दून में 66 परसेंट बढ़ा साइबर क्राइम, पुलिस के लिए चुनौती

Updated Date: Thu, 25 Jun 2020 11:30 AM (IST)

देहरादून में बढ़ रहा साइबर क्राइम पुलिस के लिए बना चुनौती।

देहरादून। साइबर क्राइम को कंट्रोल करने की चुनौती पुलिस के सामने साल-दर साल बढ़ती ही जा रही है। जैसे-जैसे कंम्प्यूटर बेस्ड और ऑनलाइन तकनीक का इस्तेमाल बढ़ रहा है साइबर क्राइम भी उसी स्पीड से बढ़ता हुआ नजर आ रहा है। उत्तराखंड पुलिस के लिए भी यह चुनौती बढ़ गई है। वर्ष 2020 में पिछले 5 माह में ही साइबर आईटी एक्ट के तहत 124 केस रजिस्टर किए गए हैं, जबकि 2019 में इन्हीं 5 माह में 82 केस और 2018 में 77 केस रजिस्टर्ड किए गए थे। ऐसे में अंदाजा लगाया जा सकता है कि साइबर क्राइम पुलिस के लिए सबसे बड़ा चेलेंज साबित हो रहा है।

साइबर क्राइम को कंट्रोल करना चेलेंज

आधुनिक कंम्यूटर युग में ऑनलाइन तरीके से कामकाज पर निर्भरता तेजी से बढ़ती जा रही है, कोरोनाकाल में ऑनलाइन माध्यम पर निर्भरता ओर ज्यादा बढ़ा दी है। ऐसे में साइबर क्राइम का बढ़ना भी पब्लिक और पुलिस के लिए बड़ी मुश्किलें खड़ी कर सकता है। साइबर एक्ट के तहत दर्ज हो रहे मुकदमे भी इसी ओर संकेत कर रहे हैं, 5 माह में ही 100 से ज्यादा केस और पिछले साल की तुलना में 42 केस ज्यादा रजिस्टर्ड हुए हैं। सबसे ज्यादा यूएसनगर में 53 केस रजिस्टर्ड हुए हैं, जबकि 2019 में 30 केस रजिस्टर्ड हुए थे। 2018 में 8 केस साइबर आईटी एक्ट में दर्ज हुए थे, देहरादून इस लिस्ट में दूसरे नंबर पर हैं। दून में पिछले 5 माह में 22 केस रजिस्टर्ड हुए हैं, जबकि 2019 में 15 केस ही रजिस्टर्ड हुए, हालांकि 2018 में 31 केस रजिस्टर्ड हुए थे। तीसरे नंबर पर हरिद्वार है, हरिद्वार में 14 केस सामने आए, जबकि 2019 में 7 और 2018 में 12 केस रजिस्टर्ड हुए थे। साइबर क्राइम पुलिस स्टेशन में 2020 में 5 माह में 11 केस रजिस्टर्ड हुए हैं। 2019 में भी 11 केस जबकि 2018 में 5 केस सामने आए थे।

--------------------

-वर्ष 2020 में अब तक सबसे ज्यादा केस यूएसनगर में 53 केस रजिस्टर्ड

-दून दूसरे नंबर पर 22 केस आ चुके हैं सामने

साइबर आईटी एक्ट में दर्ज मुकदमे- मई तक

वर्ष केस यूएसनगर देहरादून हरिद्वार सीसीपीएस

2020 124 53 22 14 11

2019 82 30 15 7 11

2018 77 8 31 12 5

-------------------------------

ई-मेल के जरिए कोरोना के नाम पर साइबर अटैक

कोरोना के नाम पर साइबर अटैक के मामले भी कम होने का नाम नहीं ले रहे हैं। देश की साइबर सुरक्षा नोडल एजेंसी सीईआरटी-आईएन द्वारा हैकरों की ओर से देश में साइबर हमले होने की एडवाइजरी जारी की है। एडवाइजरी में कहा गया है कि हैकर ncovw®v~.gov.in के नाम से ई-मेल भेजकर कोरोना की मुफ्त जांच कराने का झांसा देकर लोगों को साइबर अटैक का निशाना बना सकते हैं। उत्तराखंड पुलिस की ओर से भी लोगों को ऐसे ईमेल या ¨लक से अलर्ट रहने को कहा गया है। साथ ही अपील की गई है कि ई-मेल, एसएमएस या मैसेज पर किसी के साथ भी अपनी निजी या बैंक इनफॉर्मेशन साझा न करें।

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.