वांटेड ईनामी बदमाशों पर एसटीएफ का स्ट्राइक

Updated Date: Mon, 21 Dec 2020 07:40 AM (IST)

- 2020 में एसटीएफ ने 9 शातिर बदमाशों को दबोचा, 3 शातिर बीते 7 दिनों में किए गए अरेस्ट

- अपहरण व लूट की घटना में 9 साल से वांटेड चल रहा पश्चिमी यूपी के मेरठ के शातिर बदमाश गुरमीत को दबोचा

देहरादून,

वांटेड ईनामी बदमाशों के खिलाफ एसटीएफ का स्ट्राइक जारी है। इस वर्ष एसटीएफ की टीम ने 9 शातिर बदमाशों को दबोचा है। जिसमें से 3 शातिर बदमाश बीते 7 दिनों में जेल की सलाखों के पीछे पहुंचाए गए हैं। संडे को एसटीएफ की टीम ने अपहरण व लूट की घटना में 9 साल से वांटेड चल रहे वेस्ट यूपी के मेरठ के शातिर बदमाश गुरमीत को भी अरेस्ट कर लिया है। गुरमीत यूएसनगर के थाना पंतनगर का 5 हजार रुपए का ईनामी बदमाश है जो वर्ष 2011 में एक नामी बिजनेसमैन के अपहरण व लूट की घटना में शामिल था। वारदात को अंजाम देने के बाद वह नेपाल भाग गया था, लेकिन पिछले कई दिनों से एसटीएफ को शातिर बदमाश के मेरठ में फिर से किसी वारदात को अंजाम देने की सूचना मिल रही थी, पुलिस और एसटीएफ की टीम ने सैटरडे देर रात शातिर बदमाश को पंतनगर थाना इलाके से दबोच लिया।

पहचान बदल कर रह रहा था शातिर

एसटीएफ के एसएसपी अजय सिंह ने बताया कि एसटीएफ को सूचना मिली कि पश्चिमी यूपी के मेरठ का बदमाश गुरमीत सिंह किसी बड़ी वारदात को अंजाम देने की फिराक में है। सूचना पर तत्काल एक टीम मेरठ भेजी गयी जहां टीम को जानकारी मिली कि शातिर बदमाश कुछ दिन पूर्व ही एक गैंग बनाकर वारदात को अंजाम देने यूएसनगर और नैनीताल उत्तराखंड की तरफ गया है। जिस पर एसटीएफ की कुमाऊंयूनिट को अलर्ट कर पुलिस और एसटीएफ की ज्वाइंट टीम बनाई गई। टीम को सूचना मिली कि बदमाश हाल ही में मेरठ से किसी वारदात को अंजाम देने के लिये सितारगंज क्षेत्र मे फर्जी आईडी बनाकर रह रहा था। जिसे सैटरडे देर रात एसटीएफ व पुलिस की ज्वांइट टीम ने अरेस्ट कर लिया। बदमाश गुरमीत पर थाना नानकमत्ता में एनडीपीएस व नेपाल व यूपी में कई केस रजिस्टर हैं।

लूट की कार से भागा था नेपाल

शातिर बदमाश गुरमीत द्वारा वर्ष 2011 अप्रैल माह में अपने दो साथियों के साथ मिलकर रुद्रपुर के फाइव स्टार होटल रेडिशन के जीएम को रुद्रपुर स्थित सुपर मार्केट के सामने से हथियारों की नोक पर उनकी होंडा सिटी कार सहित अपहरण किया गया था, इसके बाद जीएम को बांधकर गन्ने के खेत में डालकर उनके मोबाइल, 50 हजार की नकदी भी ले उड़ा था। अपहरण और लूट की घटना में शामिल दो बदमाशों को पुलिस टीम द्वारा पहले ही अरेस्ट किया जा चुका है। वांटेड गुरमीत सिंह लूटी गयी होंडा सिटी कार के साथ नेपाल भाग गया था। जो कि करीब 9 वर्षों तक फरार रहा। जिसके खिलाफ नेपाल में भी केस रजिस्टर है, साथ ही नेपाल में भी जेल में रहा था और पुलिस से बचने के लिये समय-समय पर नेपाल में शरण लेता रहा है।

173 ईनामी बदमाश लिस्टेड हैं स्टेट में

बीते सालों में फ्रॉड, चोरी, लूट, मर्डर आदि मामलों में वांटेड चल रहे शातिर बदमाशों के खिलाफ एसटीएफ की टीम कैंपेन चलाकर दबिश देने में जुटी है। उत्तराखंड स्टेट बनने के बाद 173 ईनामी बदमाश लिस्टेड हैं। एसटीएफ की टीम ने वर्ष 2020 में 9 शातिर ईनामी बदमाशों को अरेस्ट किया है। जिनमें से 3 बीते 7 दिनों में जेल की सलाखों के पीछे पहुंचाए जा चुके हैं।

------------------------------------------

बीते कई सालों से फ्रॉड, चोरी, लूट आदि गंभीर मामलों में फरार चल रहे वांटेड बदमाशों के खिलाफ कैंपेन चलाकर कार्रवाई की जा रही है। इसमें सभी जिलों की टीमों के साथ समन्वय बनाकर एक्शन लिया जा रहा है।

अजय सिंह, एसएसपी, एसटीएफ

दून पुलिस ने भी बिहार से दबोचे 2 इनामी बदमाश

दून पुलिस ने ढाई-ढाई हजार के दो इनामी बदमाशों को गोपालगंज बिहार से दबोचा है। दोनों शातिर बदमाश देहरादून के चार थानों से चोरी के मामलों में वांटेड चल रहे थे। 7 जुलाई 2020 को थाना रायपुर में मयंक शर्मा द्वारा तहरीर दी गयी की अज्ञात चोरो द्वारा उनके के घर से एलईडी टीवी ज्वैलरी व नगद चोरी की गई है। पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ केस रजिस्टर कर जांच शुरू की जिसके आधार पर 8 जुलाई को एक आरोपी शिवा कुमार को अरेस्ट किया। शिवा कुमार ने बताया कि उसके साथ अरुण साहनी उर्फ थापा , लक्ष्मण साहनी उर्फ पकोडी निवासी ग्राम टिसडी थाना बांसवाडा जिला दरभंगा बिहार चोरी की वारदात में शामिल थे। जो कि फरार चल रहे थे। इन दोनों पर 2500-2500 रुपये का ईनाम घोषित किया गया था। रायपुर पुलिस द्वारा बिगत 6 माह से वांटेड व फरार चल रहे लक्ष्मण साहनी उर्फ पकौड़ी व अरुण साहनी उर्फ थापा को गोपालगंज बिहार बॉर्डर से अरेस्ट किया गया। लक्ष्मण उर्फ पकौडी पर राजपुर, बसंत विहार और कोतवाली में 8 केस रजिस्टर हैं, जबकि अरूण साहनी उर्फ थापा पर प्रेमनगर, राजपुर और रायपुर में 4 केस रजिस्टर हैं।

जान पर खेल गया घायल कांस्टेबल

एसपी सिटी श्वेता चौबे ने बताया कि दोनों बदमाशों को पुलिस टीम द्वारा टेक्सी हायर कर देहरादून लाते समय देर रात करीब ढाई बजे बरेली मुरादाबाद मिनी बायपास रोड पर घना कोहरा होने के कारण गाड़ी का एक्सीडेंट हो गया। जिसमें ड्राइवर को भी चोट आई, और कांस्टेबल पदम गंम्भीर घायल हो गया है, जबकि सुमेर के सीने में चोट लगी। एक्सीडेंट होने पर शातिर अपराधियो के भागने की संभावना को देखते ही सुमेर सिंह द्वारा दोनों बदमाशों को हथकड़ी के रस्से को अपने शरीर से लपेट कर करीब आधे घंटे तक स्थानीय पुलिस का इंतजार किया गया। थाना इज्जतनगर बरेली पुलिस टीम की मदद से सभी को अस्पताल ले जाया गया जहां पर सभी का प्राथमिक उपचार किया गया। कांस्टेबल पदम् को अधिक चोट आने के कारण उन्हें एम्बुलेंस में देहरादून लाया गया। कांस्टेबल ने अपनी जान की परवाह किए बिना ही विषम परिस्थितियों में बदमाशों को पकड़ कर रखा। जिसकी सीनियर अफसरों द्वारा सराहना की गई है।

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.