दशहरे को लेकर पुलिस अलर्ट, सुरक्षा चाक चौबंद

Updated Date: Sun, 25 Oct 2020 12:08 PM (IST)

-दशहरे पर सुरक्षा के मद्देनजर जिले को आठ जोन, 21 सेक्टर और 50 सब सेक्टर में बांटा गया

-डीआईजी अरुण मोहन जोशी ने सभी पुलिसकर्मियों की जिम्मेदारी की तय, पुलिसिंग और ट्रैफिक सिस्टम दुरुस्त रखने के निर्देश

देहरादून:

दशहरे पर दून में पुलिस पूरी तरह से मुस्तैद नजर आएगी। इसके लिए पुलिस ने दून में सुरक्षा चाक चौबंद की गई है। दशहरे पर सुरक्षा के मद्देनजर जिले को आठ जोन, 21 सेक्टर और 50 सब सेक्टर में बांटकर पुलिसकर्मियों की ड्यूटी लगाई गई है। डीआईजी अरुण मोहन जोशी ने बताया कि पीक ऑवर्स में थाना-चौकी के अन्य स्टाफ को भी जरूरत के मुताबिक फील्ड मूवमेंट पर रहने के निर्देश दिए गए हैं।

लूटकांड के बाद पुलिस अलर्ट

अनलॉक होने के बाद से दून में क्रिमिनल एक्टिविटी ज्यादा बढ़ी है। पिछले सितंबर और अक्टूबर माह में दो लूट की बड़ी वारदातें हुई हैं। जो कि पुलिस के सामने बड़ी चुनौती खड़ी कर चुकी है। पटेलनगर में 22 सितंबर को सराफा कारोबारी से गोली मारकर ज्वैलरी लूटी गई थी इसके बाद 20 अक्टूबर को मेडिकल स्टोर के मालिक से हथियार के बल पर बैग छीना गया। हालांकि इन दोनों मामलों में पुलिस ने तुरंत एक्शन भी लिया, लेकिन सुरक्षा की दृष्टि से पुलिस अलर्ट हो गई है। त्योहारी सीजन में बाजार पूरी तरह से खुल चुके हैं। हर तरफ भीड़भाड़ नजर आ रही है। पब्लिक भी खरीदारी के लिए बाजार में निकल रही है। ऐसे में पब्लिक और व्यापारियों को सुरक्षा देना पुलिस के लिए बड़ा चैलेंज है। संडे को दशहरा और नवंबर में दिवाली है। त्योहारी सीजन में पैसों के लेन देन भी बढ़ जाता है। ऐसे में अगले दो माह तक पुलिस के सामने सुरक्षा को लेकर बड़ा टास्क है। इसे देखते हुए पुलिस ने शांति, कानून व्यवस्था और ट्रैफिक सिस्टम को बनाए रखने के लिए जिले को जोन और सेक्टरों में बांट दिया है। जोन का प्रभारी सीओ स्तर के अधिकारियों को बनाया गया है, जबकि सेक्टरों के प्रभारी थाना इंचार्ज होंगे। सब सेक्टर में चौकी प्रभारी व एसआई प्रभारी नियुक्त किए गए हैं। इसके अलावा चार कंपनी पीएसी व अग्निशमन दल भी जोन व सेक्टर में तैनात किए गए हैं।

त्योहारों में सुरक्षा चाक चौबंद रखने के निर्देश दिए गए हैं। हर पुलिसकर्मी की जिम्मेदारी तय की गई है। पुलिसिंग और ट्रैफिक दोनों व्यवस्थाएं दुरुस्त रहेंगी।

अरुण मोहन जोशी, डीआईजी

------------------------

72 साल में पहली बार नहीं होगा रावण दहन

देहरादून में पिछले 72 साल में पहली बार दशहरा पर्व पर रावण दहन नहीं किया जाएगा। वर्ष 1948 से बन्नू बिरादरी हर साल दशहरे के अवसर पर परेड ग्राउंड में रावण दहन का कार्यक्रम और भव्य समारोह आयोजित करती आ रही है। कोरोना काल को देखते हुए प्रशासन की सख्त गाइड लाइन पर नाराजगी जताते हुए बन्नू बिरादरी ने आयोजन स्थगित करने का निर्णय लिया है। इस बार रावण दहन के दौरान मेले का आयोजन भी नहीं होगा। इस साल कोरोना महामारी के प्रकोप को देखते हुए बिरादरी ने दशहरा पर्व पर होने वाले समारोह को परेड ग्राउंड के स्थान पर रेसकोर्स स्थित बन्नू स्कूल में मनाने का निर्णय लिया था। जिसके लिए मच्छी बाजार में 17 फीट का रावण भी तैयार कर लिया गया था। प्रशासन ने रावण के पुतले की ऊंचाई दस फीट से अधिक न रखने को कहा। प्रेमनगर दशहरा कमेटी की ओर से दशहरा पर सूक्ष्म आयोजन प्रस्तावित है। जिसके तहत दशहरा ग्राउंड की जगह पंचायती मंदिर के प्रांगण में सीमित उपस्थिति में रावण दहन होगा। कमेटी के संयोजक राजीव कुमार ने बताया कि यहां 20 फीट का रावण तैयार किया गया है। कुंभकर्ण और मेघनाद के पुतले भी 15 फीट से अधिक ऊंचे हैं। उन्होंने कहा यदि प्रशासन इस पर आपत्ति करता है तो वे पुतले प्रशासन को ही सौंप देंगे।

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.