय स्थिति हो गई, जब कुछ छात्र केंद्रीय मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक के सामने ही बीएचयू वीसी के विरोध में नारेबाजी करने लगे। इस बीच सुरक्षा को लेकर भारी चूक भी उजागर हुई। छात्रों ने बीएचयू में चल रही नियुक्तियों में हिंदी भाषी अभ्यर्थियों संग भेदभाव को लेकर केंद्रीय मंत्री को पत्रक भी सौंपा।

Posted By: Inextlive

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.