patna@inext.co.in
PATNA : सोशल मीडिया पर एक्टिव रहने वाले लोग सावधान हो जाएं क्योंकि चुनाव की तारीख घोषित होते ही चुनाव आयोग सख्त हो गया है। फेसबुक और ट्विटर पर भड़काऊ पोस्ट करने वाले जेल जा सकते हैं। इसकी मॉनिटरिंग दिल्ली में बैठकर एलेक्शन कमीशन ऑफ इंडिया अधिकारी कर रहे हैं। इतना ही इस बार लोक सभा में अपनी किस्मत अजमाने वाले उम्मीदवारों को फेसबुक और ट्विटर अकाउंट की पूरी जानकारी देनी होगी। इसके लिए चुनाव आयोग ने इंटरनेट प्रतिनिधियों के साथ बैठक की है। दैनिक जागरण आई नेक्स्ट के इस रिपोर्ट में पढि़ए सोशल मीडिया पर अफवाह फैलाने पर किस तरह होगा कार्रवाई...

न डालें गलत विज्ञापन

चुनाव आयोग के अधिकारियों की मानें तो लोकसभा चुनाव के दौरान राजनीति दल, उम्मीदवार असत्यापित विज्ञापन, रक्षा कर्मियों की तस्वीरें, फेक न्यूज, भड़काऊ पोस्ट सोशल मीडिया पर नहीं डाल सकते हैं। ऐसा करने पर उनकी उम्मीदवारी खतरे में आ सकती है। इसके अलावा राजनीति पार्टी से ताल्लुकात रखने वाले लोग अगर ऐसे पोस्ट सोशल मीडिया पर डालते हैं तो न सिर्फ वह गिरफ्तार होंगे बल्कि जेल भी जा सकते हैं। लोकसभा चुनाव में नामांकन से पूर्व उम्मीदवारों को फेसबुक ट्विटर, गूगल सहित अन्य सोशल मीडिया अकांट्स की गतिविधियों पर नजर चुनाव आयोग रख रही है। उम्मीदवारों को सोशल मीडिया अकाउंट्स की जानकारी लिखित रूप से देनी होगी।

चुनाव आयोग के अधिकारी उम्मीदवारों और राजनीति दलों के सदस्यों के अकाउंट की निगरानी दिल्ली से कर रहे हैं। फेक न्यूज, फर्जी विज्ञापन व रक्षा कर्मियों के फोटो का दुरुपयोग करने पर इनके ऊपर कार्रवाई की जाएगी।
प्रवीण कुमार गुप्ता, संयुक्तमुख्य निर्वाचन पदाधिकारी, बिहार