prayagraj@inext.co.in
PRAYAGRAJ: कानपुर के जिस वेंडर ने देश की पहली सेमी हाईस्पीड ट्रेन 'वंदे भारत' एक्सप्रेस में पैसेंजर्स को घटिया और बासी खाना सर्व किया था, आईआरसीटीसी ने एक बार फिर उसी वेंडर को डिनर का कांट्रैक्ट दे दिया है. यही नहीं डिनर के साथ ही अब लंच का कांट्रैक्ट भी उसी होटल के साथ किया गया है. जबकि अभी तक नई दिल्ली से वाराणसी आने वाली ट्रेन के पैसेंजर्स को प्रयागराज में लंच दिया जाता था.

कम्प्लेन के बावजूद
आए दिन लापरवाहियों की वजह से आलोचना झेलने वाली भारतीय रेलवे की एक और करतूत सामने आई है. रेलवे ने देश की सबसे तेज रफ्तार ट्रेन वंदे भारत एक्सप्रेस में खाना सप्लाई करने का टेंडर फिर उसी वेंडर को दे दिया, जिसने हाल ही में पैसेंजर्स को बासी खाना परोसा था. इसकी कम्प्लेन ट्रेन में सफर कर रहे कई पैसेंजर्स के साथ ही खुद केंद्रीय मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति ने भी की थी. बाद में इस मामले में कानपुर के वेंडर पर 50,000 रुपए का जुर्माना लगाया गया.

वंदे भारत एक्सप्रेस में पैसेंजर्स को सबसे बेहतर सुविधाएं दी जा रही हैं. भोजन की क्वालिटी पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है. पैसेंजर्स की कम्प्लेन को गंभीरता से लेते हुए निर्णय लिए गए हैं.
-अमित मालवीय पीआरओ, एनसीआर

Posted By: Vijay Pandey