पीपीई किट पहन प्रदर्शनकारियों से निपटने उतरी पुलिस

Updated Date: Thu, 24 Sep 2020 02:48 PM (IST)

- विधानसभा सत्र के दौरान बेरोजगार संघ और आप का प्रदर्शन

- प्रदर्शनों के कारण अस्त-व्यस्त रहा ट्रैफिक, परेशान हुए लोग

देहरादून

दून में पुलिस पहली बार पीपीई किट पहनकर प्रदर्शनकारियों से निपटने के लिए सड़क पर उतरी। वेडनसडे को विधानसभा सत्र के दौरान कई संगठनों ने प्रदर्शन का ऐलान किया था। प्रदर्शनकारियों को रोकने के लिए रिस्पना के पास लगाये गये बैरियर पर भारी संख्या में पुलिस तैनात की गई थी। दर्जनभर पुलिसकर्मियों को पीपीई किट पहनाकर सबसे आगे खड़ा कर दिया गया था।

सिर्फ दर्जनभर पीपीई किट

रिस्पना बैरिकेड पर आने वाले प्रदर्शनकारियों को रोकने के लिए 300 से ज्यादा पुलिसकर्मी तैनात किये गये थे, लेकिन पीपीई किट पहले सिर्फ दर्जनभर पुलिसकर्मी ही नजर आये। पीपीई किट पहने इन पुलिसवालों को सबसे आगे खड़ा किया गया था, लेकिन जब प्रदर्शनकारी जोर-जबरदस्ती पर उतर आये तो बिना किट पहने पुलिसकर्मियों को भी आगे आना पड़ा। इस तरह से पीपीई पहनने का मकसद पूरा नहीं हो पाया।

पानी के लिए भटके

बैरिकेड पर बड़ी संख्या में पुलिसकर्मियों, अधिकारियों और प्रदर्शनकारियों की मौजूदगी के बावजूद पीने के पानी की कोई व्यवस्था नहीं की गई थी। आमतौर पर प्रदर्शन स्थलों में पीने के पानी का टैंकर खड़ा रहता है। तेज गर्मी और उमस के बीच पुलिसकर्मियों और प्रदर्शनकारियों को पीने के पानी के लिए इधर-उधर भटकना पड़ा। पुलिसकर्मियों को कहना था कि वे एक बोतल पानी लेकर चलते हैं, लेकिन तेज गर्मी के कारण एक बोतल जल्दी खत्म हो जाती है।

नहीं हो पाई डिस्टेंसिंग

इन प्रदर्शनों के दौरान फिजिकल डिस्टेंसिंग की जमकर धज्जियां उड़ी। न तो प्रदर्शकारियों ने फिजिकल डिस्टेंसिंग की परवाह की और न ही पुलिसकर्मी ऐसा कर पाये। बेरिकेड पर भीड़ बढ़ने के साथ ही कहीं भी फिजिकल डिस्टेंसिंग नजर नहीं आई।

पुलिस से धक्का-मुक्की

बेरोजगार संघ और एसएफआई ने फव्वारा चौक से जुलूस निकाला। रिस्पना बैरियर पर पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को रोका तो प्रदर्शनकारी जोर-जबरदस्ती पर उतर आये। इस दौरान प्रदर्शनकारियों और पुलिस के बीच देर तक धक्का-मुक्की होती रही। बाद में प्रदर्शनकारी सड़क पर बैठ गये और रोजगार न मिलने पर नाराजगी जताते हुए नारेबाजी की।

आप भी उतरी सड़कों पर

उत्तराखंड में विधानसभा चुनाव लड़ने का ऐलान करने के बाद आम आदमी पार्टी पहली बार सड़कों पर उतरी। संसद में पारित कृषि संबंधी बिलों के खिलाफ फव्वारा चौक से जुलूस निकाला। रिस्पना बैरिकेड पर पुलिस द्वारा रोक दिये जाने के बाद प्रदर्शनकारी वहीं बैठ गये और नारेबाजी की।

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.