मौसम की मार हो रहे बीमार

2018-06-12T06:01:11Z

भीषण गर्मी से बुखार-खांसी की गिरफ्त में कई मरीज

50 प्रतिशत मरीज रोजाना वायरल फीवर के पहुंच रहे हैं जिला अस्पताल

Meerut। बढ़ती गर्मी ने लोगों को बेहाल कर दिया है। स्थिति यह है कि उमस भरी गर्मी और बेतरतीब खान-पान की वजह से लोग तेजी से मौसमी बीमारियों की चपेट में आ रहे हैं। मौसमी बीमारियों की चपेट में आकर अस्पतालों में भर्ती होने वाले मरीजों में सबसे ज्यादा संख्या बच्चों की है।

यह है स्थिति

शहर के जिला अस्पताल में इन दिनों सबसे ज्यादा मरीज बुखार और डायरिया के पहुंच रहे हैं। अस्पताल के एसआईसी डॉ। पीके बंसल ने बताया कि मौसम में बदलाव की वजह से वायरल फीवर लोगों को तेजी से चपेट में ले रहा है। अस्पताल में रोजाना करीब 50 प्रतिशत मरीज वायरल फीवर के पहुंच रहे हैं। वहीं मेडिकल कॉलेज में भी आलम यही है। यहां भी गर्मी की वजह से हीट स्ट्रोक, उल्टी, दस्त, वायरल फीवर के सबसे ज्यादा मरीज पहुंच रहे हैं। स्थिति यह है कि अस्पतालों के बच्चा वार्ड व जनरल वार्ड फुल चल रहे हैं।

सोमवार को ओपीडी का हाल

जिला अस्पताल- 1240

डिजिटल रजिस्ट्रेशन- 1140

मैन्यूल रजिस्ट्रेशन- 100

मेडिकल कॉलेज- 3200

शनिवार को हुई ओपीडी

जिला अस्पताल - 1180 लगभग

मेडिकल कॉलेज - 2900 लगभग

मेरी एक साल की बेटी तीन दिन से बुखार से पीडि़त है। उल्टी-दस्त भी चल रहे हैं। गर्मी की वजह से हाल खराब है।

मनीषा

पिछले एक हफ्ते से उल्टी-दस्त चल रहे हैं। मौसम की वजह से ज्यादा हालत खराब है।

प्रदीप

बहुत बुरा हाल है। बुखार के साथ उल्टी हो रही है। तीन दिन से यही स्थिति बनी हुई है।

रेहाना

उमस भरी गर्मी और खाने में लापरवाही की वजह से उल्टी-दस्त का प्रकोप बच्चों में काफी ज्यादा दिख रहा है। ऐसे में बच्चों को ओआरएस का घोल जरूर पिलाएं।

डॉ। नवरत्न गुप्त, पीडियॉट्रिक, मेडिकल कॉलेज


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.