-पैसेंजर्स से बैग व अन्य लगेज को लगेज बॉक्स में रखने के वसूले जा रहे 10 रुपए एक्सट्रा

-विरोध करने पर झगड़ा करने और बस में नहीं बैठने की देने लगते हैं धमकी

बरेली: रोडवेज की एसी बसों में लगेज के नाम पर पैसेंजर्स से अवैध उगाही का धंधा खूब चल रहा है. लगेज के नाम पर चल रहा अवैध उगाही का यह धंधा अफसरों की भी नॉलेज में है, लेकिन वह भी इस तरफ ध्यान नहीं देते हैं. इसके चलते पैसेंजर्स को किराए के अतिरिक्त भार झेलना पड़ रहा है. यदि पैसेंजर्स इस अवैध उगाही का विरोध करते हैं तो बस पर मौजूद कर्मचारी झगड़ा करने और दूसरी बस से जाने की बात तक कह देता है. इससे परेशान होकर पैसेंजर्स दस रुपए प्रति लगेज के नाम पर दे रहे हैं.

अवैध रूप से रख लिया कर्मचारी

रोडवेज की शताब्दी, जनरथ व अन्य एसी बसों में कंडेक्टर और ड्राइवर के अलावा एक अतिरिक्त कर्मचारी को रख लिया है जो पैसेंजर्स को बस में बैठाते समय लगेज को लगेज बॉक्स में रखने के लिए अतिरिक्त रुपए की डिमांड करता है. एक बैग के 10 रुपए लेता है. यह अतिरिक्त किराया वसूलने का खेल सिर्फ एसी बसों में ही चल रहा है. जिससे पैसेंजर्स को प्रॉब्लम फेस करनी पड़ रही है. बता दें कि बरेली रीजन की ही 6 जनरथ और 28 शताब्दी बसें संचालित हैं. जबकि करीब दर्जन भर से अधिक बसें दूसरे दूसरे डिस्ट्रिक्ट से भी बरेली से होकर गुजरती है. इन सभी बसों में अवैध उगाही का धंधा जोरों पर चल रहा है.

====================

-रोडवेज की एसी बसों में एक बड़ा बैग भी साथ में ले जाना मुश्किल है. पैसेंजर्स से हो रही अवैध उगाही पर कोई रोकथाम नहीं कर रहा है. ऐसे में पैसेंजर्स को प्रॉब्लम होती है.

रजत

-------------------

-बसों में पैसेंजर्स से अवैध रूप से उगाही हो रही है. इस पर रोडवेज के अधिकारियों को रोक लगानी चाहिए, क्योंकि टिकट लेते समय पैसेंजर्स को तो यह बात नहीं बताई जाती है.

शुभम