गोरखपुर के यूथ्स को है सबसे ज्यादा जान का खतरा

2018-12-12T06:00:05Z

- कलेक्ट्रेट के शस्त्र विभाग में मंगलवार से शुरू हुआ शस्त्र लाइसेंस के लिए आवेदन

- पहले दिन आवेदन करने वाले 150 आवेदकों में सबसे ज्यादा है युवाओं की संख्या

GORAKHPUR: शस्त्र लाइसेंस के लिए लंबे समय से इंतजार कर रहे लोगों के लिए इंतजार की घडि़यां समाप्त हो गईं। मंगलवार से शस्त्र विभाग में शस्त्र लाइसेंस के लिए आवेदन प्रक्रिया प्रारंभ कर दी गईं है। आवेदन में हैरान करने वाली बात यह रही कि पहले दिन आए 150 आवेदकों में सबसे ज्यादा युवा हैं। इनके आवेदन में भू-माफियाओं से जान का खतरा बताया गया है। अब इन आवेदकों को जिला प्रशासन के सवालों से गुजरना होगा, जिसके बाद ही उनके आवेदन स्वीकार किए जाएंगे।

11 से शस्त्र आवेदन शुरू

बता दें, पिछले डेढ़ महीने से गोरखपुर जिले में शस्त्र लाइसेंस की आवेदन प्रक्रिया के शुरू होने का लोग इंतजार कर रहे थे। लेकिन विभाग के उदासीनता और वीआईपी मूवमेंट के कारण आवेदन फार्म की छपाई टेंडर प्रक्रिया में विलंब हुआ। इस कारण आवेदन प्रक्रिया प्रारंभ नहीं हो सकी। जब डीएम की अनुमति मिली तो शासन के नए आदेश के मुताबिक, आवेदन फार्म की करीब चार हजार प्रतियों की छपाई हुई। उसके बाद मंगलवार यानी 11 दिसंबर से शस्त्र विभाग में शस्त्र लाइसेंस के लिए आवेदन प्रक्रिया प्रारंभ कर दी गई है। जिसके बाद अभी तक सबसे ज्यादा शस्त्र के लिए आवेदन युवाओं ने किया है। हैरान करने वाली बात ये है कि युवाओं में करीब तीन ऐसे युवा भी हैं जो इंजीनियरिंग के स्टूडेंट्स हैं। इनमें से एक स्टूडेंट रूड़की आईआईटी कॉलेज से बीटेक की पढ़ाई कर रहा है। जो खुद को भू-माफियाओं से खतरा बता रहा है। इसी तरह कुछ युवाओं ने खुद के जान को खतरा बताने के लिए पड़ोसियों से विवाद बताया है।

नहीं है अंतिम तारीख निर्धारित

शस्त्र विभाग में तैनात बड़े बाबू अशोक गुप्ता व राम सिंह बताते हैं कि असलहे के लिए आवेदन प्रक्रिया मंगलवार से प्रारंभ हो चुकी है। सभी वर्ग के लिए 500 रुपए आवेदन फार्म की फीस है। लेकिन आवेदन की अंतिम तिथि के लिए तारीख नहीं निर्धारित की गई है। राम सिंह बताते हैं जिन लोगों ने पहले आवेदन किया है, उन सभी प्रार्थना पत्र व आवेदन पर सिटी मजिस्ट्रेट रिमार्क करेंगे। उसके बाद ही आगे की प्रक्रिया प्रारंभ की जाएगी।

बाक्स में

जिन लोगों ने आवेदन शुरू किया है उन लोगों को किसी भी दशा में आवेदन के दो वर्ष के भीतर असलहे की खरीदारी करनी होगी। अगर असलहे की खरीदारी नहीं होती है तो उसे निरस्त कर दिया जाएगा।

आवेदकों से पूछे जाएंगे ये सवाल

1- आपको असलहे की क्यों जरूरत है?

2- पुलिस प्रशासन के पक्ष में रहने और समाज हित में काम करने के लिए आप राजी हैं या नहीं?

3- अपने लाइसेंसी हथियार से कभी किसी को बचाने का प्रयास करेंगे या नहीं ?

4- क्या नशे में या फिर हर्ष फायरिंग के शौकीन तो नहीं हैं?

5- क्या आपने कभी हर्ष फायरिंग की है या नहीं?

फैक्ट फीगर

आवेदन प्रक्रिया प्रारंभ होने की तिथि - 11 दिसंबर से

आवेदन फार्म की छपाई - 4,000

अब तक के शस्त्र लाइसेंस की संख्या - 21010

आवेदन फार्म का रेट - 500 रुपए

पहले दिन आए आवेदन फार्म की संख्या - 150

वर्जन

शस्त्र लाइसेंस के लिए आवेदन प्रक्रिया प्रारंभ हो गई है। शासन के जो नए आदेश हैं। उसी आदेश को फॉलो करते हुए आवेदनकत्र्ताओं को आवेदन की प्रक्रिया पूरी करनी होगी। जितने भी टेस्ट होंगे उन टेस्ट से भी गुजरना होगा।

अजीत सिंह, सिटी मजिस्ट्रेट


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.