-पहली बरसात भी नहीं झेल पाया नगर निगम, अधिकतर एरिया में जलजमाव ने किया परेशान

बादलों ने तो रविवार को शहर वासियों को गर्मी से निजात दिला दी लेकिन नगर निगम की आधी अधूरी व्यवस्थाओं ने हलकान कर दिया. हल्की बारिश में ही निगम की सारी कलई खुल गई. जगह-जगह जलजमाव और कीचड़ ने राहगीरों की परेशानियां बढ़ा दी है. प्रचंड गर्मी और तेज धूप से बिलबिलाए लोगों के लिए आसमान से गिरी राहत की बूंदें जितनी चेहरे पर मुस्कान लाई, उतनी ही नाराजगी लोगों की नगर निगम से भी रही. रविंद्रपुरी, सिगरा, महमूरगंज, अंधरापुल, कैंट आदि इलाकों में हल्की बारिश से हुए जलजमाव से लोगों को काफी फजीहत उठानी पड़ी.

अंधरापुल में कमर भर पानी

दोपहर बाद हुई झमाझम बरसात से शहर के कई इलाकों में नारकीय स्थिति हो गई. रविंद्रपुरी में तो सिल्ट निकाल सड़क पर छोड़ा गया था, जिससे इलाके में फिसलन जैसी स्थिति हो गई थी. कई बाइक सवार फिसलते हुए बचे. कैंट रोडवेज और रेलवे स्टेशन एरिया में भी यही हालात रहे. अंधरापुल पर तो कमर भर पानी लग गया था, जिससे कुछ देर के लिए ट्रैफिक व्यवस्था भी चरमरा गई थी. कमोबेश यही हाल चौकाघाट पर भी देखने को मिला. कई इलाकों में तो सड़क भी धंस गई. महमूरगंज और ककरमत्ता में सड़कों के धंसने की कई तस्वीरें सोशल मीडिया पर भी सामने आई.

पहली बरसात भी पूरी तरह से नहीं हुई और नगर निगम इतने में ही फेल हो गया. अधिकतर कालोनियों में सीवर ओवरफ्लो हुआ. लहरतारा मोड़ के पास जलजमाव था.

काजल मुखर्जी, लहरतारा

नगर निगम की तैयारी पहली बरसात में ही धुल गई. अंधरापुल में तो कमर इतना पानी लगा हुआ था. जबकि बारिश भी उतनी मूसलाधार नहीं हुई थी.

ऋषभ सिंह, तेलियाबाग

सिगरा-महमूरगंज मार्ग पर तो स्थिति एकदम नारकीय रही. जितनी राहत बारिश की बूंदों से मिली उतनी ही आफत नगर निगम की दु‌र्व्यवस्थाओं से हुई.

पवन कुमार, सिगरा

जलजमाव नहीं हो इसके लिए निगम पूरी तरह से प्रयासरत है. कुछ जगहों पर खोदाई वर्क के चलते भी ऐसा हुआ है. फिर भी पूरी कोशिश है कि पब्लिक को परेशानियों का सामना नहीं करना पड़े.

आशुतोष द्विवेदी, नगर आयुक्त

नगर निगम

Posted By: Inextlive