पहले दिन हायर एजुकेशनल इंस्टीट्यूशंस में कम रही अटेंडेंस

Updated Date: Wed, 16 Dec 2020 10:40 AM (IST)

- साढ़े आठ महीने बाद खुले हायर एजुकेशनल इंस्टीट्यूशंस, 14 से 15 परसेंट स्टूडेंट पहुंचे

DEHRADUN: करीब साढ़े आठ महीने बाद खुले हायर एजुकेशनल इंस्टीट्यूशंस में पहले दिन मंगलवार को स्टूडेंट्स की उपस्थित कम रही। लगभग सभी संस्थानों में 14 से 15 परसेंट स्टूडेंट पहुंचे। जो स्टूडेंट कॉलेज आए वह भी केवल क्लास को लेकर पूछताछ करते हुए नजर आए। सहायता प्राप्त अशासकीय कॉलेज की तुलना में श्रीदेव सुमन विवि से संबद्ध राजकीय कॉलेजों में करीब 30 से 35 परसेंट तक स्टूडेंट्स की उपस्थित रही। श्रीदेवसुमन विवि के कुलपति डॉ। पीपी ध्यानी ने बताया कि पहले दिन ही राजकीय कॉलेजों में स्टूडेंट्स की संख्या बेहतर देखी गई। जैसे-जैसे आगे स्टूडेंट अपने पैरेंट्स के अनापत्ति पत्र जमा करेंगे, वैसे-वैसे स्टूडेंट्स की संख्या कॉलेज में बढ़ती जाएगी। विवि ने सभी राजकीय कॉलेजों को कोविड गाइडलाइन का पालन करने के निर्देश दिए गए हैं।

डीएवी: गुस्साए छात्रों ने गेट किया बंद

पहले दिन ही डीएवी कॉलेज में स्टूडेंट्स की टीचर्स के प्रति नाराजगी देखी गई। सुबह 10 बजे तक टीचर्स के परिसर में नहीं पहुंचने पर स्टूडेंट्स ने कॉलेज का मुख्य गेट बंद कर दिया और रोष जताया। स्टूडेंट्स का आरोप है कि उन्हें तो कॉलेज बुलाया दिया गया है, लेकिन निर्धारित समय तक एक भी टीचर कॉलेज नहीं पहुंचे। कुछ स्टूडेंट्स ने टीचर्स से मोबाइल पर संपर्क किया, जिसके बाद टीचर कॉलेज पहुंचे। हालांकि, सुबह एक से दो फीसद स्टूडेंट ही मौके पर दिखे। प्राचार्य डॉ। अजय सक्सेना ने कहा कि केवल उन्हीं स्टूडेंट्स को परिसर में प्रवेश दिया गया, जिनके पैरेंट्स ने अनापत्ति पत्र कॉलेज को उपलब्ध करवाएं हैं।

एसजीआरआर: एमएससी में रही सर्वाधिक उपस्थित

श्री गुरु राम राय पीजी कॉलेज में पहले दिन सबसे अधिक उपस्थित 45 परसेंट एमएससी थर्ड सेमेस्टर में रही। बॉटनी के थर्ड सेमेस्टर में एक भी स्टूडेंट कॉलेज नहीं पहुंचा। जबकि फ‌र्स्ट व सेकेंड सेमेस्टर में 15 परसेंट स्टूडेंट उपस्थित हुए। भौतिक विज्ञान के सभी सेमेस्टरों में करीब 13 परसेंट स्टूडेंट प्रयोगशाला में पहुंचे। रसायन विज्ञान फ‌र्स्ट सेमेस्टर में महज सात परसेंट स्टूडेंट उपस्थित हुए। कॉलेज के प्राचार्य प्रो। वीए बौड़ाई ने कहा कि सभी क्लासों को सेनेटाइज किया गया है।

डीबीएस : प्रयोगशाला में पहुंचे ग्रेजुएट के स्टूडेंट

डीबीएस कॉलेज में ग्रेजुएट व पीजी प्रयोगात्मक क्लासों के करीब 20 से 23 परसेंट स्टूडेंट पहले दिन पहुंचे। कॉलेज के प्राचार्य डॉ। वीसी पांडे ने बताया कि उन्हीं स्टूडेंट्स को कैंपस में एंट्री की परमिशन दी जा रही है, जिनके पैरेंट्स ने अनापत्ति पत्र कॉलेज को उपलब्ध करवाए हैं।

एमकेपी : छात्राओं ने ली क्लासों की जानकारी

एमकेपी कॉलेज में टीचर करीब साढे़ नौ बजे उपस्थित हो गए थे। लेकिन छात्राएं साढे़ 10 बजे के बाद पहुंची। दोपहर 12 बजे तक महज पांच परसेंट छात्राएं कॉलेज आई। सबसे ज्यादा उपस्थिति ग्रेजुएट प्रथम सेमेस्टर में रहीं। प्राचार्य डॉ। रेखा खरे ने पहले दिन छात्राओं को आइकार्ड दिखाने के बाद पूछताछ के लिए परिसर में आने दिया। बुधवार से पैरेंट्स की तरह से अनापत्ति पत्र जमा करने के बाद ही उन्हें कक्षाओं में बैठने दिया जाएगा।

दून विवि में 22 तक ऑनलाइन परीक्षा

दून विश्वविद्यालय में 11 से 22 दिसंबर तक ऑनलाइन सेमेस्टर एग्जाम चल रहे हैं। यह परीक्षा ग्रेजुएट और पीजी फ‌र्स्ट सेमेस्टर के अलावा सभी सेमेस्टर के स्टूडेंट्स ऑनलाइन एग्जाम में सम्मलित हैं। ऐसे में स्टूडेंट संस्थान खुलने के मौके पर मंगलवार को परिसर में उपस्थित नहीं हुए। विवि के कुलसचिव डॉ। एमएस मंद्रवाल ने कहा कि 22 दिसंबर तक सभी सेमेस्टर के ऑनलाइन एग्जाम चल रहे हैं। एग्जाम कार्यक्रम पूर्व से निर्धारित हैं। इसलिए विवि परिसर व हॉस्टल में फिलहाल कोई भी स्टूडेंट नहीं हैं। 22 दिसंबर के बाद केवल प्रैक्टिकल क्लास के लिए स्टूडेंट्स को विवि बुलाया जाएगा। ऑफलाइन क्लासों का कार्यक्रम बाद में जारी किया जाएगा।

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.