-मांझी बोले, सीएम नीतीश कुमार ने मुसहर-भुइयां को दिया समान दर्जा

PATNA: एसकेएम हॉल उस समय तालियों से गूंज उठा जब एक्स सीएम सह ¨हदुस्तानी आवाम मोर्चा के प्रमुख जीतन राम मांझी ने ढोल पर थाप मारी। अवसर था मुसहर-भुइयां सेवा संघ की ओर से आयोजित सम्मेलन का। सम्मेलन में पश्चिम बंगाल, झारखंड, उत्तर प्रदेश और दिल्ली समेत नेपाल, भूटान और बंगलादेश के प्रतिनिधियों ने भी पार्टिसिपेट किया। संतोष कुमार सुमन, रामचन्द्र राउत, सुखेश्वर समेत काफी संख्या में लोग मौजूद थे। संचालन सेवा संघ के सचिव मुकेश मांझी ने किया। मांझी ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की सराहना करते हुए कहा है कि नीतीश कुमार के शासनकाल में ही मुसहर-भुइयां को समान जाति का दर्जा प्राप्त हो पाया। उन्होंने पर्वत पुरूष दशरथ मांझी के लिए भारत रत्‍‌न की मांग की है। उन्होंने कहा कि जब तक समान शिक्षा प्रणाली लागू नहीं होगी तब तक मुसहर-भुइयां का विकास नहीं होगा।

अवेयर होना जरूरी

जब राजनीतिक दल उनसे वोट की मांगने आएं तो समाज के लोग समान शिक्षा प्रणाली लागू करने की मांग करें। उन्होंने कहा बिहार में मुसहर भुइयां की आबादी सर्वाधिक है पर मतदाता सूची में उनके नाम नहीं। इसके लिए जागरूकता अभियान चलाया जाना चाहिए। ऐसा नहीं करने से एनआरसी में भी उनका नाम अंकित हो सकता है और उन्हें भगोड़ा साबित किया जा सकता है।

Posted By: Inextlive

inext banner
inext banner