कैंट की होगी किलेबंदी

2018-10-19T06:00:31Z

10 फीट ऊंची फेंसिंग से कवर होगा मेरठ कैंट का ए-वन लैंड एरिया

रक्षा मंत्रालय के आदेश पर दिसंबर तक पूरा करनी होगी 40 किमी की फेंसिंग

Meerut। पीओके बॉर्डर की तर्ज पर रक्षा मंत्रालय मेरठ कैंट की फेंसिंग करा रहा है। आर्मी एरिया में संदिग्धों की घुसपैठ रोकने के लिए रक्षा मंत्रालय ने यह कदम उठाया है। 40 किमी आर्मी एरिया के ए-वन लैंड को 10 फीट ऊंची फेंसिंग से कवर किया जाएगा। फेंसिंग का कार्य दिसंबर 2019 तक पूरा करना है। आर्मी ने ए-वन लैंड पर जमे अतिक्रमणकारियों को खदेड़ने की कार्ययोजना बनाई है। जल्द ही ए-वन लैंड से अतिक्रमण को हटाकर फेंसिंग का कार्य आरंभ होगा।

संवेदनशील है मेरठ कैंट

बॉर्डर की सुरक्षा से लेकर आंतरिक सुरक्षा की रणनीति सब एरिया हेडक्वार्टर में बनती है तो वहीं सुरक्षा के तमाम बड़े फैसले आर्मी यहीं से बैठकर लेती है। ऐसे में मेरठ कैंट हमेशा दुश्मनों के निशाने पर रहता है। पश्चिम सब एरिया कमांड का हेड क्वार्टर होने के चलते मेरठ कैंट देश की संवेदनशील कैंट एरिया में से एक है। पाकिस्तानी इंटेलीजेंस एजेंसी आईएसआई का स्लीपर सेल मोहम्मद एजाज आर्मी हेडक्वार्टर तक पहुंच चुका था तो पूर्व में भी कई बार आतंकियों की कैंट एरिया में चहलकदमी देखी गई है।

40 किमी तक फेंसिंग

जानकारी के मुताबिक मेरठ कैंट की 40 किमी ए-वन लैंड एरिया को फेंसिंग से कवर किया जाएगा। 10 ऊंची कटीले तारों की फेंसिंग के ऊपर गोल कटीले-नुकीले तारों से घेराबंदी की जाएगी। जम्मू-कश्मीर में घुसपैठियों को रोकने के लिए पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर और राजस्थान बॉर्डर पर गत दिनों केंद्र सरकार ने तारों की फेंसिंग शुरू कर दी है। ठीक इसी तर्ज पर मेरठ कैंट में भी फेंसिंग होगी। सुरक्षा कारणों के चलते फेंसिंग में इलेक्ट्रिक करंट को भी दौड़ाया जाएगा। रक्षा मंत्रालय के निर्देश पर दिसंबर 2018 तक मेरठ कैंट की ए-वन लैंड एरिया की फेंसिंग का कार्य पूरा होगा। आर्मी अधिकारियों ने गुरुवार को अतिक्रमणकारियों को खदेड़ने के लिए कार्ययोजना भी बनाई।

तैनात रहेंगे जवान

सुरक्षा के मद्देनजर फेंसिंग पर आर्मी के जवानों की तैनाती होगी तो वहीं बनाए गए गेट्स से ही एंट्री हो सकेगी। ए-वन लैंड एरिया में सिविलियंस का प्रवेश प्रतिबंधित होगा। फेंसिंग के सहारे संदिग्धों पर नजर रखने के लिए वॉच टावर बनाए जाएंगे। पश्चिम सब एरिया कमांड के निर्देशन में आर्मी एरिया की फेंसिंग का कार्य पूरा किया जाएगा।

कैंट एरिया में वारदातें

30 जुलाई, 2018 को एक संदिग्ध व्यक्ति को पकड़ा था।

21 अप्रैल, 2018 को कैंट के पास दो विदेशी महिलाओं को गिरफ्तार किया गया था।

25 जनवरी, 18 को छावनी स्थित डोगरा मंदिर में घुसकर सेना के जवान को गोली मारी गई थी।

7 अप्रैल, 2017 को कैंट एरिया में कुछ संदिग्ध पकड़े गए थे।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.