डॉ. सुरेखा डंगवाल बनीं दून विवि की कुलपति

Updated Date: Sun, 17 Jan 2021 12:40 PM (IST)

हेमवती नंदन बहुगुणा गढ़वाल सेंट्रल यूनिवर्सिटी में इंग्लिश डिपार्टमेंट की एचओडी पद पर तैनात हैं डॉ। डंगवाल

देहरादून,

दून यूनिवर्सिटी की नई कुलपति डॉ। सुरेखा डंगवाल नियुक्त की गईं हैं। डॉ। डंगवाल वर्तमान में हेमवती नंदन बहुगुणा गढ़वाल सेंट्रल यूनिवर्सिटी में इग्लिंश एचओडी और एवं प्रोफेसर हैं। गवर्नर बेबी रानी मौर्य ने कुलपति पद पर तीन वर्ष के लिए उनकी नियुक्ति के आदेश सैटरडे को जारी किए।

दून यूनिवर्सिटी में कुलपति के चयन पर गवर्नर ने मुहर लगा दी है। सर्च कमेटी ने कुलपति के चयन को बीते माह नए सिरे से पैनल तैयार कर राजभवन भेजा था। इससे पहले सर्च कमेटी ने जो पैनल भेजा था, उसे राजभवन ने लौटा दिया था। पैनल में शामिल नामों पर आपत्ति और शिकायत के परीक्षण के बाद राजभवन ने यह कदम उठाया था। राजभवन ने सर्च कमेटी को कुलपति पद के लिए नए आवेदन मांगने के बजाय पहले से प्राप्त तकरीबन 153 आवेदनों में से ही पैनल बनाने के निर्देश दिए थे।

33 वषरें का एक्सपीरियंस

दून यूनिवर्सिटी की नवनियुक्त कुलपति प्रो। सुरेखा डंगवाल को 33 वषरें का एक्सपीरियंस है। उनके डायरेक्शन में 19 रिसर्चर स्टूडेंट्स ने पीएचडी व 30 स्टूडेंट्स को एमफिल की उपाधि प्राप्त की है। विभिन्न राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय जर्नल व पुस्तकों में इनके 55 शोध पत्र अभी तक प्रकाशित हो चुके हैं। उन्होंने कुछ स्थानीय कवियों व लेखकों की कृतियों को अंग्रेजी में अनुवाद किया। यूजीसी की ओर से आवंटित की गई दो वृहद शोध परियोजनाएं इनके निर्देशन में पूर्ण हो चुकी हैं। प्रो। सुरेखा डंगवाल को जर्मनी की प्रतिष्ठित डीएएडी फैलोशिप मिली है। जिसमें उन्हें जर्मनी स्थित हैनोवर विवि में तीन माह का शोध करने का अवसर मिला। प्रो.् सुरेखा अविभाजित यूपी में चार वषरें तक उत्तर प्रदेश हिल इलेक्ट्रॉनिक कारपोरेशन -हिल्ट्रॉन, की अध्यक्ष रहीं। उन्हें एचएनबी गढ़वाल यूनिवर्सिटी की प्रथम महिला अधिष्ठाता छात्र कल्याण के पद पर रहने का भी गौरव प्राप्त है।

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.