युवराज सिंह ने इंस्टाग्राम पर शेयर की वो पुरानी तस्वीर, जो पहले किसी फैन ने नहीं देखी

2020-05-25T15:29:56Z

पूर्व भारतीय क्रिकेटर युवराज सिंह ने सोशल मीडिया पर एक पुरानी तस्वीर शेयर की। जिसमें वह उस समय के साथी खिलाड़ियों के साथ टेलिफोन बूथ पर बात करते दिखाई दिए।

नई दिल्ली (पीटीआई)। भारत के पूर्व हरफनमौला खिलाड़ी युवराज सिंह ने रविवार को अपने सोशल मीडिया अकाउंट्स पर एक थ्रोबैक तस्वीर शेयर की। जो अपने प्रशंसकों को उन दिनों में वापस ले गई जब मोबाइल फोन नहीं थे। तस्वीर में, वीवीएस लक्ष्मण, वीरेंद्र सहवाग और आशीष नेहरा के साथ युवराज को श्रीलंका दौरे पर सार्वजनिक टेलीफोन पर बात करते हुए देखा जा सकता है। इस तस्वीर के साथ युवी ने बड़ा ही मजेदार कैप्शन लिखा।

युवी की थ्रो बैक तस्वीर

युवी ने लिखा, जब आपकी खराब परफाॅर्मेंस के बाद घरवाले मोबाइल का बिल देने से मना कर दें। खैर युवी का कैप्शन तो मजाकिया है मगर जो तस्वीर उन्होंने अपने फैंस के साथ साझा की। वह काफी यूनिक है। तस्वीर के समय को देखते हुए, यह माना जा सकता है कि यह 2001 में कोका-कोला कप से है जो श्रीलंका में आयोजित किया गया था या 2002 आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी से, जो भी श्रीलंका में ही आयोजित किया गया था।

View this post on InstagramWhen your parents don&यt pay your mobile phone bill after a bad performance 😆! #throwback to days without 📱😇 @rd.nehra @virendersehwag @vvslaxman281

A post shared by Yuvraj Singh (@yuvisofficial) on May 24, 2020 at 9:08am PDT

भज्जी का मजेदार कमेंट

युवराज के पूर्व साथी हरभजन सिंह ने इस तस्वीर पर एक सवाल किया। भज्जी ने पूछा क्या ये फ्री काॅल है। इस पर युवी ने जवाब दिया, 'काॅलिंग काॅर्ड श्रीलंका टू इंडिया, हां जी माता मैं पहुंच गया और आशु शायद यह कह रहा था कि, अबे सुन मैं पहुंच गया, अब मैं मैच के बाद फोन करूंगा चल बाॅय।' इस तस्वीर ने बॉलीवुड के साथ-साथ उनके कई दोस्तों की तारीफों के पुल बांध दिए।

युवी ने बताई थी कोच बनने की इच्छा

2007 और 2011 वर्ल्डकप में भारत की जीत के हीरो रहे युवी को लगता है कि वह मध्य-क्रम की बल्लेबाजी के मानसिक पहलू पर युवाओं से बात कर सकते हैं। कुछ दिनों पहले इंस्टाग्राम लाइव चैट के दौरान उन्होंने कहा था, "मेरे पास सीमित ओवरों की क्रिकेट में अधिक जानकारी है और मैं नंबर 4, 5, 6 पर बल्लेबाजी करने के लिए आने वाले खिलाड़ियों के साथ अपने ज्ञान को साझा कर सकता हूं। मैं शायद एक मेंटर होने के द्वारा शुरू करूँगा और फिर अगर यह अच्छी तरह से हो सकता है तो पूर्णकालिक कोचिंग भी कर सकता हूं।'

Posted By: Abhishek Kumar Tiwari

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.