इस गर्मी मिलेगी राहत, स्मार्ट ट्रांसफार्मर रोकेगा ट्रिपिंग

Updated Date: Tue, 06 Apr 2021 06:28 AM (IST)

-गर्मी के दिनों में उपभोक्ताओं को मिलेगी निर्बाध बिजली

-शहर में अब ठप नहीं होगी पूरे फीडर की आपूíत

-ट्रांसफार्मर पर लगेगा ट्रिपल पोल मैन्युअल ऑपरेटेड

::: प्वाइंटर :::

600

नए ट्रांसफार्मर -पूर्वाचल विद्युत वितरण निगम ने मंगाए

150

ट्रांसफार्मर शहरी क्षेत्र के ज्यादा लोड वाले इलाके में लगाए जाएंगे

गर्मी के दिनों में उपभोक्ताओं तक बिजली की निर्बाध आपूíत होती रहे इसके लिए पूर्वांचल विद्युत वितरण निगम लिमिटेड ने बिजली घरों के साथ ही वितरण ट्रांसफार्मर पर भी टीपीएमओ (ट्रिपल पोल मैन्युअल ऑपरेटेड) स्वीच लगाने की योजना बनाई है। यही नहीं बिजली का लोड बढ़ने से जिले में कहीं भी लाइन ट्रिप न करे इसके लिए विभाग ने 600 नए स्मार्ट ट्रांसफार्मर भी मंगाए है। इसमें 150 ट्रांसफार्मर शहरी क्षेत्र के उन फीडर पर लगाए जाएंगे, जहां गर्मी के दिनों में लोड अत्याधिक बढ़ जाता है। अधिकारियों की मानें तो बढ़ती गर्मी की वजह से बिजली का लोड बढ़ रहा है। जिसे देखते हुए 25 केवी से लेकर 450 केवी तक के 600 ट्रांसफार्मर मंगाए गए हैं। ये सभी ट्रांसफार्मर स्टोर में पहुंच चुके हैं। फिलहाल इसे डिस्ट्रीब्यूट कराने का कार्य किया जा रहा है।

पूरे फीडर से आपूर्ति नहीं होगी ठप

इसके अलावा जिले में ट्रिपल पोल मैन्युअल ऑपरेटेड स्वीच लगाने का जो प्लान बनाया गया है वो अब तक का सबसे उम्दा प्लान माना जा रहा है। इसके लगने से किसी गली या मोहल्ले में फाल्ट होने पर पूरे फीडर की आपूíत बंद करने की जरूरत नहीं पड़ेगी। ट्रांसफार्मर से ही लाइन को ट्रिप किया जा सकेगा। अभी तक ऐसा होता आ रहा है कि अगर किसी एक गली या मुहल्ले की किसी कारणवश बिजली गुल होती है तो ऐसी स्थिति में पूरे फीडर से आपूर्ति बंद करनी पड़ती है। इससे फीडर से जुड़े अन्य एरिया के लोगों को कटौती की मार झेलनी पड़ती है। इस सिस्टम से यह परेशानी पूरी तरह से खत्म हो जाएगी।

कंपोजिट यूनिट वाले ट्रांसफार्मर

डिब्बा बंद यानी कंपोजिट यूनिट वाले ट्रांसफार्मर लगाने पर भी तैयारी की गई है। इससे ट्रांसफार्मर से तेल निकलने या लटकते तार व अन्य दुर्घटनाओं जैसी समस्या भी पूरी तरह से खत्म हो जाएगी। इसके लिए कुछ कंपनियों ने प्रस्ताव भी दिया है। बिजली के ट्रांसफार्मर डिब्बे में बंद होने से दिखाई नहीं देंगे। यानी जिस क्षेत्र में यह ट्रांसफार्मर लगेगा वहां की सुंदरता भी बढ़ेगी और खतरे की भी आशंका नहीं रहेगी। इसलिए इस ट्रांसफार्मर को स्मार्ट ट्रांसफार्मर का भी नाम दिया गया है।

बिजली घर से फीडर तक हाईटेक

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की पहल पर पूरे शहर की विद्युत व्यवस्था अंडर ग्राउंड करने के लिए करीब 4800 करोड़ का प्रस्ताव यूपी पावर कॉरपोरेशन लिमिटेड को पिछले साल ही भेजा जा चुका है। वहां से यह प्रस्ताव स्वीकृत कर ऊर्जा मंत्रालय को भेज दिया गया है। वहां से हरी झंडी मिलने के बाद टेंडर आदि की प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी। इस योजना में सभी बिजली घरों, ट्रांसफार्मर व फीडर को भी हाईटेक बनाने की सुविधा शामिल है। यह भी व्यवस्था होगी कि अगर किसी भी फीडर या ट्रांसफार्मर में ट्रिपिंग होती है तो अधिकारियों को पता चल जाएगा। यह व्यवस्था सीधे सर्वर से लिंक होगी। हालांकि इस प्रस्ताव में अभी समय होने के कारण कुछ व्यवस्थाएं अभी से सुधारी जा रही है।

::: कोट :::

जहां-जहां भी टीपीएमओ लगाने की जरूरत पड़ रही है वहां यह व्यवस्था की जा रही है। हालांकि सकरी गलियों में जगह नहीं मिलने से टीपीएमओ लगा पाना संभव नहीं हो पा रहा है।

पृथ्वीपाल सिंह, निदेशक (तकनीक), पीवीवीएनएल

गर्मी बढ़ने के साथ ही बिजली का लोड भी बढ़ रहा है। ऐसे में बिजली की सप्लाई बाधित न हो इसके लिए 600 नए ट्रांसफार्मर मंगाए गए हैं। जहां-जहां लोड की डिमांड बढ़ी है, वहां हाई कैपिसिटी के नए ट्रांसफार्मर लगाए जा रहे हैं।

दीपक अग्रवाल, एई सकेंड-पीवीवीएनएल

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.