कानपुर। महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव 2019 के नतीजे घोषित हो गए हैं। नागपुर साउथ वेस्ट से चुनाव लड़े देवेंद्र फड़नवीस निर्णायक बढ़त पर हैं। वह अपने प्रतिद्वंदी कांग्रेसी नेता गिरिश पांडव से 39454 वोटों से आगे हैं।

कौन हैं देवेंद्र फड़नवीस

महाराष्ट्र में बीजेपी के बड़े नेताओं में गिने जाने वाले देवेंद्र फड़नवीस का जन्म 22 जुलाई 1970 को नागपुर में हुआ। देवेंद्र के पिता गंगाधर फड़नवीस भी राजनीति से जुड़े थे। गंगाधर नागपुर से एमएलसी थे। उनके निधन के बाद देवेंद्र ने राजनीति में कदम रखा और बीजेपी के बड़े नेता के रूप में अपनी पहचान बनाई।

maharashtra assembly election results 2019: माॅडल से राजनेता बने देवेंद्र फड़नवीस के बारे में यह बाते नहीं जानते होंगे आप

माॅडलिंग से शुरु किया करियर

राजनीति में कदम रखने से पहले देवेंद्र माॅडलिंग किया करते थे। साल 2006 की बात है देवेंद्र फड़नवीस ने अपने गृहनगर नागपुर में एक परिधान की दुकान के लिए मॉडलिंग की थी और विज्ञापन की दुनिया में काफी सफलता पाई। उन्होंने अपने बचपन के दोस्त और फोटोग्राफर विवेक रानाडे के अनुरोध पर मॉडलिंग की थी।

maharashtra assembly election results 2019: माॅडल से राजनेता बने देवेंद्र फड़नवीस के बारे में यह बाते नहीं जानते होंगे आप

पढ़े-लिखे नेताओं में होती है गिनती

देवेंद्र फड़नवीस के पास लॉ कॉलेज नागपुर से पांच साल की कानून की डिग्री है, लेकिन वे कानून का अभ्यास नहीं करते हैं। इसके अलावा, उनके पास एक बिजनेस मैनेजमेंट की डिग्री और जर्मन फाउंडेशन फॉर इंटरनेशनल डेवलपमेंट, बर्लिन (अत्यधिक बौद्धिक) से प्रोजेक्ट मैनेजमेंट डिप्लोमा भी है।

maharashtra assembly election results 2019: माॅडल से राजनेता बने देवेंद्र फड़नवीस के बारे में यह बाते नहीं जानते होंगे आप

इंदिरा गांधी स्कूल में पढ़ने से किया इंकार

आपको जानकर हैरानी होगी कि एक छात्र के रूप में देवेंद्र फड़नवीस ने स्थानीय इंदिरा कॉन्वेंट स्कूल में पढ़ने से इनकार कर दिया। क्योंकि उनके पिता गंगाधर फड़नवीस 1975 से 1977 तक इंदिरा गांधी की भारत में आपातकाल के दौरान जेल गए थे। इसके बजाय, उन्होंने आरएसएस के सरस्वती विद्यालय में अपनी शिक्षा को आगे बढ़ाने का विकल्प चुना, जहाँ उन्होंने अपनी अधिकांश स्कूली शिक्षा की।

maharashtra assembly election results 2019: माॅडल से राजनेता बने देवेंद्र फड़नवीस के बारे में यह बाते नहीं जानते होंगे आप

नागपुर के सबसे युवा मेयर

21 वर्ष की आयु में, देवेंद्र फड़नवीस को नागपुर महानगर पालिका का नगरसेवक नियुक्त किया गया और साथ ही साथ उन्होंने लगातार दो कार्यकाल पूरे किए। देवेंद्र को 1997 में नागपुर का मेयर भी चुना गया था जब वह सिर्फ 27 वर्ष के थे। फिर से, उन्होंने दो कार्यकाल पूरे किए लेकिन इस बार महापौर ने राज्य के इतिहास में अपना नाम लिख दिया क्योंकि यह एक ऐसा कारनामा था जिसे कोई भी राजनेता राज्य की राजनीति में हासिल नहीं कर पाया था।

maharashtra assembly election results 2019: माॅडल से राजनेता बने देवेंद्र फड़नवीस के बारे में यह बाते नहीं जानते होंगे आप

दूसरे युवा मुख्यमंत्री

देवेंद्र फड़नवीस 44 वर्ष की आयु में राज्य के दूसरे सबसे युवा मुख्यमंत्री बने जब उन्होंने 31 अक्टूबर 2014 को महाराष्ट्र के सीएम के रूप में शपथ ली। शरद पवार 38 वर्ष की आयु में सबसे कम उम्र के मुख्यमंत्री थे। 2014 विधानसभा चुनाव में बीजेपी बिना किसी मुख्यमंत्री के चेहरे के साथ उतरी थी। मगर जब भाजपा को जीत मिली तो पार्टी ने देवेंद्र फड़नवीस को सीएम की कुर्सी पर बिठा दिया। फड़नवीस ने पिछले पांच सालों में कई उतार-चढ़ाव देखे। शिवसेना से खटास के बावजूद वह उद्वव ठाकरे को अपने साथ जोड़े रहे। वहीं विपक्षी खेमे के कई बड़े चेहरों को बीजेपी में शामिल करवाया।

maharashtra assembly election results 2019: माॅडल से राजनेता बने देवेंद्र फड़नवीस के बारे में यह बाते नहीं जानते होंगे आप

अच्छे सांसद के लिए मिला पुरस्कार

एक राजनेता के रूप में बेहतरीन काम के लिए देवेंद्र फड़नवीस को 2002-03 में राष्ट्रमंडल संसदीय संघ द्वारा सांसद पुरस्कार दिया गया। उन्हें वर्ष 2016 के लिए विदर्भ के लिए उत्कृष्ट कार्य के लिए प्रतिष्ठित नाग भूषण पुरस्कार से भी सम्मानित किया गया।

maharashtra assembly election results 2019: माॅडल से राजनेता बने देवेंद्र फड़नवीस के बारे में यह बाते नहीं जानते होंगे आप

लिखी है तीन किताबें

देवेन्द्र फडणवीस ने राइटिंग में भी हाथ आजमाया है। उनकी किताब 'स्टेट बजट को कैसे समझें और पढ़ें", उनकी तीन पुस्तकों में से एक, जो सभी मराठी में लिखी गई है, उनकी बुद्धि और राजनीतिक कौशल को इंगित करती है कि उनके पास एक राजनीतिज्ञ और मजबूत दूरदर्शी के रूप में है।

2006 में रचाई थी शादी

देवेंद्र ने अमृता रानाडे से 2006 में शादी की थी और इनकी पांच साल की बेटी दिविजा फड़नवीस है। देवेंद्र फडणवीस और उनकी पत्नी अमृता फड़नवीस ने हाल ही में 'मुंबई रिवर एंथम' नामक टी-सीरीज द्वारा जारी एक संगीत वीडियो जारी किया था। इसको लेकर विवाद भी हुआ क्योंकि यह कहा जाता है कि मुख्यमंत्री, पुलिस आयुक्त और नगरपालिका आयुक्त को अमृता फड़नवीस के गायन करियर को बढ़ावा देने के लिए सहारा के रूप में इस्तेमाल किया गया था। संदेह यह भी उठाया गया कि अमृता फड़नवीस को संगीत वीडियो के लिए एक सेट के रूप में सरकारी बंगले वर्षा के उपयोग की अनुमति कैसे दी जा सकती है।

Posted By: Abhishek Kumar Tiwari