नई दिल्ली (एएनआई)। महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस ने शुक्रवार को नासिक सेंट्रल से हमलता निनाद पाटिल और शिरडी से सुरेश जगन्नाथ थोरात की उम्मीदवारी को मंजूरी दे दी है। इस बार कांग्रेस एनसीपी के साथ गठबंधन में चुनाव लड़ेगी। दोनों पार्टी 288 सदस्यीय विधानसभा में 125-125 सीटों पर चुनाव लड़ेंगी और इसके सहयोगी दल बाकी के 38 सीटों पर अपने उम्मीदवार खड़े करेंगे। महाराष्ट्र में 21 अक्टूबर को मतदान होगा और मतगणना के नतीजे 24 अक्टूबर को आएंगे। वहीं, कांग्रेस को महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव से पहले ही बड़ा झटका लग गया है।

सत्यजीत देशमुख हैं कांग्रेस का खास चेहरा
दरअसल, महाराष्ट्र कांग्रेस महासचिव सत्यजीत देशमुख अब भाजपा में शामिल हो गए हैं। उन्होंने कुछ दिनों पहले एएनआई को बताया, 'मैं आज बीजेपी में शामिल नहीं हो रहा हूं, लेकिन मैं इस पर सकारात्मक रूप से विचार कर रहा हूं। इस पर कोई भी फैसला सांगली में मेरे वरिष्ठ सहयोगियों के साथ विचार-विमर्श के बाद लिया जाएगा।' संभावित बदलाव की रिपोर्टों को स्वीकार करते हुए उन्होंने संकेत दिया कि वह अपनी पार्टी से खुश नहीं हैं। उन्होंने कहा, 'मुझे विकल्पों की तलाश करनी है क्योंकि अगर मैं अपने समर्थकों के लिए कुछ नहीं कर सकता, तो यहां रहने का कोई मतलब नहीं है। लेकिन फिर भी मैं अपने लोगों के साथ उचित चर्चा के बाद निर्णय लूंगा।' बता दें सत्यजीत देशमुख पूर्व एमपीसीसी अध्यक्ष और महाराष्ट्र विधान परिषद के अध्यक्ष स्वर्गीय शिवाजीराव देशमुख के पुत्र हैं। देशमुख परिवार का सांगली जिले में खासा असर है। सत्यजीत देशमुख को एमपीसीसी के प्रमुख युवा चेहरों में से एक माना जाता है।

Posted By: Mukul Kumar