गिरीश कर्नाड का 81 साल की उम्र में निधन लंबे समय से चल रहे थे बीमार

2019-06-10T11:02:50Z

बहुभाषी एक्टर और प्ले राइटर गिरीश कर्नाड का 81 साल की उम्र में निधन हो गया। गिरीश सोमवार को अपने बैंगलुरू वाले घर में अचानक चल बसे

कानपुर। गिरीश कर्नाड ने भारतीय सिनेमा को अपना जीवन सम्रपित कर दिया। उन्होंने बाॅलीवुड में बतौर एक्टर, डायरेक्टर और स्क्रीनराइटर काम किया था। वहीं आज सुबह अचानक उनके निधन की खबर सामने आने से बाॅलीवुड में शोक की लहर दौड़ गई। उनके निधन की जानकारी एएनआई ने अपने ट्विटर हैंडल से दी। एएनआई ने ट्वीट कर उनके निधन की जानकारी देते हुए लिखा, 'गिरीश कर्नाड वेटरन एक्टर, प्ले राइटर और ग्यानपीठ अवार्ड विजेता का सोमवार सुबह निधन हो गया।' खबरों की मानें तो वो काफी लंबे समय से बीमार थे।
ऐसा रहा है फिल्मी करियर

बाॅलीवुड की कई बड़ी फिल्मों में उन्होंने अपनी बेहतरीन अदायगी से लोगों का दिल जीता है। 1975 में रिलीज हुई फिल्म 'निशांत', 1976 में रिलीज हुई 'मंथन', 1977 में 'स्वामी' और 2000 में आई 'पुकार' भी इनमें शामिल है। इसके अलावा लोगों ने उनके अभिनय को सलमान खान स्टारर फिल्म 'टाइगर जिंदा है' और 'एक था टाइगर है' में पसंद किया था।
लगातार 20 दिनों से श्रद्धा कपूर बिता रहीं खानाबदोश जिंदगी, इस वजह से हर दिन होती हैं नई जगह पर
जब कियारा को निशाना बनाया कंगना की बहन ने, तो एक्ट्रेस जम कर बरसीं रंगोली पर
इन अवार्ड्स से नवाजे गए
पिछले चार दशक से गिरीश कर्नाड ने कई भाषाओं की फिल्मों में काम किया था। उनके लिखे हुए इंग्लिस के कई प्ले का अनुवाद हिंदी भाषा में भी किया गया है। गिरीश कर्नाड को पद्म श्री और पद्म भूषण अवाॅर्ड से सम्मानित किया जा चुका है। इसके अलावा गिरीश ने चार बार फिल्म फेयर अवाॅर्ड भी जीता है। इनमें से तीन फिल्म फेयर तो उन्हें बेस्ट डायरेक्ट के लिए मिले थे। वहीं एक फिल्म फेयर उन्हें बेस्ट स्क्रीनप्ले के लिए दिया गया था।



This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.