कोलकाता (पीटीआई)। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी द्वारा अस्पतालों में सुरक्षा बढ़ाने के कदमों की घोषणा के बाद पश्चिम बंगाल में डॉक्टरों ने सोमवार को अपनी हड़ताल खत्म करने पर सहमति व्यक्त की है। राज्य सचिवालय में हड़ताली डॉक्टरों के प्रतिनिधियों के साथ एक बैठक में बनर्जी ने हड़ताल को खत्म करने का अनुरोध किया। डॉक्टरों के एक प्रतिनिधि ने कहा, 'हम बातचीत से संतुष्ट हैं और बनर्जी को इस बात का आश्वासन दिया है कि हम अब हड़ताल खत्म कर देंगे।' बता दें कि पश्चिम बंगाल में जूनियर डॉक्टरों के साथ मारपीट के मामले में सातवें दिन भी हड़ताल जारी रहा। इससे मरीजों में हाहाकार था। हालाल बिगड़ते जा रहे थे क्योंकि इन डाॅक्टरों के समर्थन में देश भर के डाॅक्टर्स हड़ताल पर हैं। खास बात तो यह है कि ममता बनर्जी बैठक की लाइव कवरेज की मांग पर भी सहमत हो गई हैं। शनिवार को भी ममता ने डाॅक्टर्स को मीटिंग के लिए बुलाया था लेकिन डाॅक्टर्स तैयार नहीं हुए थे।

आज हड़ताल में उतरे ये डाॅक्टरों के संगठन
हाल ही में कोलकाता के एनआरएस मेडिकल कॉलेज में जूनियर डॉक्टरों के साथ मारपीट की घटना हुई थी। बंगाल में जूनियर डॉक्टरों के साथ मारपीट के बाद से डाॅक्टरों में गुस्सा व्याप्त है। यह मामला दिनों-दिन बढ़ता ही जा रहा है। ऐसे में आज डॉक्टरों के सबसे बड़े संगठन इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने देशव्यापी हड़ताल की है। दिल्ली एम्स व देश भर के दूसरे अस्पतालाें के डाॅक्टर व डाॅक्टर संगठन भी इस हड़ताल में शामिल हैं। दिल्ली मेडिकल एसोसिएशन (डीएमए) और फेडरेशन ऑफ रेजिडेंट डॉक्टर्स एसोसिएशन (FORDA) ने भी हड़ताल को समर्थन दिया है।
Doctors Strike : AIIMS समेत देश भर में डाॅक्टर्स हड़ताल पर, ओपीडी सेवाएं ठप
ममता बनर्जी को दिया था 48 घंटे का अल्टीमेटम

हाल ही में कोलकाता के एनआरएस मेडिकल कॉलेज में एक मरीज के परिजनों द्वारा कथित रूप से दो जूनियर डॉक्टरों की पिटाई कर दी गई थी। इसके बाद से पश्चिम बंगाल में  11 जून से जूनियर डॉक्टर हड़ताल पर हैं। वहीं न्यूज एजेंसी आईएएनएस के मुताबिक आरडीए के सदस्यों ने 15 जून को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को उनके राज्य में विरोध प्रदर्शन कर रहे डॉक्टरों की मांगों को पूरा करने के लिए 48 घंटे का अल्टीमेटम दिया है। उन्होंने कहा कि इस दिए गए समय में डाॅक्टरों की मांग नहीं पूरी की जाती है तो उन्हें 17 जून से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने के लिए मजबूर होना पड़ेगा।

National News inextlive from India News Desk