दूसरे दिन भी बंद रहा बद्रीनाथ हाईवे

Updated Date: Tue, 01 Oct 2019 06:00 AM (IST)

-मलबा आने से लामबगड़ में बंद सड़क मात्र तीन घंटे खुली

-तीन हजार से ज्यादा यात्रियों को विभिन्न पड़ावों पर रोका

-केदारनाथ में हेली सेवाओं पर भी पड़ा असर, शनिवार को हुई महज तीन उड़ान

----------------

देहरादून: उत्तराखंड में लगातार तीसरे दिन भी बारिश का दौर जारी रहा। बदरीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री, यमुनोत्री और हेमकुंड के साथ ही उच्च हिमालय में चोटियों पर बर्फबारी भी हुई। दूसरी ओर बदरीनाथ के पास मलबा आने से हाईवे फिर बंद हो गया। इसके चलते तीन हजार से ज्यादा यात्रियों को विभिन्न पड़ावों पर रोका गया है। मौसम का असर केदारनाथ में हेली सेवा पर भी पड़ा। मंडे को दिनभर में महज तीन उड़ाने ही हो सकी। मौसम विभाग के अनुसार फिलहाल मौसम के मिजाज में बदलाव की संभावना नहीं है। ट्यूजडे को भी पर्वतीय क्षेत्रों के साथ मैदानों में कुछ स्थानों पर भारी बारिश की आशंका बनी हुई है।

जगह-जगह भूस्खलन

प्रदेश में सैटरडे रात से रुक-रुक कर हो रही बारिश मंडे को भी जारी रही। पर्वतीय क्षेत्रों में जगह-जगह भूस्खलन से सड़कें बाधित हो रही। बदरीनाथ के निकट लामबगड़ में संडे को पहाड़ी से मलबा गिरने के कारण हाईवे बंद हो गया था। मंडे सुबह करीब 10 बजे मलबा हटाने के बाद यातायात बहाल हो पाया, लेकिन यह स्थिति महज तीन घंटे तक रही। दोपहर बाद बारिश शुरू होते ही हाईवे फिर बंद हो गया।

बार-बार गिर रहा मलबा

जोशीमठ के नायाब तहसीलदार बल्लूलाल ने बताया कि पहाड़ी से रुक-रुक कर मलबा गिरने का क्रम बना हुआ है। उन्होंने बताया कि सीमा सड़क संगठन की टीम मलबा हटाने का प्रयास कर रही है, लेकिन कहा नहीं जा सकता कि इसमें कितना वक्त लगेगा। उन्होंने बताया कि हालात को देखते हुए यात्रियों को बदरीनाथ, पांडुकेश्वर और जोशीमठ में रोका गया है। वहीं, यमुनोत्री हाईवे पर भी मलबा आने से आवाजाही बाधित हो रही है।

हेली सेवाएं प्रभावित

दूसरी ओर बारिश और कोहरे के कारण केदारनाथ के लिए संचालित होने वाली हेली सेवाएं भी प्रभावित हुई हैं। हेली सेवाओं के सहायक नोडल अधिकारी एनएस पंवार ने बताया कि मंडे को सिर्फ तीन उड़ान ही संचालित की जा सकीं। उन्होंने बताया कि अब यात्रियों की संख्या में भी कमी आ रही है। 26 सितंबर से अब तक महज 2500 यात्री ही हेली सेवा से दर्शन को गए।

कुमाऊं में भी बारिश

कुमाऊं के पर्वतीय इलाकों में भी लगातार हो रही बारिश परेशानी का सबब बनी हुई है। पिथौरागढ़-टनकपुर ऑलवेदर रोड पर चट्टान दरकने से जाम लग गया। यात्री दो घंटे से अधिक समय तक मार्ग में फंसे रहे। इसके अलावा टकनपुर-चम्पावत हाईवे पर सोमवार सुबह छह बजे मलबा आने से चार घंटे तक हाईवे बंद रहा।

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.