आधा काम, पूरा दाम

Updated Date: Thu, 18 Feb 2021 08:28 AM (IST)

- टोल बैरियर पर काम अभी अधूरे, लेकिन टोल वसूली की जल्दी

- थर्सडे सुबह 11 बजे के बाद बिना टोल टैक्स नहीं कर पाएंगे बैरियर पार

देहरादून

थर्सडे से फोर व्हीलर वालों को दून आना महंगा पड़ेगा। डोईवाला के पास बने टोल प्लाजा के सभी बैरियर सुबह ठीक 11 बजे गिर जाएंगे और टोल टैक्स देने के बाद ही खुलेंगे। दून से बाहर जाना भी अब फ्री नहीं होगा। इसके लिए भी टोल टैक्स चुकता करना पड़ेगा। हालांकि, 20 किमी रेडियस वालों को मंथली पास की फैसिलिटी दी जाएगी, इससे उन्हें मामूली टैक्स देना होगा। वेडनसडे शाम को टोल वसूलने वाली कंपनी ने टोल प्लाजा को अपने कंट्रोल में ले लिया है।

अधूरी तैयारियों के बीच टोल वसूली

टैक्सेशन शुरू होने से पहले वेडनसडे को दैनिक जागरण आई नेक्स्ट की टीम ने टोल प्लाजा का रियलिटी चेक किया तो यहां कई कमियां नजर आईं। अब तक लेन काउंटर्स पर प्रॉपर तरीके से लाइट नहीं लग पाई हैं और न ही रेट लिस्ट। कंट्रोल रूम भी अस्त-व्यस्त नजर आया। बताया गया कि टोल वसूलने वाली कंपनी के लोग वेडनसडे को ही यहां पहुंचे हैं और फिलहाल बैंक संबंधी काम निपटाने गये हुए हैं। सड़क पर अब तक मार्किंग का काम भी पूरा नहीं हो पाया था। हालांकि टोल प्लाजा बनाने वाली एजेंसी के कर्मचारियों ने दावा किया कि रात तक सारे काम निपटा दिए जाएंगे।

हरिद्वार-ऋषिकेश सबसे महंगा सफर

ऋषिकेश और हरिद्वार से दून के बीच सफर काफी महंगा होने जा रहा है। टोल बैरियर पर केवल 20 किमी के दायरे में रहने वालों को ही टैक्स से कुछ छूट मिल पाएगी, वह भी तब जबकि वे मंथली पास बनवाएंगे। देहरादून से आधे से ज्यादा हिस्से में रहने वालों के अलावा ऋषिकेश और हरिद्वार वालों को भी इस छूट का लाभ नहीं मिल पाएगा।

किसको कितना महंगा पड़ेगा

20 किमी रेडियस से बाहर

यदि आप अपनी कार से देहरादून आ रहे हैं या देहरादून से बाहर जा रहे हैं और आपका परमानेंट एड्रेस इस टोल प्लाजा से 20 किमी से ज्यादा दूर है तो आपको एक तरफ जाने के 85 रुपये देने होंगे।

यदि आप जाने के 24 घंटे के भीतर वापस आ जाते हैं तो 125 रुपये में काम हो जाएगा। यदि 24 घंटे से ज्यादा समय वापसी में लगता है तो कुल मिलाकर 170 रुपये देने होंगे।

20 किमी से ज्यादा दूरी वालों के लिए मंथली पास की व्यवस्था है, इसके लिए आपको 2765 रुपये देने होंगे।

20 किमी रेडियस में

यदि आपका परमानेंट एड्रेस टोल प्लाजा से 20 किमी के दायरे में है और नियमित रूप से इस टोल से आते-जाते हैं तो 275 रुपये में मंथली पास बन जाएगा।

यह एक महीने तक वैलिड होगा, लेकिन 50 बार ही टोल प्लाजा पार किया जा सकता है, इसके बाद पास रिन्यू करना होगा।

सरकारी व प्राइवेट बस

सभी रोडवेज और प्राइवेट बसेज को भी एक तरफ के 280 रुपये टैक्स देना होगा। 24 घंटे के भीतर वापसी पर 200 रुपये और मंथली पास के लिए बसेज को 4466 रुपये खर्च करने होंगे।

दून के कॉमर्शियल व्हीकल्स को छूट

देहरादून में रजिस्टर्ड सभी तरह के कॉमर्शियल व्हीकल्स को टोल टैक्स में कुछ छूट दी गई है, बशर्ते कि वे नेशनल परमिट पर न चल रहे हों।

कार-वैन, जीप जैसे कॉमर्शियल व्हीकल्स का एक तरफ का टोल टैक्स 40 रुपये देना होगा, जबकि छोटे कॉमर्शियल व्हीकल्स को 65 रुपये, बस या छोटे ट्रक को 140 रुपये एक तरफ के देने होंगे।

मैक्सिमम टोल 535 रुपये

इस टोल प्लाजा पर मैक्सिमम टोल टैक्स 535 रुपये होगा, जो 14 टायर तक के ट्रक से वसूला जाएगा। 24 घंटे के भीतर वापसी पर इनसे 805 रुपये लिये जाएंगे। कंस्ट्रक्शन में काम आने वाली भारी मशीनों आदि से एक तरफ के लिए 440 रुपये और 24 घंटे के भीतर वापसी पर 660 रुपये देने होंगे।

क्या हैं तैयारियां

टोल प्लाजा बनाने वाली एटलस कंपनी, टोल टैक्स वसूलने वाली रिद्धि-सिद्धि और नेशनल हाईवे अथॉरिटी के अपनी-अपनी तरफ से सभी तैयारियां पूरी हो जाने का दावा किया है। लेकिन मौके पर अभी कई काम अधूरे हैं। बिजली की लाइनें देर शाम तक दुरुस्त की जा रही थी। सड़क पर मार्किंग भी पूरी नहीं हो पाई थी और टॉयलेट बनने में तो अभी कई और दिन लगने की संभावना है।

रॉन्ग साइड एक्सीडेंट का खतरा

टोल प्लाजा पर सबसे बड़ खतरा डोईवाला सिटी की तरफ से आने वाला ट्रैफिक है, जो प्लाजा पर पहुंचने से पहले करीब आधा किमी रॉन्ग साइड आ रहा है। इससे हर समय एक्सीडेंट का खतरा बना हुआ है। दरअसल लच्छी वाला फ्लाईओवर के एक हिस्से में मरम्मत का काम चल रहा है। इससे डोईवाला सिटी की ओर से आने वाले व्हीकल्स को पुरानी अंडर रेलवे पास वाली रोड से आना पड़ रहा है। ये व्हीकल्स फ्लाई ओवर के छोर में राइट साइड में मेल रोड पर पहुंचते हैं। इसी लेन में दून की तरफ से तेज रफ्तार से आ रहा ट्रैफिक होता है। यहां से करीब आधा किमी टोल प्लाजा तक इस व्हीकल्स को रॉन्ग साइड चलना पड़ता है। यहां कभी भी कोई हादसा हो सकता है।

मंथली पास के लिए डॉक्यूमेंट

- आधार कार्ड या अन्य एड्रेस प्रूफ

- व्हीकल की आरसी।

- ओनर का मोबाइल नंबर।

- ओनर की ई-मेल आईडी।

- नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया की वेबसाइट पर ऑन लाइन पास की सुविधा।

-----

टोल बैरियर पर सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। वाहनों से यह टैक्स 35.650 किमी उस हिस्से के इस्तेमाल के लिए लिया जा रहा है, जिसे हाल के समय में फोर लेन बनाया गया है।

पंकज मौर्य, प्रोजेक्ट डायरेक्टर

नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.